सपा अध्यक्ष एवं पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश 31 को करेंगे नामांकन

सपा मुखिया 30 को आ जाएंगे सैफई सड़क मार्ग से करहल होते हुए पहुंचेंगे कलक्ट्रेट

JagranPublish: Sat, 29 Jan 2022 06:35 AM (IST)Updated: Sat, 29 Jan 2022 06:35 AM (IST)
सपा अध्यक्ष एवं पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश 31 को करेंगे नामांकन

जागरण संवादददाता, मैनपुरी: सपा मुखिया अखिलेश यादव के करहल से चुनाव लड़ने का एलान तो पहले ही हो चुका था, अब नामांकन के जरिए इस पर अमल शुरू किया जाएगा। अखिलेश यादव 31 जनवरी को अपना नामांकन पत्र दाखिल करेंगे।

सपा मुखिया अपना पहला विधानसभा चुनाव मैनपुरी की करहल सीट से लड़ने जा रहे हैं। इस वजह से मैनपुरी पर सबकी निगाहें टिकी हैं। नामांकन के लिए अखिलेश यादव के आगमन का कार्यक्रम निर्धारित हो गया है। जिलाध्यक्ष देवेंद्र सिंह यादव ने बताया कि 30 जनवरी की शाम को वह सैफई आ जाएंगे। 31 की सुबह सड़क मार्ग से अपने विधानसभा क्षेत्र करहल होते हुए जिला मुख्यालय आएंगे। यहां नामांकन पत्र दाखिल करेंगे।

चार सेट में दाखिल करेंगे नामांकन : अखिलेश यादव के लिए पार्टी ने नामांकन पत्र के चार सेट खरीद लिए हैं। नामांकन संबंधी कागजात आदि तैयार कराए जा चुके हैं। वह चार सेट में नामांकन दाखिल करेंगे।

सभी प्रत्याशी और पूर्व सांसद रहेंगे साथ: अखिलेश यादव के नामांकन में पूर्व सांसद तेजप्रताप यादव साथ रहेंगे। पार्टी ने अपने सभी प्रत्याशियों के नामांकन एक ही दिन कराने की रणनीति बनाई है। सपा ने मैनपुरी सीट पर विधायक राजकुमार यादव राजू, किशनी सीट पर विधायक ब्रजेश कठेरिया और भोगांव सीट पर पूर्व मंत्री आलोक शाक्य को प्रत्याशी बनाया है। हालांकि विधायक राजकुमार यादव ने शुक्रवार को दो सेट में नामांकन दाखिल कर दिए। राष्ट्रीय अध्यक्ष के साथ अभी वह दो और सेट में नामांकन भरेंगे। 91 प्रत्याशियों की सूची में करहल सीट फिर खाली

जासं, मैनपुरी : अबकी विधानसभा चुनाव में प्रत्याशियों के चयन को लेकर लगभग सभी दलों में जोर आजमाइश चलती रही है, लेकिन भाजपा में करहल सीट पर संशय अभी तक बरकरार है। 91 प्रत्याशियों की सूची में एक बार फिर से करहल में प्रत्याशी के नाम का एलान नहीं हो सका है। यहां अभी तक किसी नाम पर सहमति ही नहीं बन पा रही है।

जिले में विधानसभा चुनाव अबकी बार काफी रोचक होते जा रहे हैं। सपा और बसपा ने चारों विधानसभा सीटों पर अपने-अपने प्रत्याशियों की घोषणा कर दी है, लेकिन भाजपा असमंजस में है। असल में इस सीट पर भाजपा में पूर्व चेयरमैन संजीव यादव के नाम को लेकर चर्चा काफी तेज थी। उधर सपा ने पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के नाम पर जब मुहर लगाई गई तो भाजपा द्वारा अपने प्रत्याशी को लेकर चल रही चर्चाओं पर विराम लगा दिया गया।

बसपा ने करहल सीट से पूर्व जिलाध्यक्ष रह चुके कुलदीप नारायण उर्फ दीपक पेंटर को उतारा है, लेकिन भाजपा अभी तक निर्णय नहीं कर सकी है। शुक्रवार की दोपहर भाजपा की केंद्रीय चुनाव समिति द्वारा प्रदेश की 91 विधानसभा सीटों पर अपने प्रत्याशियों के नाम का एलान किया गया, लेकिन इनमें भी करहल सीट खाली ही रही है। जिलाध्यक्ष प्रदीप सिंह चौहान का कहना है कि जल्द ही पार्टी नेतृत्व द्वारा प्रत्याशी के नाम की औपचारिक घोषणा कर दी जाएगी।

Edited By Jagran

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept