बांग्लादेशी दूतावास से नहीं आया जवाब, पोस्टमार्टम के तीन दिन बाद भी डकैत हमजा का नहीं हुआ अंतिम संस्कार

लखनऊ में पुलिस मुठभेड़ में बीते 17 अक्टूबर को गोमतीनगर सहारा फ्लाईओवर के नीचे मारे गए डकैत हमजा के शव का अंतिम संस्कार अब तक नहीं हो सका है। पोस्टमार्टम होने के बाद भी शव तीन दिन से रखा है। अब दोबारा रीमांइडर भेजा गया है।

Rafiya NazPublish: Sat, 23 Oct 2021 05:47 PM (IST)Updated: Sat, 23 Oct 2021 05:47 PM (IST)
बांग्लादेशी दूतावास से नहीं आया जवाब, पोस्टमार्टम के तीन दिन बाद भी डकैत हमजा का नहीं हुआ अंतिम संस्कार

लखनऊ, जागरण संवाददाता। पुलिस मुठभेड़ में बीते 17 अक्टूबर को गोमतीनगर सहारा फ्लाईओवर के नीचे मारे गए डकैत हमजा के शव का अंतिम संस्कार अब तक नहीं हो सका है। पोस्टमार्टम होने के बाद भी शव तीन दिन से रखा है। एंकाउंटर के बाद पुलिस ने हमजा के बांग्लादेशी होने का दावा किया था। जिसके बाद सूचना बांग्लादेशी दूतावास को भी दी थी, लेकिन अभी तक वहां से कोई जवाब नहीं आया। दोबारा भेजा गया रिमाइंडर, जवाब न आया तो पुलिस कराएगी अंतिम संस्कार डीसीपी पूर्वी संजीव सुमन ने बताया कि शुक्रवार को बांग्लादेशी दूतावास को दोबारा हमजा के संबंध में रिमाइंडर भेजा गया है। अगर अब जवाब नहीं मिला तो पुलिस एक-दो दिन बाद शव का अंतिम संस्कार करा देगी। चूंकि अज्ञात शव अथवा शिनाख्त के बाद भी मृतक के परिवारीजन तक सूचना देने और उनके इंजार में 72 घंटे तक शव का पोस्टमार्टम नहीं किया जाता है। हमजा की मौत के बाद भी यही किया गया था। फिर शव का पोस्टमार्टम कराने के बाद फिर परिवारीजन के आने का इंतजार किया जा रहा है। दिल्ली में रहने वाले बहन-बहनोई भी नहीं हुए ट्रेस पुलिस सूत्रों के मुताबिक पड़ताल में पता चला था कि हमजा के बहन-बहनोई दिल्ली में रहते हैं। वह भी वहां पर कूड़ा बीनने का काम करते हैं। पुलिस ने उनके बारे में जानकारी जुटाने का प्रयास किया तो पता चला कि हमजा के बहन-बहनोई वहां पर झोपड़ी झोड़कर जा चुके हैं। पुलिस परिवारीजन के बारे में अन्य ब्योरा खंगाल रही है।

यह था मामला: लगभग एक सप्‍ताह पूर्व रविवार देर रात करीब ढाई बजे पुलिस टीम रेलवे ट्रैक के आस पास गश्त कर रही थी। इस बीच छह से सात संदिग्ध पुलिस को जाते दिखे। पुलिस ने रोकने का प्रयास किया तो उन्होंने फायरिंग शुरू कर दी। सूचना मिलते ही डीसीपी पूर्वी की क्राइम टीम और थाने से पुलिस बल पहुंचा। पुलिस टीम ने बदमाशों को चारों ओर से घेर लिया। जवाबी फायरिंग में एक बदमाश के सीने में गोली लग गई। जिससे वह मौके पर ही धराशाई हो गया। मुठभेड़ के दौरान हेड कांस्टेबल मुकेश चौधरी, नरेंद्र बहादुर और आर्यन शुक्ला को भी गोली लगी। वह भी घायल हुए। घायलों को लोहिया अस्पताल ले जाया गया। जहां, उन्हें भर्ती कर लिया गया है। घायल बदमाश की पहचान बांग्लादेशी डकैत गिरोह के सरगना हमजा के रूप में हुई। वहीं, पुलिस कर्मियों का भी अस्पताल में इलाज चल रहा है। सूचना मिलते ही डीसीपी पूर्वी संजीव सुमन, एसीपी गोमतीनगर श्वेता श्रीवास्तव मौके पर पहुंचे थें। वहीं, फरार बदमाशों की तलाश में गोमतीनगर विस्तार, विभूतिखंड समेत अन्य थानों की पुलिस को अलर्ट कर दिया गया। फरार बदमाशों की तलाश में पुलिस की टीम दबिश दे रही है।

Edited By Rafiya Naz

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept