UP Chunav 2022: यूपी में दिग्गज नेताओं के बीच छिड़ा ट्वीट वार, 'योगी के मठ' से लड़ाई 'मायावती के सैंडल' तक पहुंची

UP Vidhan Sabha Chunav 2022 सीएम योगी अदित्यनाथ ने अलीगढ़ में कहा था कि 2017 से पहले की सरकारों में मुख्यमंत्री और मंत्री अपने लिए महल बनवाते थे लेकिन उन्होंने गरीबों के लिए मकान बनवाए। इस पर भड़कीं मायावती ने श्रृंखलाबद्ध तरीके से ट्वीट कर मुख्यमंत्री पर हमला बोला।

Umesh TiwariPublish: Sun, 23 Jan 2022 11:32 PM (IST)Updated: Mon, 24 Jan 2022 07:47 AM (IST)
UP Chunav 2022: यूपी में दिग्गज नेताओं के बीच छिड़ा ट्वीट वार, 'योगी के मठ' से लड़ाई 'मायावती के सैंडल' तक पहुंची

लखनऊ [राज्य ब्यूरो]। विधानसभा चुनाव को लेकर उत्तर प्रदेश की राजनीति गरमाई हुई है। सभी दलों के नेता एक-दूसरे पर लगातार आरोप-प्रत्यारोप लगा रहे हैं। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने पूर्व मुख्यमंत्रियों पर गरीबों के मकानों की बजाए अपने बड़े बंगले बनाने को लेकर टिप्पणी की तो बसपा प्रमुख मायावती ने गोरखपुर के मठ पर टिप्पणी कर दी। इसके बाद सीएम योगी के निजी कार्यालय की टीम ने अधिकृत ट्विटर हैंडल से मोर्चा संभाला। फिर 'योगी का मठ' और 'मायावती के सैंडल' इस 'ट्वीट वार के अस्त्र बने।

दरअसल, सीएम योगी अदित्यनाथ ने शनिवार को अलीगढ़ में कहा था कि 2017 से पहले की सरकारों में मुख्यमंत्री और मंत्री अपने लिए महल बनवाते थे, लेकिन उन्होंने गरीबों के लिए मकान बनवाए। इस पर भड़कीं मायावती ने रविवार को श्रृंखलाबद्ध तरीके से ट्वीट कर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पर हमला बोला। उन्होंने लिखा, 'शायद पश्चिम यूपी की जनता को यह मालूम नहीं है कि गोरखपुर में योगी जी का बना मठ जहां वो अधिकांश निवास करते हैं, वो कोई बड़े बंगले से कम नहीं है। यदि इस बारे में भी बता देते तो बेहतर होता।'

मठ पर टिप्पणी होते ही सीएम योगी के निजी कार्यालय की टीम सक्रिय हो गई। उसकी ओर से ट्वीट किया गया- 'एक तरफ मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कोरोना काल में सरकारी विमान को प्रदेशवासियों के जीवन की रक्षा के लिए समर्पित किया। वहीं, दूसरी तरफ व्यक्तिगत वैभव के लिए राजकीय संसाधनों का दुरुपयोग करते हुए सरकारी विमान से सैंडल मंगवाया गया था।'

एक अन्य ट्वीट में बसपा प्रमुख मायावती को गोरक्षनाथ मठ आने का न्योता भी दिया गया। ट्वीट में लिखा, 'बहन जी! बाबा गोरखनाथ जी की तपोभूमि गोरखपुर स्थित श्री गोरक्षपीठ में ऋषियों-संतों एवं स्वतंत्रता आंदोलन के क्रांतिवीरों की स्मृतियों को संजोया गया है। हिंदू देवी-देवताओं के मंदिर हैं। सामाजिक न्याय का यह केंद्र सबके कल्याण के लिए अहर्निश क्रियाशील है। कभी आइए, शांति मिलेगी। फर्क साफ है!'

अखिलेश को बताया वायदे आजम : इसके अलावा सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव के चुनावी वायदों पर तंज कसते हुए उन्हें वायदे आजम की संज्ञा दी। ट्वीट में लिखा, '...और दोपहर 12 बजे सोकर उठने के बाद आंखें मलते हुए 'तमंचावादी पार्टी' के वायदे आजम का अगला वायदा... 'जुगाड़ लगाकर' यूपी के हर बच्चे को 'उच्च शिक्षा' के लिए उनके किसी 'अंकल' के साथ आस्ट्रेलिया भेजा जाएगा।'

यह भी बोलीं मायावती : बसपा प्रमुख मायावती ने ट्वीट वार में खूब हमले किए। उन्होंने लिखा, 'यह भी बेहतर होता यदि यूपी के सीएम अपनी सरकार की तारीफ के साथ बीएसपी सरकार के जनहित से जुड़े कार्यों का भी कुछ उल्लेख कर देते, क्योंकि इन्हें मालूम होना चाहिए कि गरीबों को मकान व भूमिहीनों को जमीन देने के मामले में बीएसपी सरकार का रिकार्ड बेहतर रहा है।' साथ ही लिखा, 'बसपा सरकार द्वारा मान्यवर कांशीराम जी शहरी गरीब आवास योजना के तहत केवल दो चरण में ही डेढ़ लाख से अधिक पक्के मकान दिए गए तथा सर्वजन हिताय गरीब आवास मालिकाना हक योजना के तहत काफी परिवारों को लाभ मिला। लाखों भूमिहीन परिवारों को भी भूमि दी गई।'

Edited By Umesh Tiwari

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept