Republic day 2022: लखनऊ विश्वविद्यालय के कुलपति का विद्यार्थियों को सीख, संविधान में शामिल जीवन मूल्यों का करें पालन

Republic day 2022 लखनऊ विश्वविद्यालय और शहर के महाविद्यालयों में मंगलवार को 73वां गणतंत्र दिवस मनाया गया। इस दौरान कोविड-19 से बचाव के लिए जारी गाइड लाइन का पूरा पालन किया गया। संस्थानों में ध्वजारोहण हआ। कई कालेजों ने तो प्रतियोगिताएं भी आयोजित कराईं।

Vikas MishraPublish: Wed, 26 Jan 2022 03:18 PM (IST)Updated: Wed, 26 Jan 2022 03:18 PM (IST)
Republic day 2022: लखनऊ विश्वविद्यालय के कुलपति का विद्यार्थियों को सीख, संविधान में शामिल जीवन मूल्यों का करें पालन

लखनऊ, जागरण संवाददाता। लखनऊ विश्वविद्यालय एवं सहयुक्त महाविद्यालयों सहित सभी शिक्षण संस्थानों में मंगलवार को 73वां गणतंत्र दिवस धूमधाम से मनाया गया। संस्थानों में ध्वजारोहण हआ। कालीचरण डिग्री कालेज में फुटबॉल प्रतियोगिता भी आयोजित की जा रही है। लखनऊ विश्वविद्यालय के कला संकाय स्थित मैदान में सुबह 10 बजे समारोह की शुरुआत हुई। कुलपति प्रो. आलोक कुमार राय ने परेड का निरीक्षण कर ध्वजारोहण किया। उसके बाद एनसीसी कैडेट्स ने गार्ड आफ ऑनर दिया। इस अवसर पर कुलपति प्रो. आलोक कुमार राय ने ध्वजारोहण कर अपने विचार रखे।

उन्होंने विद्यार्थियों को संकल्प दिलाया कि संविधान में उल्लिखित जीवन मूल्य हम सबके लिए आदर्श हैं। हम अपनी सोच और व्यवहार में इन आदर्शों का दृढ़ता व निष्ठापूर्वक पालन करें। हमारे विषय, शोध और चिंतन अलग हो सकते हैं, लेकिन उनमें देश के प्रति भाव भक्ति तथा एक सुंदर भारत के निर्माण के प्रति हमारी प्रतिबद्धता हमें एक करती है। कुलपति ने कहा कि भारत एक प्राचीन संस्कृति, दर्शन एवं इतिहास की समृद्ध विरासत है। एक ही सूत्र, एक ही नियमावली व विधि से संचालित होकर एक प्रभुत्व संपन्न, पंथनिरपेक्ष, जनतंत्र के रूप में हमारा यह नया स्वरूप है जो अद्भुत और अप्रितम है। कोई भी संस्था अपने भवनों, मानव शक्ति से नहीं बनती। उसका विकास उसके सुविचारित विधि सम्मित नियमों के निर्माण एवं उनके समुचित अनुपालन से होता है। उन्होंने कहा कि आधुनिक तकनीक एवं गंभीर शास्त्रीय अध्ययन के माध्यम से यह विश्वविद्यालय भी भारत की गौरवमयी परंपराओं को संग्रहित एवं प्रचारित करेगा। 

11 करोड़ पहुंची विजिटर्स की संख्या : कुलपति ने कहा कि विश्वविद्यालय में सूचना प्रौद्योगिकी का बड़े पैमाने पर प्रयोग किया गया। नतीजा, दो वर्षों में विश्वविद्यालय की नई वेबसाइट पर विजिटर्स की संख्या छह करोड़ से बढ़कर 11 करोड़, ट्विटर फालोवर्स की संख्या 1600 से बढ़कर 25 हजार और नए यूट्यूब चैनल पर सब्सक्राइबर की संख्या 20 हजार पहुंच गई है। समारोह के अवसर पर डीएसडब्ल्यू प्रो. पूनम टंडन, परीक्षा नियंत्रक विद्यानंद त्रिपाठी, चीफ प्रॉक्टर प्रो. दिनेश कुमार, डा. दुर्गेश श्रीवास्तव सहित सभी शिक्षक, अधिकारी, कर्मचारी व छात्र-छात्राएं मौजूद रहे। यहां के बाद कुलपति ने जानकीपुरम स्थित नवीन परिसर में भी ध्वजारोहण किया।

केकेसी कालेज : श्री जयनारायण मिश्र महाविद्यालय में भी गणतंत्र दिवस मनाया गया। प्राचार्या डा. मीता साह ने ध्वजारोहण के बाद शिक्षकों, कर्मचारियों एवं छात्र छात्राओं को संबोधित करते हुए कहा कि यह हमारी संवैधानिक शक्ति है, जो हमें एक समान अधिकार प्रदान करता है। भारतीय संविधान सबसे ज्यादा व्यावहारिक और दीर्घकालिक लक्ष्यों को लेकर चलने वाला संविधान है। इस अवसर पर उप प्राचार्य डा. विनोद चंद्रा ने संविधान निर्माण प्रक्रिया और गणतंत्र दिवस के आयोजन की विशेषताओं पर प्रकाश डाला। डा प्रवीण कुमार ने संविधान निर्माण में पर्दे के पीछे काम करने वाले अनेक लोगों का जिक्र करते हुए अमर शहीदों को नमन किया।

नगर निगम डिग्री कालेज : अटल बिहारी वाजपेयी नगर निगम डिग्री कालेज में गणतंत्र दिवस कोविड प्रोटोकॉल के अनुसार मनाया गया। समाजसेवी विनोद कुमार मुख्य अतिथि के रूप में उपस्थित रहे। प्राचार्य डा. सुभाष चंद्र पांडेय व मुख्य अतिथि विनोद कुमार ने ध्वजारोहण किया। उसके बाद राष्ट्रगान हुआ। इस अवसर पर शिक्षक व कर्मचारी उपस्थित रहे।

यहां भी हुआ आयोजन : कालीचरण पीजी कालेज, डीएवी डिग्री कालेज, केकेवी सहित सभी संस्थानों में गणतंत्र दिवस मनाया गया। ध्वजारोहण के बाद संस्था के प्राचार्य, प्रबंधक ने अपने विचार रखे।

Edited By Vikas Mishra

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept