This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.
OK

न करेंगे बर्बाद पानी और न करने देंगे

जागरण संवाददाता, मैनपुरी : जागरण द्वारा शुरू की गई जल संरक्षण की मुहिम का कारवां बढ़ता चला जा रहा

JagranWed, 11 Apr 2018 10:38 PM (IST)
न करेंगे बर्बाद पानी और न करने देंगे

जागरण संवाददाता, मैनपुरी : जागरण द्वारा शुरू की गई जल संरक्षण की मुहिम का कारवां बढ़ता चला जा रहा है। बुधवार को शहर के अमन इंटरनेशनल स्कूल और बेवर के ज्ञानदीप मॉडल स्कूल के बच्चों ने पानी बचाने का संकल्प लिया। उन्होंने कहा कि न तो वे खुद पानी बर्बाद करेंगे और न दूसरे लोगों को करने देंगे।

शहर के अमन इंटरनेशनल की शिक्षिका लता बाथम ने बच्चों को बताया कि पृथ्वी पर पीने योग्य पानी सीमित मात्रा में ही उपलब्ध है। इसके बाद भी हम पानी की बर्बादी कर रहे हैं। अगर हमने जल संरक्षण के लिए पहल नहीं की तो एक दिन हमारी प्यास बुझाने के लिए पानी नहीं बचेगा। उन्होंने बच्चों को कुछ बातें बताईं, जिनके माध्यम से पानी की बचत की जाती है। उन्होंने बताया कि कभी भी पानी का नल खुला न छोड़ें, नहाने और कपड़े धोने में जितना जरूरत हो उतना ही पानी प्रयोग करें। साथ ही घर की धुलाई में खर्च होने वाले पानी को बचाने के लिए उन्होंने पोंछा से सफाई करने का उपाय सुझाया। इस दौरान निदेशक नितिन चौहान, सुमन चौहान समेत सभी शिक्षक-शिक्षिकाएं मौजूद रहे।

वहीं, बेवर के ज्ञानदीप मॉडल स्कूल में प्रधानाचार्य उमेश चंद्र राठौर ने बच्चों को पानी बचाने की शपथ दिलाई। सभी बच्चों ने संकल्प लिया कि अगर वे कहीं भी पानी की बर्बादी होती देखेंगे तो लोगों को जल संरक्षण के प्रति जागरूक करेंगे। इस दौरान रामप्रकाश राठौर, प्रकाश प्रधान, राकेश कुमार आदि मौजूद रहे।

बच्चों की बात

हम देख रहे हैं कि लगातार भूगर्भ जल का स्तर लगातार गिरता जा रहा है। अगर ऐसे ही चलता रहा तो एक दिन एक बूंद भी पानी नहीं बचेगा। इसलिए हमें पानी बचाना चाहिए।

अंजली यादव, कक्षा-नौ।

पानी को बनाने का कोई तरीका नहीं है। जो पानी हमारे पास उपलब्ध है, बस उसी का हमें सही तरीके से उपयोग करना है। हम संकल्प लें कि हम पानी बर्बाद नहीं करेंगे।

निकिता राठौर, कक्षा नौ।

सबसे अधिक पानी की बर्बादी सबमर्सिबिल और वाहन धुलाई केंद्र से हो रही है। हमें जब तक बहुत जरूरत न हो सबमर्सिबिल का प्रयोग नहीं करना चाहिए।

अश्वनी राजपूत, कक्षा नौ। बारिश का पानी एकत्र करने के लिए हमें रैन वाटर हार्वे¨स्टग सिस्टम लगवाना चाहिए। सभी लोगों को घर बनवाने के दौरान इस सिस्टम को लगाना चाहिए।

प्रबल पांडेय, कक्षा दस।

Edited By Jagran

मैनपुरी में कोरोना वायरस से जुडी सभी खबरे

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!