चरखारी क्षेत्र के 50 संवेदनशील केंद्रों पर मतदान बड़ी चुनौती

संवाद सहयोगी कुलपहाड़ (महोबा) चरखारी विधानसभा के पचास संवेदनशील मतदान केंद्रों पर शां

JagranPublish: Thu, 27 Jan 2022 06:22 PM (IST)Updated: Thu, 27 Jan 2022 06:22 PM (IST)
चरखारी क्षेत्र के 50 संवेदनशील केंद्रों पर मतदान बड़ी चुनौती

संवाद सहयोगी, कुलपहाड़ (महोबा): चरखारी विधानसभा के पचास संवेदनशील मतदान केंद्रों पर शांतिपूर्ण ढंग से मतदान कराना प्रशासन के लिए बड़ी चुनौती होगी। इन मतदान केंद्रों पर राजनीतिक प्रतिद्वंदिता, जातिवादी वर्चस्व को लेकर आपसी मतभेद, पारिवारिक विवाद व दूसरे राज्य से जुड़ा सीमावर्ती क्षेत्र होने के कारण चुनावों के समय हालात तनावपूर्ण हो जाते हैं।

चरखारी विधानसभा क्षेत्र में अजनर , पनवाड़ी, कुलपहाड़, महोबकंठ, चरखारी व खरेला थाना आते हैं। चरखारी विधानसभा की निर्वाचन अधिकारी श्वेता पांडेय के अनुसार ऐसे संवेदनशील व अति संवेदनशील मतदेय स्थलों को चिन्हित कर लिया गया है। जहां पर राजनीतिक व पारिवारिक वैमनस्य चुनावों के समय तनाव का कारण बनता है। निर्वाचन अधिकारी के अनुसार अजनर थाना क्षेत्र के महुआ बांध में राजनीतिक प्रतिद्वंदिता , बछेछर कलां में जातिवादी वैमनस्यता, अजनर थाना क्षेत्र के ग्राम खमा व धवर्रा के एमपी सीमा से जुड़ा है साथ ही राजनीतिक प्रतिद्वंदिता है। थाना क्षेत्र के ग्राम बुधवारा, भगारी, कैंथोरा, बघौरा , चमरुवा व गुढा में राजनीतिक प्रतिद्वंदिता होने के साथ साथ ये गांव बल्नरेबल श्रेणी में रखे गए हैं। पनवाड़ी थाना क्षेत्र के ग्राम नकरा में आपराधिक प्रतिद्वंदिता है। जबकि थाना क्षेत्र के ग्राम नगाराघाट व स्योढीं को बल्नरेबल श्रेणी में रखा गया है। पनवाड़ी थाना क्षेत्र के ग्राम फदना में 2019 में लोकसभा चुनावों के दौरान पुनर्मतदान हुआ था। इस कारण फदना को भी संवेदनशील ग्राम की सूची में शामिल किया गया है। कुलपहाड़ थाना क्षेत्र के ग्राम मंगरौल व अंडवारा को बल्नरेबल श्रेणी में रखा गया है। विधानसभा क्षेत्र के महोबकंठ थाना क्षेत्र के ग्राम परापांतर व कनकुवा में जाति विशेष का दबदबा एवं राजनीतिक प्रतिद्वंदिता है। ग्राम सौरा में दो जातियों की आपसी प्रतिद्वंदिता है।खरेला थाना क्षेत्र के ग्राम बल्लांय में आपराधिक प्रवृत्ति व आपसी रंजिश के हालात हैं। जबकि चरखारी तहसील के ग्राम गुढा में राजनीतिक प्रतिद्वंदिता है। करहरा खुर्द में आपराधिक व आपसी रंजिश, इमिलिया डांग में पारिवारिक रंजिश जबकि सूपा और बम्हौरी कला में आपराधिक बोलबाला रहा है।

Edited By Jagran

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept