एसडीएम ने छात्रों को मतदान के लिए किया जागरूक

कुशीनगर में मतदाता जागरूकता अभियान तहत विद्यालय के बचों को समझाने के अंदाज में एसडीएम ने पहले प्रश्न पूछे बाद में खुद ही उसका उत्तर भी दिया बचों का बढ़ाया ज्ञान छात्रों के साथ शिक्षक की भूमिका में आए नजर।

JagranPublish: Wed, 01 Dec 2021 12:11 AM (IST)Updated: Wed, 01 Dec 2021 12:11 AM (IST)
एसडीएम ने छात्रों को मतदान के लिए किया जागरूक

कुशीनगर : टेकुआटार क्षेत्र के दुल्हिन जगरन्नाथ कुंवरि इंटरमीडिएट कालेज में मंगलवार को आयोजित मतदाता जागरूकता अभियान में पहुंचे एसडीएम वरुण कुमार पांडेय शिक्षक की भूमिका में नजर आए। लोकतंत्र, निर्वाचन आयोग, मतदान और मतदाताओं के अधिकार से संबंधित प्रश्नों की झड़ी लगाकर बच्चों से उत्तर मांगा। नहीं मिला तो उसकी विस्तार से व्याख्या कर छात्र-छात्राओं को जानकारी दी। ज्ञानवर्धक जानकारी पाकर बच्चे भी काफी खुश नजर आए।

कुशीनगर विधानसभा क्षेत्र के इस विद्यालय में इंदिरा गांधी बालिका इंटरमीडिएट कालेज की छात्राओं को भी बुलाया गया था। कार्यक्रम 18 से 19 वर्ष आयु वर्ग के पुरुष व महिलाओं को निर्वाचक नियमावली में सम्मिलित होने व लोकतंत्र में अधिकार संबंधित जानकारी देना था। उन्होंने पूछा कि चुनाव आयोग का गठन कब हुआ, ग्राम सभा का चुनाव कौन करता है, पहले चुनाव आयुक्त कौन थे, राज्य सभा व लोक सभा में कितनी सीटें होती हैं आदि सवालों के बारे में पूछा तो मात्र एक छात्रा ने चुनाव आयोग के गठन से संबंधित सवाल का जवाब दिया। शेष सवालों का जवाब एसडीएम ने खुद बच्चों को दिया। कहा कि लोकतंत्र में मतदाताओं को अपने पसंद की सरकार चुनने का अधिकार है। देश के विकास में युवा वर्ग का अहम रोल होता है। एसडीएम ने गांव के लोगों को भी इस अभियान में जुड़ने के लिए प्रेरित किया। बच्चों ने भी हाथ उठाकर प्रतिबद्धता जताई। संचालन रजिस्ट्रार कानूनगो राजन मिश्र ने किया। प्रधानाचार्य सुरेश सिंह, लेखपाल धर्मेंद्र प्रताप सिंह, त्रिभुवन राव, सुबास यादव, दुर्गेश राव, उपेंद्र पांडेय, गोपीनाथ, राजेंद्र सिंह, अहमत अली, जयप्रकाश मिश्र, महंथ गुप्ता, बैरिष्टर, फिरोज, निधि राव, अब्बुल हसन आदि उपस्थित रहे।

डाटा बेस तैयार करने के निर्देश

जिला निर्वाचन अधिकारी एस राजलिगम ने कहा है कि विधानसभा सामान्य निर्वाचन 2022 हेतु आनलाइन इलेक्शन पर्सनल रिप्लाईमेंट सिस्टम जो एनआइसी डोमेन में उपलब्ध है, का संबंधित अधिकारी भलीभांति अध्ययन कर लें और मतदान कार्मिकों के डाटा बेस के लिए प्रोफार्मा से संबंधित प्रपत्र पर सभी विभागाध्यक्षों के नोडल अधिकारियों को इस साफ्टवेयर की जानकारी दें।

दो दिसंबर को कलेक्ट्रेट सभागार में आयोजित प्रशिक्षण हेतु आवश्यक डाटाबेस तैयार करने की कार्रवाई शीघ्र पूरी की जाएगी। जिला निर्वाचन अधिकारी ने सीडीओ, जिला सूचना विज्ञान अधिकारी, पीडी, जिविनि व बीएसए को प्रशिक्षण कराने हुए डाटा बेस तैयार करने के निर्देश दिए हैं।

Edited By Jagran

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept