ISI Terror Module: एटीएस ने यूपी से तीन अन्य आतंकियों को भी दबोचा, कई अन्य पर भी नजर

ISI Terror Module जिन आतंकियों की तलाश में उत्तर प्रदेश के चार शहरों में ताबड़तोड़ छापेमारी की गई थी उनके तीन और सक्रिय साथी भी एटीएस के हाथ लगे थे। प्रदेश से कुल छह आतंकियों को गिरफ्तार किया गया है।

Umesh TiwariPublish: Wed, 15 Sep 2021 09:20 PM (IST)Updated: Thu, 16 Sep 2021 07:26 AM (IST)
ISI Terror Module: एटीएस ने यूपी से तीन अन्य आतंकियों को भी दबोचा, कई अन्य पर भी नजर

लखनऊ [राज्य ब्यूरो]। पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी इंटर सर्विसेज इंटेलीजेंस (आइएसआइ) समर्थित माड्यूल के जिन आतंकियों की तलाश में मंगलवार को उत्तर प्रदेश के चार शहरों में ताबड़तोड़ छापेमारी की गई थी, उनके तीन और सक्रिय साथी भी एटीएस के हाथ लगे थे। प्रदेश से मंगलवार को कुल छह आतंकियों को गिरफ्तार किया गया, जिन्हें दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल के हवाले कर दिया गया। एटीएस अब प्रदेश में इस माड्यूल के अन्य सक्रिय सदस्यों की छानबीन कर रही है। प्रदेश में अलर्ट जारी किए जाने के साथ ही कई शहरों में खुफिया इकाइयों को भी सक्रिय किया गया है।

एडीजी कानून-व्यवस्था प्रशांत कुमार का कहना है कि मंगलवार को आतंकी लखनऊ निवासी मु.आमिर जावेद. रायबरेली निवासी मूलचंद्र उर्फ लाला व प्रयागराज निवासी जीशान कमर के अलावा उनके तीन अन्य सक्रिय साथियों को भी दबोचा गया था। इनमें प्रयागराज के करेली निवासी मु.ताहिर उर्फ मदनी, प्रतापगढ़ निवासी मु.इम्तियाज उर्फ कल्लू व रायबरेली के ऊंचाहार निवासी मु.जमील उर्फ जमील खतरी भी शामिल थे। सभी छह आरोपितों से पूछताछ के बाद उन्हें दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल के हवाले कर दिया गया था।

एडीजी का कहना है कि आतंकी साजिश में जमील, इम्तियाज व ताहिर की क्या भूमिका थी, इसकी जांच दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल करेगी। दिल्ली पुलिस से उत्तर प्रदेश में छह आतंकियों के सक्रिय होने की सूचना मिली थी। आतंकियों की लोकेशन व योजना की कोई सटीक जानकारी न होने की वजह से एटीएस व स्पाट (स्पेशल पुलिस आपरेशन टीम) की कई टीमें सक्रिय थीं। मंगलवार को बेहद सावधानी से लखनऊ, प्रयागराज, रायबरेली व प्रतापगढ़ में छापेमारी कर सभी छह आतंकियों को दबोचा गया था। इनकी निशानदेही पर ही प्रयागराज से भारी मात्रा में विस्फोटक व असलहे भी बरामद किए गए थे।

पकड़े गए जीशान कमर ने पाकिस्तान जाकर आतंकी कैंप में विशेष प्रशिक्षण भी हासिल किया था। एटीएस अब जीशान के करीबी रहे अन्य युवकों के बारे में भी छानबीन कर रही है। प्रदेश के सभी प्रमुख स्थलों व भीड़भाड़ वाले स्थानों पर चेकिंग बढ़ाए जाने के साथ ही संदिग्धों पर कड़ी नजर रखे जाने के निर्देश दिए हैं। उल्लेखनीय है कि दिल्ली पुलिस ने मंगलवार को छह आतंकियों को गिरफ्तार दिखाया था, जिनमें जान मु.शेख, ओसामा, मूलचंद्र, जीशान कमर, अबु बकर व मु.आमिर शामिल थे।

इंटरनेट मीडिया से जुड़े तार : एटीएस अधिकारियों का कहना है कि पकड़े गए आरोपित इंटरनेट मीडिया के जरिये कट्टरपंथियों के संपर्क में आए थे, जिसके बाद वे पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी आइएसआइ समर्थित माड्यूल से जुड़ गए। एटीएस अब इंटरनेट मीडिया पर रही इनकी गतिविधियों की भी सिलसिलेवार छानबीन कर रही है। बीते कुछ माह में इनके अधिक संपर्क में रहे युवकों के बारे में भी छानबीन तेज की गई है। उल्लेखनीय है कि इससे पूर्व 11 जुलाई को एटीएस ने लखनऊ से दुर्दांत आतंकी संगठन अलकायदा के समर्थित अंसार गजवातुल ङ्क्षहद माड्यूल के आतंकी मिनहाज व मसीरुद्दीन को गिरफ्तार किया था, जिसके बाद उनके तीन अन्य साथी भी पकड़े गए थे। इस माड्यूल से जुड़े अन्य संदिग्धों की छानबीन अभी चल रही है।

Edited By Umesh Tiwari

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept