Fight Against Corona in UP: CM योगी आदित्यनाथ का निर्देश प्रभावी ढंग से हो समूहों की फोकस टेस्टिंग का कार्य

Fight Against Corona in UP सीएम योगी आदित्यनाथ ने बैठक में कोविड-19 पर प्रभावी अंकुश के लिए निरन्तर सतर्कता एवं सावधानी बरतने पर बल दिया। उन्होंने कहा कोविड-19 संक्रमण चेन तोड़ने के लिए प्रभावी उपाय जारी रखते हुए लोगों को कोरोना से बचाव के सम्बन्ध में निरन्तर जागरूक करें।

Dharmendra PandeyPublish: Fri, 06 Nov 2020 05:47 PM (IST)Updated: Fri, 06 Nov 2020 09:09 PM (IST)
Fight Against Corona in UP: CM योगी आदित्यनाथ का निर्देश प्रभावी ढंग से हो समूहों की फोकस टेस्टिंग का कार्य

लखनऊ, जेएनएन। उत्तर प्रदेश में कोराना वायरस पर प्रभावी नियंत्रण को लेकर सीएम योगी आदित्यनाथ ने सभी अधिकारियों को हर स्तर पर काम को सही ढंग से अंजाम पर लाने का निर्देश दिया है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शुक्रवार को अपने सरकारी आवास पर अनलॉक व्यवस्था को लेकर समीक्षा बैठक की।

सीएम योगी आदित्यनाथ ने बैठक में कोविड-19 पर प्रभावी अंकुश के लिए निरन्तर सतर्कता एवं सावधानी बरतने पर बल दिया। उन्होंने कहा कि कोविड-19 के संक्रमण की चेन को तोड़ने के लिए प्रभावी उपाय जारी रखते हुए लोगों को कोरोना से बचाव के सम्बन्ध में निरन्तर जागरूक करें। इसके साथ विभिन्न समूहों की फोकस टेस्टिंग का कार्य प्रभावी ढंग से संचालित किया जाए। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कोविड-19 पर प्रभावी अंकुश के लिए निरन्तर सतर्कता एवं सावधानी बरतने पर बल दिया है। उन्होंने कहा कि कोरोना के प्रति लापरवाही भारी पड़ सकती है। 

बाजारों में भीड़ को ध्यान में रखें

उन्होंने कहा कि आगामी पर्वों की तैयारियों के सिलसिले में बाजारों में बड़ी संख्या में लोग खरीददारी करने के लिए आ रहे हैं। इसे ध्यान में रखते हुए विभिन्न समूहों की फोकस टेस्टिंग का कार्य प्रभावी ढंग से संचालित किया जाए। उन्होंने कहा कि डेंगू सहित विभिन्न संचारी रोगों को नियंत्रित करने के लिए एन्टी लार्वा रसायनों का नियमित तौर पर छिड़काव किया जाए। यह भी सुनिश्चित किया जाए कि फॉगिंग का कार्य लगातार संचालित हो।

मुख्यमंत्री ने कहा कि उत्तर प्रदेश कामगार और श्रमिक (सेवायोजन एवं रोजगार) आयोग के निर्देशों के क्रियान्वयन की जिलास्तर पर समीक्षा की जाए। तत्पश्चात वह स्वयं शासन स्तर पर समीक्षा करेंगे।

कुपोषित परिवारों को गो-आश्रय स्थलों से उपलब्ध कराएं गाय

मुख्यमंत्री ने कहा कि कुपोषित परिवारों, जिनके पास गाय रखने का स्थान उपलब्ध हो तथा गौ-पालन के इच्छुक हों, उन्हेंं गो-आश्रय स्थलों से गाय उपलब्ध करायी जाए। गाय के भरण-पोषण के लिए प्रति गाय प्रतिमाह 900 रुपये भी प्रदान किये जाएं। यह व्यवस्था मुख्यमंत्री निराश्रित/बेसहारा गोवंश सहभागिता योजना के अन्तर्गत की जाए। इस सम्बन्ध में मुख्यमंत्री जी को अवगत कराया गया कि अब तक 1,052 कुपोषित परिवारों को गोवंश उपलब्ध कराया गया है।

इस बैठक में चिकित्सा शिक्षा मंत्री सुरेश खन्ना, स्वास्थ्य राज्य मंत्री अतुल गर्ग, मुख्य सचिव आरके तिवारी, अवस्थापना एवं औद्योगिक विकास आयुक्त आलोक टण्डन, अपर मुख्य सचिव गृह अवनीश कुमार अवस्थी, पुलिस महानिदेशक हितेश चंद अवस्थी, अपर मुख्य सचिव एमएसएमई एवं सूचना नवनीत सहगल, अपर मुख्य सचिव चिकित्सा शिक्षा डॉ. रजनीश दुबे, अपर मुख्य सचिव ग्राम्य विकास एवं पंचायतीराज मनोज कुमार सिंह, अपर अपर मुख्य सचिव मुख्यमंत्री एसपी गोयल, अपर मुख्य सचिव महिला कल्याण एवं बाल विकास एस राधा चैहान, प्रमुख सचिव पशुपालन भुवनेश कुमार, प्रमुख सचिव मुख्यमंत्री एवं सूचना संजय प्रसाद, प्रमुख सचिव स्वास्थ्य आलोक कुमार, राहत आयुक्त संजय गोयल, सचिव मुख्यमंत्री आलोक कुमार के साथ सूचना निदेशक शिशिर उपस्थित थे। 

Edited By Dharmendra Pandey

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept