लखनऊ में अधेड़ की गला काटकर हत्या, मौके से शराब की बोतलें और चिलम बरामद

घटना स्‍थल से शराब की बोतलें चिलम और कुछ अन्य वस्तुएं बरामद की हैं। मृतक के भतीजे उमेश और भाई राम विलास ने चाचा के मित्र अजय मिश्रा पर हत्या का आरोप लगाया है। एसपी ग्रामीण ने बताया कि अजय की तलाश में दबिश दी जा रही है।

Anurag GuptaPublish: Fri, 28 Jan 2022 10:09 PM (IST)Updated: Fri, 28 Jan 2022 10:09 PM (IST)
लखनऊ में अधेड़ की गला काटकर हत्या, मौके से शराब की बोतलें और चिलम बरामद

लखनऊ, संवादसूत्र। इटौंजा के भिखारीपुर गांव में अधेड़ अमृतलाल यादव की गला काटकर हत्या कर दी गई। गांव के बाहर झोपड़ी में उनका खून से लथपथ हालत में शव पड़ा मिला। एसपी ग्रामीण ह्रदेश कुमार ने पुलिस बल के साथ मौके का निरीक्षण किया। पुलिस ने मौके से शराब की बोतलें, चिलम और अन्य चीजें बरामद की हैं। पुलिस को अधेड़ के एक साथी पर हत्या की आशंका है। जिसकी तलाश में दबिश दे रही है।

इटौंजा इलाके के असनहा गांव के भिखारीपुर गांव में रहने वाले अमृत लाल यादव करीब छह साल से गांव के बाहर झोपड़ी बनाकर रहते थे। शुक्रवार सुबह उनका भतीजा उमेश पहुंचा। ताऊ के नजर न आने पर उमेश ने आवाज लगाई। कोई उत्तर न मिला तो वह झोपड़ी के अंदर पहुंचा। झोपड़ी में खून से लथपथ हालत में अमृत लाल का शव पड़ा देख उमेश चीख पड़ा। चीख-पुकार सुनकर ग्रामीण दौड़े। उन्होंने पुलिस को सूचना दी। सूचना मिलते ही एसपी ग्रामीण ह्रदेश कुमार, इंस्पेक्टर इटौंजा सुभाष चंद्र सरोज पुलिस बल के साथ पहुंचे। पुलिस ने मौके का निरीक्षण किया।

पुलिस ने मौके से शराब की बोतलें, चिलम और कुछ अन्य वस्तुएं बरामद की हैं। मृतक के भतीजे उमेश और भाई राम विलास ने चाचा के मित्र अजय मिश्रा उर्फ गुड्डन पर हत्या का आरोप लगाया है। एसपी ग्रामीण ने बताया कि अजय शुकुलन पुरवा का रहने वाला है उसकी तलाश में दबिश दी जा रही है। राम विलास की तहरीर पर अजय के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज कर लिया गया है। राम विलास ने बताया कि परिवार में चार भाई परशुराम, दशरथ, सुभाष और जगतपाल हैं।

रात फरसा लेकर अजय पहुंचा था झोपड़ी पर, पी थी शराब : ग्रामीणों ने बताया कि रात अजय फरसा लेकर अमृतलाल के पास जाते देखा गया है। झोपड़ी के चारो और पेड़ पौधे लगे हैं। आश्रम ती तरह बनी है। कुछ ग्रामीणों का कहना है कि अजय ने वहां पर शराब भी पी थी। इस पर आशंका है कि अजय ने ही अमृतलाल की किसी बात पर हत्या कर दी। इसके बाद वह सुबह भाग गया।

झोपड़ी के पास लगता था नशेबाजों का जमावड़ा : झोपड़ी के पास अकसर नशेबाजों का जमावड़ा लगा रहता था। लोग यहां शराब और चिलम पीने के लिए आते रहते थे। जिसके कारण आए दिन नशे में उनके बीच झगड़ा भी होता रहता था। झगड़े के दौरान कई बार मारपीट तक भी हुई थी।

Edited By Anurag Gupta

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept