UP Chunav 2022: अखिलेश को बड़ा झटका, विधायक हाजी रिजवान ने छोड़ी सपा; पार्टी ने भी छह साल के लिए किया निष्कासित

UP Vidhan Sabha Chunav 2022 मुरादाबाद की कुंदरकी सीट से सपा विधायक हाजी रिजवान ने टिकट ना मिलने के विरोध में पार्टी से इस्तीफा दे दिया है। कुंदरकी से वर्ष 2002 2012 और 2017 में सपा से विधायक रहे हाजी मुहम्मद रिजवान का इस बार पार्टी ने टिकट काट दिया।

Umesh TiwariPublish: Sun, 23 Jan 2022 10:03 AM (IST)Updated: Sun, 23 Jan 2022 10:04 AM (IST)
UP Chunav 2022: अखिलेश को बड़ा झटका, विधायक हाजी रिजवान ने छोड़ी सपा; पार्टी ने भी छह साल के लिए किया निष्कासित

लखनऊ, जेएनएन। उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव के पहले चरण के मतदान से पहले समाजवादी पार्टी को बड़ा झटका लगा है। मुरादाबाद की कुंदरकी विधानसभा सीट से समाजवादी पार्टी के विधायक हाजी रिजवान ने टिकट ना मिलने के विरोध में पार्टी से इस्तीफा दे दिया है। कुंदरकी सीट से लगातार दो बार विधायक रहे हाजी मुहम्मद रिजवान टिकट कटने पर बगावत की राह पर हैं। शनिवार को लखनऊ से अपने गांव डोमघर लौटने के बाद समर्थकों के बीच उन्होंने समाजवादी पार्टी छोड़ने एवं चुनाव लड़ने की घोषणा कर दी। इसके साथ ही उन्होंने संगठन के पदाधिकारियों पर गंभीर आरोप लगाए।

कुंदरकी विधानसभा से वर्ष 2002, 2012 और 2017 में सपा से विधायक रहे हाजी मुहम्मद रिजवान का इस बार पार्टी ने टिकट काट दिया। वह टिकट की घोषणा होने से पहले और बाद में भी लखनऊ में जमे रहे। सारे प्रयास विफल होने पर शनिवार का मुरादाबाद लौटे। बड़ी संख्या में समर्थक उनके डोमघर स्थित आवास पर पहुंच गए। समर्थकों के बीच उन्होंने समाजवादी पार्टी छोड़ने का एलान कर दिया।

हाजी रिजवान कहा कि शुरुआत से ही समाजवादी पार्टी का सच्चा सिपाही रहा हूं। पार्टी के लिए संघर्ष किया लेकिन, संगठन में पार्टी के गद्दार बैठे हुए हैं। धोखेबाजों को पार्टी में बढ़ावा दिया जा रहा है। कुंदरकी क्षेत्र की जनता के बीच रहकर बिना भेदभाव के विकास कार्य कराए हैं। अब पार्टी छोड़ रहा हूं। विधानसभा चुनाव तो हर हाल में लड़ूंगा। किस पार्टी से लड़ूंगा, रविवार को इसकी भी घोषणा दी जाएगी। उधर, सपा के विधानसभा अध्यक्ष खुर्शीद मलिक को जिला महासचिव ने सपा पार्टी से छह साल के लिए निष्कासित कर दिया है।

देहात विधायक बोले जल्द खोलेंगे पत्ते : देहात विधायक हाजी इकराम कुरैशी की भी टिकट कट गई है। शनिवार को लखनऊ से मुरादाबाद लौट आए। कार्यालय पर कार्यकर्ताओं के बीच रहे। विधायक ने बताया कि 28 साल सपा में रहा। जनता के लिए खूब काम किया। उनका टिकट क्यों काटा गया, इसके बारे में कोई कारण भी नहीं बताया गया है। चुनाव लडऩे के सवाल पर बोले मैं अपनी बात जनता और अपने वोटर के बीच रखूंगा, वह जो कहेंगे, उसी अनुसार फैसला लिया जाएगा। एक दो दिन में इसकी भी घोषणा कर दी जाएगी।

सपा के पूर्व विधायक को अभी तक उम्मीद : कांठ से सपा के पूर्व विधायक अनीसुर्रहमान सैफी का कहना है कि वह पार्टी में ही हैं, और प्रयास कर रहे हैं कि कांठ में प्रत्याशी की दोबारा से घोषणा हो। हमारा सिंबल हमें वापस मिले और कांठ की जनता को बाहरी की जगह अपना प्रत्याशी मिले। हाईकमान से लगातार बात चल रही है।

Edited By Umesh Tiwari

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept