यहां तो मुश्किल है रेलवे लाइन पार करना

कुशीनगर बावली चौक स्थित रेल लाइन पार करना जोखिम भरा साबित हो रहा है। रेल लाइन के अगल-

JagranPublish: Thu, 29 Oct 2020 12:01 AM (IST)Updated: Thu, 29 Oct 2020 12:01 AM (IST)
यहां तो मुश्किल है रेलवे लाइन पार करना

कुशीनगर: बावली चौक स्थित रेल लाइन पार करना जोखिम भरा साबित हो रहा है। रेल लाइन के अगल-बगल की गिट्टियों के उखड़ जाने से एक से डेढ़ फिट गहरे गड्ढे बन गए हैं। यह समस्या पिछले तीन महीने से है, अब तक कई लोग गिरने से घायल हो चुके हैं, फिर भी जिम्मेदार इसे लेकर सजग नहीं दिख रहे।

तीन दिन पहले जगदीशपुर निवासी 50 वर्षीय लल्लन पत्नी अमरावती को दिखाने साइकिल से जिला अस्पताल जा रहे थे। रेल लाइन पहुंचे तो अचानक अनियंत्रित होकर साइकिल गिर गई। लल्लन बाल-बाल बच गए, लेकिन पैर में चोट आने से पत्नी अमरावती घायल हो गईं। आस-पास के लोगों ने बताया कि रात के समय तो साइकिल सवार व बाइक चालकों के लिए रेल लाइन पार करना खतरे से कम नहीं है। अक्सर लोग यहां गिर कर घायल होते हैं। इसे लेकर लोनिवि व अधीक्षक पडरौना रेलवे स्टेशन को पत्र दिया गया पर सुनवाई नहीं हुई। यह क्षेत्र नगर पालिका पडरौना में आता है। नपा भी इसे लेकर गंभीर नहीं है। क्षेत्र के देवेश मिश्र ने कहा कि साइकिल, बाइक के अलावा चार पहिया वाहनों के आने-जाने में भी दिक्कत हो रही है। विजय पांडेय ने कहा कि रेल लाइन किनारे बने गड्ढे से चार पहिया वाहनों के भी पलटने की आशंका बनी हुई है। जिम्मेदारों को चाहिए कि समस्या का शीघ्र समाधान कराएं।

Edited By Jagran

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept