This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.
OK

UP Board Exam Results 2021: यूपी बोर्ड के 56 लाख से अधिक परीक्षार्थियों के परीक्षाफल अंक निर्धारण के सुझावों का परीक्षण

UP Board Exam Results 2021हाईस्कूल के 40 तथा इंटर के 106 विषयों पर अपर मुख्य सचिव माध्यमिक शिक्षा अराधाना शुक्ला की मौजूदगी में भी चर्चा की गई। यूपी बोर्ड ने भी शीघ्र ही परिणाम घोषित करने का लक्ष्य रखा है।

Dharmendra PandeySat, 12 Jun 2021 09:00 PM (IST)
UP Board Exam Results 2021: यूपी बोर्ड के 56 लाख से अधिक परीक्षार्थियों के परीक्षाफल अंक निर्धारण के सुझावों का परीक्षण

लखनऊ, जेएनएन। उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षा परिषद यानी यूपी बोर्ड में पंजीकृत हाईस्कूल व इंटरमीडिएट के 56 लाख से अधिक परीक्षार्थियों के परीक्षाफल में अंकों के निर्धारण पर सुझावों का परीक्षण चरम पर है। बोर्ड के लखनऊ कार्यालय में लगातार बैठकों का दौर जारी है। शनिवार को भी हाईस्कूल के 40 तथा इंटर के 106 विषयों पर अपर मुख्य सचिव माध्यमिक शिक्षा अराधाना शुक्ला की मौजूदगी में भी चर्चा की गई। यूपी बोर्ड ने भी शीघ्र ही परिणाम घोषित करने का लक्ष्य रखा है।

अपर मुख्य सचिव, माध्यमिक शिक्षा आराधना शुक्ला की अध्यक्षता में गठित उच्च स्तरीय समिति की बैठक शनिवार को माध्यमिक शिक्षा निदेशालय, शिविर कार्यालय, लखनऊ में सम्पन्न हुयी। बैठक में बोर्ड परीक्षा 2021 की हाईस्कूल एवं इंटरमीडिएट के पंजीकृत छात्र-छात्राओं के रिजल्ट तैयार करने तथा परीक्षाफल में अंकों के अभिलिखित करने वाली प्रक्रिया के साथ आधार के लिए निर्धारित होने वाले सुझावों का समुचित परीक्षण किया गया। अपर मुख्य सचिव ने बताया कि इस वर्ष हाईस्कूल परीक्षा में 27,808 विद्यालय तथा 29,94,312 परीक्षार्थी सम्मिलित हैं। इण्टरमीडिएट की परीक्षा में 17,697 विद्यालय तथा 26,10,316 परीक्षार्थी सम्मिलित हैं। इस प्रकार कुल 56,04,628 परीक्षार्थी के न्यायसिद्ध अंकों के निर्धारण की प्रक्रिया के विषय में विस्तृत चर्चा की गयी। हाईस्कूल में 40 विषय संचालित हैं जबकि इण्टरमीडिएट में 106 विषय संचालित हैं। आज की बैठक में हाईस्कूल के वह परीक्षार्थी जिन्होंने व्यक्तिगत आवेदन किया, जिन्होंने अन्य बोर्डो से कक्षा-9 उत्तीर्ण किया है या फिर वह सैनिक परीक्षार्थी तथा जेल में निरूद्ध बंदी परीक्षार्थी जिन्हेंं कक्षा-9 में पंजीकरण से छूट प्रदान की गयी है, के अंको के निर्धारण के सम्बन्ध में भी चर्चा की गयी। इसी प्रकार इंटरमीडिएट परीक्षा में पत्राचार के परीक्षार्थी, कृषि वर्ग के परीक्षार्थी, व्यवसायिक वर्ग के परीक्षार्थी, इंटरमीडिएट की समकक्षता के लिए केवल हिन्दी विषय में शामिल होने वाले आइटीआइ उत्तीर्ण परीक्षार्थी, सम्पूर्ण विषयों में सम्मिलित होने वाले वह सैनिक एवं जेल में निरूद्ध बंदी परीक्षार्थी जिन्हेंं कक्षा-11 में पंजीकरण से छूट प्रदान की गयी है या व्यक्तिगत परीक्षार्थी के अंक के निर्धारण के सम्बन्ध में भी विचार किया गया। अब यह समिति अपनी युक्तियुक्त रिपोर्ट शासन को सौंपेगी तथा उच्च स्तर पर छात्रों के अंको के निर्धारण के सम्बन्ध में अंतिम निर्णय लिया जायेगा।

इससे पहले भी माध्यमिक शिक्षा परिषद, उत्तर प्रदेश प्रयागराज की हाईस्कूल एवं इंटर के पंजीकृत छात्र-छात्राओं के परीक्षाफल के लिए तर्कसंगत अंको के निर्धारण के लिए माध्यमिक शिक्षा विभाग में विगत कई दिनों से बैठकों के साथ चर्चा भी चरम पर है। पांच जून को माध्यमिक शिक्षा विभाग के शासन व निदेशालय स्तर के अधिकारी एकत्र हुए जबकि सात जून को प्रदेश भर के शिक्षा अधिकारियों, शिक्षाविदो, विभिन्न संघो के प्रतिनिधियों के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से विचार किया गया। आठ जून को पूर्व तथा वर्तमान शिक्षक विधायकों के साथ तथा नौ को को उत्तर प्रदेश प्रधानाचार्य परिषद, राजकीय शिक्षक संघ, माध्यमिक शिक्षक संघ एवं व्यवसायिक शिक्षक संघ के पदाधिकारियों के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग पर अंक निर्धारण पर चर्चा की गई। इसके साथ ही ई-मेल upboardexamination2021@gmail.com पर अभिभावकों, शिक्षकों, शिक्षाविदों तथा आम जनमानस से अंक निर्धारण के सम्बन्ध में लगभग चार हजार सुझाव प्राप्त हुये। इसमें छात्र-छात्राओं ने भी कई रचनात्मक सुझाव दिए हैं।  

Edited By: Dharmendra Pandey

लखनऊ में कोरोना वायरस से जुडी सभी खबरे

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!