पहले पुलिस भागती थी, अपराधी भगाते थे, आज दौड़ाती है पुलिस, भाग रहा है माफिया : सीएम योगी

सीएम योगी आदित्यनाथ शुक्रवार को पश्चिमी उत्तर प्रदेश के उद्यमी बंधुओं से आत्मनिर्भर उत्तर प्रदेश विषय पर संवाद कर रहे थे। वर्चुअल माध्यम से हुए इस संवाद में उन्होंने व्यापारियों-उद्यमियों को भयमुक्त होकर आत्मनिर्भर उत्तर प्रदेश के निर्माण में अपना योगदान करने का आह्वान किया।

Umesh TiwariPublish: Sat, 22 Jan 2022 01:30 AM (IST)Updated: Sat, 22 Jan 2022 07:23 AM (IST)
पहले पुलिस भागती थी, अपराधी भगाते थे, आज दौड़ाती है पुलिस, भाग रहा है माफिया : सीएम योगी

लखनऊ [राज्य ब्यूरो]। सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि जिस प्रदेश में पांच साल पहले पुलिस अपराधियों के आगे-आगे भागती थी, आज वहीं पेशेवर माफिया भागता है और पुलिस दौड़ाती है। मुजफ्फरनगर दंगे का जो अपराधी प्रदेश के मुख्यमंत्री के हाथों सम्मानित होता था, आज जान की भीख मांग रहा है। कैराना से आमलोगों को पलायन के लिए मजबूर करने वाले आज खुद यूपी छोड़कर भागने पर मजबूर हैं और कैराना में माल खुल रहे हैं। पांच साल के दौरान प्रदेश में कानून का राज स्थापित हुआ है। रोजगार और निवेश की संभावनाओं को गति मिली है। 10 मार्च को प्रचंड बहुमत से बीजेपी सरकार बनने के बाद इनमें और रफ्तार आएगी।

सीएम योगी आदित्यनाथ शुक्रवार को पश्चिमी उत्तर प्रदेश के उद्यमी बंधुओं से 'आत्मनिर्भर उत्तर प्रदेश' विषय पर संवाद कर रहे थे। वर्चुअल माध्यम से हुए इस संवाद में उन्होंने व्यापारियों-उद्यमियों को भयमुक्त होकर आत्मनिर्भर उत्तर प्रदेश के निर्माण में अपना योगदान करने का आह्वान किया। इस दौरान सीएम ने पिछली सरकारों के दौरान उद्योग जगत की दुश्वारियों और बदहाल कानून-व्यवस्था का भी जिक्र किया तो कहा कि हर वर्ग के लिए भयमुक्त वातावरण केवल बीजेपी सरकार ही दे सकती है।

बेटी ने कहा कि कोई गुंडा जमानत पर है, अगले दिन गुंडे ने रद करा ली बेल : उद्योग जगत के प्रतिष्ठित जनों से बातचीत करते हुए मुख्यमंत्री ने अपने कैराना दौरे की एक रोचक घटना भी सुनाई। उन्होंने बताया कि 2017 में सरकार बनने के बाद कैराना के एक परिवार से भेंट हुई। वह लौटना चाहते थे, लेकिन डर रहे थे। मैंने कहा आइए, सरकार आपकी है। डरें नहीं। वो परिवार लौटा। अभी तीन माह पहले कैराना गया तो उस परिवार से फिर मिला। परिवार बहुत खुश था। वहां कक्षा छह में पढ़ने वाली एक बेटी ने बताया कि और तो कोई दिक्कत नहीं पर पता चला है कि एक गुंडा जमानत पर छूटा है और चौराहे पर घूम रहा है। मैंने अधिकारियों से पूछा फिर अगले दिन सबने अखबारों में खबर पढ़ी कि वह गुंडा अपनी जमानत रद करवा कर फिर से जेल चला गया। सीएम ने यह प्रसंग सुनाकर बताया कि यूपी को ऐसी कानून-व्यवस्था की जरूरत थी और बीजेपी सरकार ही यह दे पाने में सक्षम है।

बोले उद्यमी, योगी राज में बिजली फुल, अपराधी गुल : कार्यक्रम में पश्चिमी उत्तर प्रदेश के उद्योग जगत की कई प्रतिष्ठित हस्तियों ने सीएम से संवाद कर सरकार की उद्योग प्रोत्साहन नीतियों को सराहा तो भविष्य की जरूरतों के बारे में अपनी अपेक्षाएं भी रखीं। बुलंदशहर के दीपक गुप्ता ने बताया कि हमारे बच्चे जो पहले यूपी से बाहर जाकर काम करना चाहते हैं आज यूपी में रहने की बात करने लगे हैं। लघु उद्योग भारती के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष जनक भाटिया ने कहा कि पांच साल पहले उद्यमियों के लिए सबसे बड़ी चिंता थी कि कब किसे उठा लिया जाए, किसके पास रंगदारी का फोन आ जाये, कुछ पता नहीं। नोएडा में शाम पांच बजे के बाद दुकानें बंद हो जाती थीं। आज सीएम योगी ने ऐसा माहौल दिया है कि हर छोटा-बड़ा उद्यमी निर्भय है। उद्योग रत्न से सम्मानित राम कुमार गुप्ता ने लॉ एंड ऑर्डर के लिए सीएम की प्रशंसा की तो मेरठ में खेल विश्वविद्यालय और ईएसआइ हास्पिटल के लिए भूमि देने पर आभार जताया। कजारिया सिरेमिक्स के उपाध्यक्ष अरुण लाट ने सीएम योगी की नीतियों को उत्तर प्रदेश को उद्यम प्रदेश बनाने वाली बताईं।

Edited By Umesh Tiwari

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept