यूपी चुनाव 2022: सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव का भाजपा पर तंज, चुनाव में पाबंदियां इसीलिए ताकि कुर्सियां खाली न रह जाए

UP Vidhan Sabha Chunav 2022 अखिलेश यादव ने कहा कि किसी ने कल्पना नहीं की थी ऐसा भी चुनाव होगा कि वोट मांगने पर भी पबंदियां लग जाएगी। ये पाबंदियां इसीलिए हैं कि पंजाब के किसानों ने दिखा दिया जब प्रधानमंत्री वहां जाना चाहते थे तो पूरी कुर्सियां खाली थी।

Umesh TiwariPublish: Wed, 26 Jan 2022 01:09 PM (IST)Updated: Thu, 27 Jan 2022 12:02 AM (IST)
यूपी चुनाव 2022: सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव का भाजपा पर तंज, चुनाव में पाबंदियां इसीलिए ताकि कुर्सियां खाली न रह जाए

लखनऊ, जेएनएन। समाजवादी पार्टी के राष्ट्री अध्यक्ष अखिलेश यादव ने भाजपा पर निशाना साधते हुए कहा कि यह नकारात्मक लोग हैं, समाज को बांटकर वोट मांग रहे हैं। इनसे हमें सावधान रहना होगा। उन्होंने गणतंत्र दिवस के मौके पर समाजवादी पार्टी के कार्यकर्ताओं को संविधान व लोकतंत्र बचाने का संकल्प भी दिलाया। कहा कि बदलाव की शुरुआत उत्तर प्रदेश से होती है। चुनाव में अब बहुत कम दिन बचे हैं, इंटरनेट मीडिया पर क्या-क्या झूठ व भ्रम फैलाया जा रहा है। वे चाहते हैं कि चुनाव दूसरी तरफ चला जाए, लेकिन अभी तक हमारी दिशा बदल नहीं पाए हैं। गणतंत्र दिवास के अवसर पर अखिलेश यादव ने प्रदेश वासियों को बधाई और शुभकामनाएं दी। सपा मुख्यालय पर आयोजित कार्यक्रम में उन्होंने कहा कि आज के दिन हमें उन सभी को याद करना है जिनकी वजह से हमारा देश आजाद हुआ है। बड़ी संख्या में लोगों ने कुर्बानियां दी हैं तब देश को आजादी मिली है। इस अवसर सपा संरक्षक मुलायम सिंह यादव भी मौजूद रहे।

सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने प्रदेश कार्यालय में झंडा रोहण के मौके पर आए कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए कहा कि हम सभी गणतंत्र दिवस के दिन संकल्प लें कि संविधान के सम्मान को बचाएंगे। उन्होंने कहा कि आज नेताजी (मुलायम सिंह यादव) का भी हमें आशीर्वाद मिला है। लोहिया व आंबेडकर भी मिलकर काम करना चाहते थे किंतु समय व परिस्थिति ने उन्हें मौका नहीं दिया। हमने इस दिशा में प्रयास किए हैं। आज समाजवादियों को अपने साथ आंबेडकरवादियों को भी लाना होगा।

सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने अपने संबोधन में कहा कि हमें सोचना पड़ेगा कि जो नकारात्मक लोग हमारे देश को आगे नहीं ले जाना चाहते हैं। समाज को बांट कर वोट मांग रहे हैं। उनके खिलाफ एकजुट होना पड़ेगा। इसलिए हम आज के दिन संकल्प लें कि जिस संविधान ने इस महान गणतंत्र की स्थापना की उसे हर हाल में बचाएंगे। उन्होंने कहा कि सत्ता में बैठे लोग नकारात्मक सोच के हैं। वो समज को दूसरी दिशा देना चाहते हैं, हम समाजवादी लोगों ने समय-समय ऐसी ताकतों का मुकाबला किया है। नेताजी (मुलायम सिंह यादव) ने ऐसे समय पर भारतीय जनता पार्टी को हराया जिस समय कोई उन्हें हराने की सोच भी नहीं सकता था। 

सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने कहा कि यह चुनाव देश का सबसे बड़ा चुनाव होने वाला है। उन्होंने कहा कि इस देश का किसान कई दिनों तक धरने पर बैठा रहा, जिसमें कई किसान शहीद भी हो गए। आज वे लोग सत्ता में बैठे जिनके बोटों ने किसानों को जीप से कुचला था। उन्होंने कहा कि यह चुनाव बहुत अलग है। हम सब नहीं जानते थे पाबंदियां ऐसे लगाई जाएंगी। हमारे कार्यालय की तस्वीर चली जाएगी तो नोटिस आ जाएगा, लेकिन दूसरे कुछ भी करें कोई कार्रवाई नहीं होगी। हमें उम्मीद है कि गणतंत्र दिवस पर कोई नोटिस नहीं आएगा। 

सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने कहा कि कभी किसी ने कल्पना भी नहीं की थी ऐसा भी चुनाव होगा कि वोट मांगने पर भी पबंदियां लग जाएगी। उन्होंने भाजपा पर तंज करते हुए कहा कि ये पाबंदियां इसीलिए हैं कि पंजाब के किसानों ने दिखा दिया कि जब प्रधानमंत्री वहां जाना चाहते थे तो पूरी कुर्सियां खाली थी। उन्हें डर था कि उत्तर प्रदेश में भी कुर्सियां खाली न रह जाए। इसलिए प्रतिबंध लग गए। यह चुनाव जनता का चुनाव है। उनमें सरकार के प्रति बहुत नाराजगी है। जगह-जगह सत्ता पक्ष के विधायक कूटे जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि बीमारी अपनी जगह है। दुनियां के तमाम देश ऐसे हैं जिन्होंने सभी पाबंदियां हटा दीं। उन्होंने अपनी अर्थव्यवस्था को ठीक करने की दिशा में काम किया।

इस मौके पर सपा के संरक्षक मुलायम सिंह यादव ने देश को आजादी दिलाने वाले स्वतंत्रता सेनानियों को याद किया। उन्होंने सपा कार्यकर्ताओं से कहा कि आपको या आपके परिवार में कोई दिक्कत, परेशानी या बीमारी हो तो हमें लिखकर देना हम आपके घर आकर उसे दूर करेंगे। भारत के संविधान की तारीफ करते हुए कहा कि यह हमें एक समानता अवसर प्रदान करता है। उन्होंने पार्टी कार्यकर्ताओं का धन्यवाद भी दिया।

ओपिनियन पोल नहीं इसे कहिए ओपियम पोल : अखिलेश ने ओपिनियन पोल पर कहा कि इसे ओपिनियन पोल नहीं ओपियम (अफीम) पोल कहिए। प्रदेश की जनता भाजपा के खिलाफ खड़ी है। गांव से भाजपा कार्यकर्ता व विधायक खदेड़े जा रहे हैं।

विरोध करने वालों को समझाया : अखिलेश ने कहा कि पार्टी में टिकट को लेकर कुछ लोग शिकायत लेकर भी आए हैं। सभी अपनी शिकायत व सुझाव लिखकर प्रदेश अध्यक्ष को दे दें। उन्होंने मुस्कुराते हुए कहा कि इतनी तो विधान सभा सीटें भी नहीं हैं जितने लोग पार्टी में टिकट मांग रहे हैं। सभी को एकजुट होकर संविधान बचाने के लिए काम करना चाहिए।

'अमर जवान ज्योति' फिर से जलाने का संकल्प : अखिलेश यादव ने गणतंत्र दिवस के मौके पर 'अमर जवान ज्योति' फिर से जलाने का संकल्प लिया। उन्होंने ट्वीट किया...'अमर जवान ज्योति' की स्मृति में आज '26 जनवरी' को हम सब अपने-अपने स्तर पर एक ज्योति जलाएं और मिलकर एक देश की एक आवाज उठाएं...'आज 26 जनवरी को संकल्प उठाएंगे-अमर जवान ज्योति फिर से जलाएंगे।' 'अमर जवान ज्योति' का अपमान करने वालों को देश कभी माफ नहीं करेगा। जय हिंद...।'

Edited By Umesh Tiwari

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept