लखीमपुर खीरी हिंसा के हत्यारोपित आशीष मिश्रा के डेंगू की पुष्टि के बाद डॉक्टर्स के पैनल ने शुरू किया इलाज

लखीमपुर खीरी में केन्द्रीय गृह राज्य मंत्री अजय मिश्र टेनी के पुत्र आशीष मिश्रा के डेंगू व हाई लेवल शुगर की पुष्टि के बाद इलाज शुरू कर दिया गया है। शुगर भी काफी बढ़ी हुई है और लखनऊ से मिली रिपोर्ट के मुताबिक आशीष मिश्रा मोनू डेंगू पॉजिटिव है।

Dharmendra PandeyPublish: Mon, 25 Oct 2021 05:03 PM (IST)Updated: Mon, 25 Oct 2021 05:03 PM (IST)
लखीमपुर खीरी हिंसा के हत्यारोपित आशीष मिश्रा के डेंगू की पुष्टि के बाद डॉक्टर्स के पैनल ने शुरू किया इलाज

लखनऊ, जेएनएन। लखीमपुर खीरी में तीन अक्टूबर को हिंसा में चार किसान सहित आठ लोगों की मृत्यु के मामले में मुख्य आरोपित आशीष मिश्रा मोनू में डेंगू की पुष्टि हो गई है। लखनऊ से आई रिपोर्ट के बाद मोनू का जिला अस्पताल लखीमपुर खीरी में इलाज प्रारंभ हो गया है। कड़ी सुरक्षा में डॉक्टर्स का पैनल आशीष मिश्रा मोनू की हालत पर नजर रखे है।

लखीमपुर खीरी में केन्द्रीय गृह राज्य मंत्री अजय मिश्र टेनी के पुत्र आशीष मिश्रा के डेंगू व हाई लेवल शुगर की पुष्टि के बाद दोनों दिक्कतों का इलाज शुरू कर दिया गया है। चिकित्सकों के मुताबिक शुगर भी काफी बढ़ी हुई है और आज लखनऊ से मिली रिपोर्ट के मुताबिक आशीष मिश्रा मोनू डेंगू पॉजिटिव है।

जेल में तबीयत खराब होने के बाद जेल के अस्पताल में इलाज के बाद भी राहत ना होने पर आशीष मिश्रा को को रविवार को जिला अस्पताल के इमरजेंसी वार्ड में भर्ती कराया गया था। जांच के बाद में पुलिस सुरक्षा के साथ जहां से उसे प्राइवेट वार्ड भर्ती करवा दिया गया है। जिला अस्पताल के कार्यवाहक सीएमएस डॉ.संतोष मिश्रा के मुताबिक आशीष की शुगर भी बढ़ी हुई है और उसे डेंगू भी है। इतना ही नहीं कारागार में जिन कैदियों के साथ आशीष मिश्रा मोनू को रखा गया था उनकी भी जांच होगी और इसके साथ ही एंटी लारवा का छिड़काव जेल में भी किया जाएगा।

लखीमपुर खीरी के तिकुनिया में बीती तीन अक्टूबर को ङ्क्षहसा के मुख्य आरोपित आशीष मिश्रा मोनू को नौ अक्टूबर को गिरफ्तार किया गया था। दो दिन पहले ही पुलिस को 48 घंटे की दोबारा की कस्टडी रिमांड मिली थी। शनिवार को एसआइटी की टीम पूछताछ कर रही थी। इसके बाद शाम को तबीयत बिगडऩे पर एसआइटी की टीम ने लखीमपुर खीरी पुलिस लाइंस ने वापस जेल में दाखिल कराया था। इसके बाद मोनू को जेल के अस्पताल में भर्ती कराया गया था।  

Edited By Dharmendra Pandey

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept