सर्द हवाओं के आगे बेबस दिखी धूप

कुशीनगर में ठंड का प्रकोप बढ़ गया है दिन ढलते ही तेजी से तापमान गिरने लगा इस वजह से लोग घरों में दुबक गए सार्वजनिक स्थलों बस व रेलवे स्टेशनों पर अलाव न जलने की वजह से यात्री ठिठुरते रहे।

JagranPublish: Mon, 17 Jan 2022 12:11 AM (IST)Updated: Mon, 17 Jan 2022 12:11 AM (IST)
सर्द हवाओं के आगे बेबस दिखी धूप

कुशीनगर: सर्द हवाओं के चलते रविवार को धूप पूरी तरह बेबस दिखी। खिली धूप के बीच लोग ठिठुरने को मजबूर रहे। अधिकतम तापमान 20 से 18 डिग्री सेल्सियस पहुंच गया, जबकि न्यूनतम तापमान आठ रहा। ऐसे में धूप के बीच ठंड का कहर बना रहा।

सुबह घने कोहरे के बीच धूप निकली तो लगा कि ठंड से राहत मिलेगी। ऐसा हुआ नहीं, सर्द हवाओं ने धूप को बेबस कर दिया। धूप में राहत लेने के लिए घरों से निकले लोग वापस लौट गए। क्योंकि ठंडी हवाओं ने उन्हें सिहरने पर मजबूर कर दिया। धूप ढलने के बाद यह हवा पूरी तरह से कहर ढाने लगी। जानलेवा बनी ठंड से राहत को लोग तेजी से घरों की ओर चल दिए तो सड़कें खाली व चौक-चौराहों पर सन्नाटा पसर गया। दुकानों पर ग्राहक न के बराबर दिखे। रात तक खुलने वाली दुकानों का शटर भी समय से पहले ही गिर गया। गांवों में लोग आग जलाकर राहत लेने में जुटे तो ठंडी हवा ने वहां भी पूरी तरह से राहत नहीं मिलने दी और लोग घरों में दुबकने को मजबूर हो गए। कस्बा या ग्रामीण क्षेत्रों में घर से बाहर निकलना जिनकी मजबूरी थी, अपने को पूरी तरह गरम कपड़ों से ढंक कर निकले। काम समाप्त होते ही बिना देर किए घर लौट गए। लोगों का कहना है कि इतनी ठंडक के बावजूद नगरीय व ग्रामीण इलाकों में अलाव की व्यवस्था नहीं की जा रही है। प्रशासन भी इस तरफ ध्यान नहीं दे रहा है। रात में ट्रेन और बसों से उतरने वाले लोग ठिठुरने को मजबूर हो रहे हैं। प्रमुख चौक-चौराहों, रोडवेज बस स्टैंड व रेलवे स्टेशन परिसर में भी अलाव की व्यवस्था नहीं है। मौसम विज्ञानी श्रुति वाई सिंह का कहना था कि हवा ठंड को रात में और बढ़ाएगी, इसलिए सावधानी बरतने की जरूरत है।

एडीएम देवीदयाल वर्मा ने कहा कि नगरीय क्षेत्रों में रैन बसेरा की व्यवस्था के साथ नियमित अलाव जलाने का निर्देश दिया गया है। अगर लापरवाही की जा रही है तो इसकी जांच होगी, दोषी लोगों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

तीन दिन में ऐसे घटा तापमान

दिन अधिकतम न्यूनतम

शुक्रवार- 21 8

शनिवार- 20 9

रविवार - 18 8

Edited By Jagran

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept