प्रदेश को बीते वर्ष की तुलना में नवंबर में 2058 करोड़ रुपया अधिक राजस्व, वित्त मंत्री सुरेश खन्ना ने पेश किया ब्यौरा

वित्त मंत्री सुरेश कुमार खन्ना ने बताया कि वित्तीय वर्ष 2021-22 के नवंबर माह में कुल 12962.20 करोड़ रूपये का राजस्व प्राप्त हुआ है। इस नवंबर में गत वर्ष के नवंबर की तुलना में 10903.87 करोड़ रुपया अधिक राजस्व प्राप्त हुआ है।

Dharmendra PandeyPublish: Sat, 04 Dec 2021 06:26 PM (IST)Updated: Sat, 04 Dec 2021 06:26 PM (IST)
प्रदेश को बीते वर्ष की तुलना में नवंबर में 2058 करोड़ रुपया अधिक राजस्व, वित्त मंत्री सुरेश खन्ना ने पेश किया ब्यौरा

लखनऊ, जेएनएन। उत्तर प्रदेश सरकार विकास कार्य को गति देने के साथ ही अपना खजाना भी सुदृढ़ कर रही है। वित्त मंत्री सुरेश कुमार खन्ना ने शनिवार को मीडिया के समक्ष नवंबर माह के मुख्य कर-करेत्तर राजस्व का ब्यौरा पेश किया। बीते वर्ष की तुलना में इस वर्ष नवंबर में प्रदेश को 2058.33 करोड़ रुपया अधिक राजस्व मिला है।

खन्ना ने बताया कि वित्तीय वर्ष 2021-22 के नवंबर माह में कुल 12,962.20 करोड़ रूपये का राजस्व प्राप्त हुआ है। इस नवंबर में गत वर्ष के नवंबर की तुलना में 10,903.87 करोड़ रुपया अधिक राजस्व प्राप्त हुआ है। इस वर्ष नवंबर तक मुख्य कर राजस्व के अन्तर्गत 1,19,212.08 करोड़ रूपये लक्ष्य के सापेक्ष 90,411.55 करोड़ रूपये की प्राप्ति हुई है। करेत्तर राजस्व प्राप्ति के मदों में 16415.09 करोड़ रूपये लक्ष्य के सापेक्ष 5148.66 करोड़ रूपये की प्राप्ति हो गई।

प्रदेश के वित्त, संसदीय कार्य तथा चिकित्सा शिक्षा मंत्री सुरेश कुमार खन्ना ने बताया कि मुख्य कर-करेत्तर राजस्व वाले मदों में वित्तीय वर्ष 2021-22 के नवंबर माह में 15389.83 करोड़ रूपये लक्ष्य के सापेक्ष कुल 12962.20 करोड़ रूपये का राजस्व प्राप्त हुआ, जो माह नवंबर 2021 में निर्धारित लक्ष्य का 84.20 प्रतिशत है, जबकि वर्ष 2020-21 के नवंबर माह में 10903.87 करोड़ रूपये का राजस्व प्राप्त हुआ था। इस प्रकार बीते महीने में 2020 के नवंबर की तुलना में 2058.33 करोड़ रुपया अधिक राजस्व प्राप्त हुआ। ï

उन्होंने बताया कि जीएसटी के अन्तर्गत नवंबर में कुल 4583.22 करोड़ रुपए की राजस्व प्राप्ति हुई है। गत वर्ष नवंबर के माह में प्राप्ति 3712.69 करोड़ रूपए थी। वैट के अन्तर्गत नवंबर 2021 में 2651.27 करोड़ रुपए की राजस्व प्राप्ति हुई। गत नवंबर में प्राप्ति 2147.54 करोड़ रुपए ही थी।

सुरेश कुमार खन्ना ने वित्तीय वर्ष 2021-22 के कर व करेत्तर राजस्व की प्राप्ति पर बताया कि आबकारी के मद में नवंबर में कुल 3101.57 करोड़ रुपए की राजस्व प्राप्ति हुई, जबकि बीते वर्ष प्राप्ति 2464.78 करोड़ रुपए थी। स्टाम्प तथा निबन्धन में राजस्व प्राप्ति 1620.65 करोड़ रुपए है। नवंबर 2020 में प्राप्ति 1628.00 करोड़ रुपए थी। परिवहन के अन्तर्गत नवंबर, 2021 की राजस्व प्राप्ति 764.60 करोड़ रुपए है जबकि 2020 नवंबर, में प्राप्ति 697.71 करोड़ रुपए थी।

मंत्री ने बताया कि करेत्तर राजस्व की प्रमुख मद भू-तत्व तथा खनिकर्म के अन्तर्गत माह नवंबर, 2021 में प्राप्ति 240.89 करोड़ रुपए है जबकि बीते वर्ष प्राप्ति 253.15 करोड़ रुपए थी। सुरेश कुमार खन्ना ने बताया कि वित्तीय 2021-22 में नवंबर 2021 तक मुख्य कर राजस्व के अन्तर्गत 119212.08 करोड़ रूपये लक्ष्य के सापेक्ष 90411.55 करोड़ रूपये की प्राप्ति हुई है, जो लक्ष्य का 75.8 प्रतिशत है। वित्तीय वर्ष 2021-22 में नवंबर, 2021 तक कुल करेत्तर राजस्व प्राप्ति के मदों में 16415.09 करोड़ रूपये लक्ष्य के सापेक्ष 5148.66 करोड़ रूपये की प्राप्ति हुई है। कर राजस्व की मद जीएसटी एवं वैट में नवंबर, 2021 तक 65632.70 करोड़ रूपये लक्ष्य के सापेक्ष 50944.12 करोड़ रूपये की प्राप्ति हुई है जो लक्ष्य का 77.60 प्रतिशत है। उन्होंने बताया कि वैट के मद में 17707.77 करोड़ रूपये लक्ष्य के सापेक्ष 16938.74 करोड़ रूपये की प्राप्ति हुई है जो 95.70 प्रतिशत है।

वित्त मंत्री ने बताया कि वित्तीय वर्ष 2021-22 के माह नवंबर तक आबकारी मद में लक्ष्य 26916.00 करोड़ रूपये के सापेक्ष 21896.08 करोड़ रूपये की प्राप्ति हुई है जो माह नवंबर तक निर्धारित लक्ष्य का 81.30 प्रतिशत है। स्टाम्प तथा निबन्धन के मद में 16785.00 करोड़ रूपये लक्ष्य के सापेक्ष 12784.85 करोड़ रूपये की प्राप्ति हुई है। उन्होंने बताया कि परिवहन के मद में वित्तीय वर्ष 2021-22 में नवंबर तक 6194.38 करोड़ रूपये लक्ष्य के सापेक्ष 4445.68 करोड़ रूपये की प्राप्ति हुई है। 

Edited By Dharmendra Pandey

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept