यूपीटीईटी 2021 दोबारा कराने को लेकर यहां पढ़ें लेटेस्ट अपडेट, कुछ जिलों ने बदली परीक्षा केंद्रों की लिस्ट

UPTET 2021 उत्तर प्रदेश परीक्षा नियामक प्राधिकारी कार्यालय को परीक्षा केंद्रों की जो सूची उपलब्ध कराई गई उसमें कई जनपदों ने कोई बदलाव नहीं किया है। कुछ जनपदों ने महाविद्यालय और विश्वविद्यालय का नाम भी परीक्षा केंद्रों की सूची में दिया है।

Umesh TiwariPublish: Sun, 02 Jan 2022 06:37 PM (IST)Updated: Sun, 02 Jan 2022 06:41 PM (IST)
यूपीटीईटी 2021 दोबारा कराने को लेकर यहां पढ़ें लेटेस्ट अपडेट, कुछ जिलों ने बदली परीक्षा केंद्रों की लिस्ट

प्रयागराज [राज्य ब्यूरो]। प्रश्नपत्र लीक होने के कारण रद की गई 28 नवंबर, 2021 की उत्तर प्रदेश शिक्षक पात्रता परीक्षा (यूपीटीईटी) 23 जनवरी, 2022 को कराई जानी है। नकलविहीन और शुचितापूर्ण परीक्षा कराने के लिए शासन ने जनपद स्तरीय समिति गठित कर केंद्र निर्धारण के लिए जिलाधिकारी को जवाबदेह बनाया था। इसके लिए पूर्व में बनाए गए केंद्रों का पुनरावलोकन कराया जाना था, लेकिन जिलों ने परीक्षा केंद्रों की जो सूची उत्तर प्रदेश परीक्षा नियामक प्राधिकारी सचिव को भेजी है, उसमें कई जिलों ने कोई संशोधन नहीं किया है। इससे नकलविहीन परीक्षा कराना चुनौती होगी।

उत्तर प्रदेश परीक्षा नियामक प्राधिकारी कार्यालय को परीक्षा केंद्रों की जो सूची उपलब्ध कराई गई, उसमें कई जनपदों ने कोई बदलाव नहीं किया है। कुछ जनपदों ने महाविद्यालय और विश्वविद्यालय का नाम भी परीक्षा केंद्रों की सूची में दिया है। यूपीटीईटी में 21,65,181 परीक्षार्थी दोनों पालियों की परीक्षा में सम्मिलित होंगे। इतनी बड़ी संख्या को देखते हुए परीक्षा केंद्रों का निर्धारण शुचितापूर्ण किया जाना जरूरी है, ताकि केंद्रों से प्रश्नपत्र आउट होने की संभावना न रहे।

इसी मंशा को देखते हुए शासन ने विश्वविद्यालय, महाविद्यालयों के साथ-साथ सीबीएसई एवं आइसीएसई बोर्ड के विद्यालयों को परीक्षा केंद्र बनाने का सुझाव दिया था, ताकि केंद्रों की संख्या घटाकर निगरानी बढ़ाई जाए, लेकिन ऐसा हुआ नहीं है। मामले पर उत्तर प्रदेश परीक्षा नियामक प्राधिकारी सचिव अनिल भूषण चतुर्वेदी का कहना है कि जनपदों ने परीक्षा केंद्रों की सूची भेज दी है। इसे एनआइसी लखनऊ भेजा जाएगा, जहां से परीक्षा केंद्रों का निर्धारण किया जाएगा। परीक्षा केंद्रों का निर्धारण कर 12 जनवरी को प्रवेशपत्र जारी किए जाने की तैयारी है।

उत्तर प्रदेश शिक्षक पात्रता परीक्षा 28 नवंबर, 2021 को प्रस्तावित थी लेकिन, पहली पाली का इम्तिहान शुरू होने से पहले ही पेपर लीक हो गया। इसके बाद सरकार ने पूरी परीक्षा रद कर दी थी। साथ ही सचिव परीक्षा नियामक प्राधिकारी संजय उपाध्याय को निलंबित कर दिया था। इसके अलावा प्रिंटिंग प्रेस संचालक व साल्वर गिरोह के सरगना और अन्य सदस्यों की बड़े पैमाने पर गिरफ्तारी हो चुकी है।

उत्तर प्रदेश शिक्षक पात्रता परीक्षा 23 जनवरी, 2022 को कराई जानी है। परीक्षा के बाद 27 जनवरी को वेबसाइट पर प्रश्नपत्र की उत्तरमाला जारी होगी। एक फरवरी तक उस पर आपत्तियां ली जाएंगी। 21 फरवरी तक विषय विशेषज्ञों की समिति आपत्तियों का परीक्षण करके निस्तारण करेगी और संशोधित उत्तरमाला 23 फरवरी को वेबसाइट पर अपलोड की जाएगी। परीक्षा का परिणाम 25 फरवरी को जारी होगा।

Edited By Umesh Tiwari

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept