गोंडा में सप्तक्रांति एक्सप्रेस के पहिए में लगी आग, बड़ा हादसा टला

ट्रेन को तत्काल मनकापुर स्टेशन पर रोक दिया गया। आग की सूचना से यात्रियों में भी अफरातफरी मच गई। अधिकारियों को मामले की सूचना दी गई। इसके बाद जंक्शन से मौके पर टीम गई। जांच पड़ताल के बाद ट्रेन से बोगी को अलग कर दिया गया।

Anurag GuptaPublish: Thu, 03 Dec 2020 02:42 PM (IST)Updated: Thu, 03 Dec 2020 02:42 PM (IST)
गोंडा में सप्तक्रांति एक्सप्रेस के पहिए में लगी आग, बड़ा हादसा टला

गोंडा, जेएनएन। देर रात झिलाही स्टेश्न से गुजर रही सप्तक्रांति एक्सप्रेस की चौथी बोगी का पहिया लाल हो गया। झिलाही प्वाइंट से इसकी सूचना मनकापुर को दी गई। यहां ट्रेन को रोक दिया गया। बोगी में सवार यात्रियों को दूसरे डिब्बे में शिफ्ट किया गया। इसके बाद ट्रेन आगे के लिए रवाना की गई। आरपीएफ के पोस्ट कमांडर मनकापुर ने बताया कि रात में 1.52 बजे डिब्बे का पहिया लाल होने की सूचना मिली।

इस पर ट्रेन को तत्काल मनकापुर स्टेशन पर रोक दिया गया। आग की सूचना से यात्रियों में भी अफरातफरी मच गई। अधिकारियों को मामले की सूचना दी गई। इसके बाद जंक्शन से मौके पर टीम गई। जांच पड़ताल के बाद ट्रेन से बोगी को अलग कर दिया गया। इसमें सवार 87 यात्रियों को दूसरे डिब्बे में शिफ्ट कर दिया गया। ट्रेन को सुबह सवा छह बजे रवाना किया गया। हालांकि, इस दौरान कोई बड़ी घटना नहीं हुई।

यत्रियों को हुई परेशानी

नई दिल्ली से मुजफ्फरपुर जा रही सप्तक्रांति ट्रेन के मनकापुर रेलवे स्टेशन पर खड़ी हो जाने से यात्रियों को परेशानी का सामना करना पड़ा। चार घंटे के बाद ट्रेन को रवाना किया जा सका। खाद्य सामग्री व दूसरी चीजें न मिलने से लोग परेशान दिखे। इस दौरान कुछ यात्री ट्रेन से नीचे उतर आए। वह इधर-उधर घूमकर समय गुजारा। बच्चे बिलखते रहे। कुछ यात्री ट्रेन के रुकने का कारण पूछते रहे। चार घंटे तक रेल के अधिकारियों के फोन घनघनाते रहे। सुबह सवा छह बजे ट्रेन रवाना होने के बाद अधिकारियों ने राहत की सांस ली। 

Edited By Anurag Gupta

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept