This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.
OK

UP School Reopen Date: उत्तर प्रदेश में 16 से होगी स्कूलों में पढ़ाई, एक सितंबर से खोले जाएंगे यूनिवर्सिटी व डिग्री कॉलेज

Schools Reopen in UP After Lesser Corona Cases सीएम योगी आदित्यनाथ ने सोमवार को टीम-09 के साथ समीक्षा बैठक में प्रदेश में यूनिवर्सिटी तथा डिग्री कॉलेज में पढ़ाई के संबंध में चर्चा की। इसके बाद ऑफलाइन शिक्षण कार्य प्रारंभ करने की प्रक्रिया पर मुहर लगी।

Dharmendra PandeyTue, 03 Aug 2021 08:27 AM (IST)
UP School Reopen Date: उत्तर प्रदेश में 16 से होगी स्कूलों में पढ़ाई, एक सितंबर से खोले जाएंगे यूनिवर्सिटी व डिग्री कॉलेज

लखनऊ, जेएनएन। कोरोना की दूसरी लहर का प्रकोप थमते ही उत्तर प्रदेश की योगी सरकार ने स्कूल और कालेजों में पढ़ाई शुरू कराने का फैसला कर लिया है। कोविड-19 प्रोटोकाल का पालन करते हुए कक्षा की पचास फीसद क्षमता के साथ 15 अगस्त से माध्यमिक शिक्षा के स्कूल खोले जाएंगे और 16 अगस्त से पढ़ाई शुरू होगी। उच्च शिक्षा संस्थानों में भी एक सितंबर से कक्षाएं शुरू करने का निर्देश मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने दिया है।

योगी आदित्यनाथ सरकार ने प्रदेश में कोरोना संक्रमण की सुधरती स्थिति को देखते हुए बेसिक, माध्यमिक, उच्च, प्राविधिक और व्यावसायिक शिक्षण संस्थानों को खोलने का फैसला किया है। इसी के तहत सोमवार को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, डिप्टी सीएम दिनेश शर्मा, बेसिक शिक्षा मंत्री सतीश दिवेदी और टीम-9 अधिकारियों के साथ लोकभवन में बैठक की, जिसके बाद 16 अगस्त से आधी क्षमता के साथ सभी स्कूल खोलने का फैसला लिया गया है। प्रदेश में अभी कक्षा एक से लेकर आठ तक के बच्चों को स्कूल नहीं बुलाया जाएगा। इनकी ऑनलाइन क्लास चलेंगी। माध्यमिक शिक्षा में कक्षा नौ से 12 तक के बच्चों को 50-50 प्रतिशत के अनुपात में स्कूल बुलाया जाएगा।

सीएम योगी आदित्यनाथ ने निर्देश देते हुए कहा कि कोरोना संक्रमण की नियंत्रित स्थिति को दृष्टिगत रखते हुए सभी शिक्षण संस्थानों में नवीन सत्र प्रारंभ करने की तैयारी की जाए। सभी बोर्डों के हाईस्कूल और इंटरमीडिएट के परिणाम घोषित हो चुके हैं। ऐसे में स्नातक स्तर पर दाखिले की प्रक्रिया 5 अगस्त से प्रारंभ कर दी जानी चाहिए। माध्यमिक शिक्षण संस्थानों में भी जिन विद्यार्थियों को अगली कक्षा में प्रोन्नत किया गया है, उनके दाखिले की प्रक्रिया भी शुरू कर दी जाए। इन विद्यार्थियों की कक्षाएं स्वाधीनता दिवस की तिथि से शुरू हों। स्वाधीनता दिवस के दिन “स्वतंत्रता के अमृत महोत्सव” से जोड़ कर आयोजन हों। 16 अगस्त से आधी क्षमता के साथ पठन-पाठन प्रारम्भ हों। उच्च शिक्षण संस्थानों में पठन-पाठन प्रत्येक दशा में एक सितंबर से प्रारम्भ करने की तैयारी की जाए।

सरकार ने कोरोना संक्रमण के कारण लगभग डेढ़ वर्ष से बंद स्कूल-कालेजों में पढ़ाई शुरू करने की तैयारी कर ली है। प्रदेश में कोरोना की दूसरी लहर पर काबू होने के बाद मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सोमवार को उच्च अधिकारियों के साथ बैठक में हालात की समीक्षा करते हुए निर्देश दिया कि सभी बोर्डों के हाईस्कूल और इंटरमीडिएट के परिणाम घोषित हो चुके हैं। स्नातक स्तर पर इनके दाखिले की प्रक्रिया पांच अगस्त से शुरू कर दें। माध्यमिक शिक्षण संस्थानों में प्रोन्नत किए गए छात्रों की भर्ती प्रक्रिया भी इसी तारीख से शुरू होनी है और इन सभी की कक्षाएं 16 अगस्त से शुरू करने के लिए मुख्यमंत्री ने कहा है। इसके अलावा उच्च शिक्षण संस्थानों में एक सितंबर से पढ़ाई शुरू कर दी जाएगी।

सीएम योगी आदित्यनाथ ने प्रदेश में यूनिवर्सिटी तथा डिग्री कॉलेज में पढ़ाई के संबंध में चर्चा की। इसके बाद ऑफलाइन शिक्षण कार्य प्रारंभ करने की प्रक्रिया पर मुहर लगी। प्रदेश में 16 अगस्त से 50 प्रतिशत छात्र-छात्राओं की उपस्थिति के साथ माध्यमिक और एक सितंबर से उच्च शिक्षण संस्थान खोलने की तैयारी की जा रही है। एक दिन में 50 फीसद विद्यार्थियों को ही संस्थान के परिसर में और बाकी 50 प्रतिशत को आनलाइन कक्षाएं संचालित कर पढ़ाया जा सकता है। सरकार की तरफ से शीघ्र ही इसकी गाइडलाइंस जारी होंगी।

उच्च शिक्षण संस्थानों में पठन-पाठन प्रत्येक दशा में एक सितंबर से प्रारम्भ करने की तैयारी की जाए। उन्होंने कहा कि शिक्षण संस्थानों में अध्ययन/अध्यापन प्रारंभ होने के दृष्टिगत सैनिटाइजर, इंफ्रारेड थरमामीटर, मास्क आदि की समुचित व्यवस्था सुनिश्चित कर ली जाए। दो गज की दूरी की अनिवार्यता के अनुरूप व्यवस्था की जाए। प्रत्येक संस्थान में कोविड प्रोटोकॉल का कड़ाई से अनुपालन हो। शिक्षण संस्थानों के प्रारंभ होने के साथ 18 वर्ष से अधिक आयु के विद्यार्थियों के टीकाकरण के विशेष शिविर लगाया जाना उचित होगा। स्वास्थ्य विभाग इस संबंध में पहले से ही सभी जरूरी तैयारी कर ले। सीएम ने निर्देश दिया कि परिषदीय विद्यालयों में स्वच्छता/सैनीटाइजेशन कराई जाए। शौचालयों की साफ-सफाई हो। कक्षाएं भी स्वच्छ रहें। बेसिक शिक्षा विभाग से समन्वय बनाकर ग्राम्य विकास एवं पंचायती राज विभाग इस संबंध में आवश्यक कार्रवाई करें।

इससे पहले मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शनिवार को कोरोना की स्थिति को देखते हुए नए सत्र को शुरू करने के संबंध में कार्य योजना तैयार करने के निर्देश दिए थे। इसी क्रम में सोमवार को समीक्षा बैठक में अपनी तैयारी से साथ थी। योगी आदित्यनाथ ने कहा कि बेसिक से लेकर उच्च शिक्षा तक के सभी संस्थानों के विद्यार्थियोंको अगली कक्षा में प्रोन्नत करने की प्रक्रिया भी जल्द पूरी करें। अब बेसिक शिक्षा, माध्यमिक शिक्षा, उच्च व प्राविधिक शिक्षा विभाग जल्द नए सत्र को शुरू करने की कार्य योजना तैयार करेंगे। अभी बेसिक व माध्यमिक स्कूलों में आनलाइन कक्षाएं चल रही हैं। विश्वविद्यालय व डिग्री कालेजों में स्नातक व परास्नातक में दाखिले की प्रक्रिया पूरी कर 13 सितंबर से कक्षाएं शुरू की जाएंगी। ऐसे में अब आगे कोरोना और काबू में रहा तो कैंपस में कक्षाएं शुरू की जा सकती हैं।  

स्नातक स्तर पर दाखिले की प्रक्रिया पांच अगस्त से शुरू की जाएगी। माध्यमिक शिक्षण संस्थानों में भी जिन छात्रों को अगली कक्षा में प्रोन्नत किया गया है, उनके प्रवेश की प्रक्रिया शुरू होगी। माध्यमिक शिक्षा (कक्षा नौ से बारह) के छात्रों को 15 अगस्त से बुलाया जाएगा। पहले दिन स्वाधीनता दिवस पर आयोजित स्वतंत्रता के अमृत महोत्सव से जुड़े कार्यक्रमों में शामिल होंगे। 16 अगस्त से आधी क्षमता के साथ पढ़ाई शुरू होगी। इसी तरह उच्च शिक्षण संस्थानों में कक्षाएं एक सितंबर से शुरू की जाएंगी।

Edited By: Dharmendra Pandey

लखनऊ में कोरोना वायरस से जुडी सभी खबरे

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
Jagran Play

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

  • game banner
  • game banner
  • game banner
  • game banner