रामजन्मभूमि पर आतंकी हमले की साजिश, खुफिया विभाग की रिपोर्ट के बाद अयोध्या में अलर्ट

दुनिया के अति संवेदनशील स्थलों में से एक अयोध्या की रामनगरी आतंकियों के निशाने पर है। देश की खुफिया एंजेंसियों के द्वारा भेजे गए आतंकी हमले के इनपुट के बाद अयोध्या में अलर्ट घोषित कर दिया गया है। छह दिसंबर को विवादित ढांचा विध्वंस की बरसी भी है।

Dharmendra MishraPublish: Thu, 02 Dec 2021 01:49 PM (IST)Updated: Thu, 02 Dec 2021 09:16 PM (IST)
रामजन्मभूमि पर आतंकी हमले की साजिश, खुफिया विभाग की रिपोर्ट के बाद अयोध्या में  अलर्ट

अयोध्या, जागरण संवाददाता। आतंकी खतरे को लेकर रामनगरी में एकबार भी सरगर्मी बढ़ गई है। गुरुवार सुबह यूपी-112 कंट्रोल रूम पर रामनगरी में बम धमाके की मिली सूचना के बाद पुलिस एवं खुफिया एजेंसियों के कान खड़े हो गए हैं। अयोध्या में हाई अलर्ट कर दिया गया है। रामनगरी सहित रेलवे स्टेशनों एवं बस स्टेशन पर भी निगरानी बढ़ा दी गई है।

एसएसपी शैलेश पांडेय एवं एटीएस टीम के साथ कमांडो दस्ता भी रामनगरी में मौजूद है। रामजन्मभूमि परिसर में तैनात सुरक्षा कर्मियों के साथ ही परिसर के संपर्क मार्गों पर भी चेकि‍ंग बढ़ा दी गई है। आने-जाने वाले प्रत्येक व्यक्ति एवं वाहनों की तलाशी आवश्यक कर दी गई है। अभी तक यह पता चला है कि जिस नंबर से सूचना दी गई थी वह गुजरात का है। फोन करने वाले के बारे में भी पता लगाया जा रहा है। इसे किसी सिरफिरे की हरकत भी मानी जा रही है। फिलहाल एसएसपी शैलेश पांडेय ने बम धमाके की सूचना मिलने से इन्कार किया है। उनका कहना है कि प्रमुख धार्मिक क्षेत्र होने के नाते समय-समय पर रामनगरी की सुरक्षा व निगरानी व्यवस्था का परीक्षण किया जाता है। यह कार्रवाई भी उसी का हिस्सा है। रामजन्मभूमि परिसर के बाहरी क्षेत्र में औचक चेकि‍ंग कराई जा रही है।

रामजन्मभूमि परिसर पर राममंदिर निर्माण की प्रक्रिया तेज है। निर्माण कार्य को गति प्रदान करने के लिए लगातार समीक्षा बैठक भी हो रही है। परिसर के साथ बाहरी क्षेत्र के विकास की भी प्रक्रिया को आगे बढ़ाया जा रहा है। ऐसे में रामनगरी को विशेष निगरानी में रखा गया है। एसएसपी ने रामजन्मभूमि परिसर सहित अयोध्या के भीड़भाड़ वाले स्थानों का जायजा लिया। एसएसपी सहित पुलिस सभी अधिकारी रामनगरी में डटे रहे। रामजन्मभूमि के अतिरिक्त हनुमानगढ़ी, कनक भवन, राम की पैड़ी, कारसेवकपुरम, कार्यशाला सहित अन्य प्रमुख स्थानों के साथ उन तक जाने वाले मार्गों की अतिरिक्त निगरानी की जा रही है।

यूपी चुनाव नजदीक होने से पहले आतंकी हमले के इनपुट से सुरक्षा विभाग में खलबलीः यूपी विधानसभा चुनाव-2022 में अब ज्यादा महीने शेष नहीं रह गए हैं। इस चुनाव में अयोध्या में बन रहा श्रीराम मंदिर सियासत के केंद्र में है। ऐसे में यहां अक्सर वीवीआइपी का आना-जाना भी लगा है। इस लिहाज आतंकी इनपुट ने सुरक्षा एजेंसियों में भी खलबली मचा दी है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ भी अभी दो दिन पहले ही अयोध्या दौरे पर थे। आगामी दिनों में कई और बड़े नेता अयोध्या जा सकते हैं। ऐसे में रामनगरी को कड़ी सुरक्षा निगरानी में रखा जा रहा है। 

Edited By Dharmendra Mishra

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept