जनप्रतिनिधि बदलते रहे लेकिन, ब्लाक की अधूरी रही आस

दो दशकों बाद भी पूरी नहीं हो सकी क्षेत्रवासियों की मांग।

JagranPublish: Fri, 21 Jan 2022 10:13 PM (IST)Updated: Fri, 21 Jan 2022 10:13 PM (IST)
जनप्रतिनिधि बदलते रहे लेकिन, ब्लाक की अधूरी रही आस

संवादसूत्र, औरंगाबाद (लखीमपुर) : लगभग दो दशक पूर्व जब सूबे में भारतीय जनता पार्टी की सरकार थी और मुख्यमंत्री स्वर्गीय बाबू कल्याण सिंह हुआ करते थे। उस वक्त औरंगाबाद के जनसंघ के तत्कालीन विधायक विपिन बिहारी तिवारी के नेतृत्व में क्षेत्रीय जनता की एक आवाज उठी थी वह आवाज थी औरंगाबाद को ब्लाक का दर्जा दिलाने की। तब से अब तक तमाम सरकारों का आना-जाना लगा रहा, लेकिन किसी ने भी पूर्व दो दशक उठाई गई इस मांग को तवज्जो नहीं दी। जिला लखीमपुर की औरंगाबाद बड़ी ग्राम पंचायत है। औरंगाबाद की आबादी लगभग 20 हजार से ऊपर है। सुविधा की ²ष्टि से कस्बे में प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र बालक-बालिकाओं की शिक्षा के लिए चार इंटर कालेज, प्राथमिक व उच्च प्राथमिक विद्यालय, पानी की टंकी, बिजली पावर हाउस, साधन सहकारी समिति, जिला सहकारी बैंक, इलाहाबाद बैंक, एटीएम, बाजार, पुलिस चौकी, ग्राम पंचायत भवन, बस स्टैंड उपलब्ध है। ग्राम पंचायत के पास विकासखंड बनने के लिए पर्याप्त भूमि भी है। यह ग्राम पंचायत जिला मुख्यालय मार्ग से सीधे संपर्क में है। इसको विकास क्षेत्र बनाने की मांग लगातार क्षेत्रवासी करते रहे हैं। यहां से ब्लाक पसगवां की दूरी लगभग 35 किलो मीटर है तथा ब्लाक मितौली की दूरी 20 किलोमीटर है। पूर्ववर्ती सरकारों में जनप्रतिनिधियों के द्वारा क्षेत्रवासियों को विकास क्षेत्र बनने की तमाम बातें किए थे, लेकिन यह वादे पर आज तक कोई भी जनप्रतिनिधि खरा नहीं उतर पाया। किसी ने भी प्रस्ताव राजधानी तक भेजने को मुनासिब नहीं समझा। जिससे क्षेत्रवासियों में रोष व्याप्त है जबकि सूबे में भाजपा की सरकार है। क्षेत्रवासियों को क्षेत्रीय विधायक से ग्राम पंचायत औरंगाबाद को विकास क्षेत्र बनवाने के लिए बढि़या सा मौका है व विधायक कस्ता सौरभ सिंह सोनू ने अपने चुनावी घोषणा पत्र में ग्राम पंचायत औरंगाबाद को विकासखंड बनवाने का वादा भी किया था

--------------------------------

जिम्मेदार की सुनिए औरंगाबाद को विकासखंड बनाने के लिए आवश्यक औपचारिकताएं पूरी कराई जा रही हैं। जल्द ही मुख्यमंत्री से मिलकर बात की जाएगी। मितौली और मैगलगंज को नगर पंचायत का दर्जा दिलाने के लिए शासन को पत्रावली भेज दी गई है। औरंगाबाद को ब्लाक का दर्जा दिलवाया जाएगा।

सौरभ सिंह सोनू, कस्ता विधायक औरंगाबाद क्षेत्र विकास को नई गति मिलेगी। पसगवां और मितौली ब्लाक के कुछ कामों को जोड़कर औरंगाबाद को आसानी से ब्लाक बनाया जा सकता है। जिससे लोगों को दौड़भाग से निजात मिलेगी।

नवाब कल्वे हसन, समाजसेवी

Edited By Jagran

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept