This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.
OK

आज घर-घर विराजेंगी मां दुर्गा, मंदिरों में लगेंगे जयकारे

जागरण संवाददाता कानपुर देहात चैत्र नवरात्र का शुभारंभ आज से हो रहा और आदिशक्ति मां

JagranMon, 12 Apr 2021 06:16 PM (IST)
आज घर-घर विराजेंगी मां दुर्गा, मंदिरों में लगेंगे जयकारे

जागरण संवाददाता, कानपुर देहात : चैत्र नवरात्र का शुभारंभ आज से हो रहा और आदिशक्ति मां दुर्गा घर-घर विराजेंगी और भक्तों का कल्याण करेंगी। मंदिरों से लेकर घर तक मां के प्रथम स्वरूप शैलपुत्री का पूरे विधिविधान से पूजन होगा। भक्तों ने पहले ही पूजन सामग्री लेकर रख ली तो घर की सफाई की। इसी तरह मंदिरों में भी व्यवस्था व सजावट का इंतजाम किया गया।

अकबरपुर के कालिका देवी मंदिर के बाहर सजी पूजन सामग्री की दुकानों में सुबह से ही लोगों ने खरीदारी की। नारियल, हवन सामग्री, चुनरी, माता की मूर्ति व तस्वीर के साथ ही फूल माला खरीदे। घरों की साफ सफाई व धुलाई का का भी घरों में किया गया। बड़ों के साथ बच्चे भी जुटे रहे। रसूलाबाद धर्मगढ़ बाबा मंदिर में भी मंदिर को धुलकर साफ किया गया व फूल माला से सजाया गया। धर्मगढ़ बाबा सत्संग मंडल अध्यक्ष रामकिशोर मिश्रा, महामंत्री मिथिलेश बाजपेयी व राम सिंह यादव ने बताया कि तैयारियों को अंतिम रूप दिया जा रहा है और भक्तों के हिसाब से यहां व्यवस्था रहेगी। यमुना तटवर्ती गांव कथरी स्थित मां कात्यायनी देवी मंदिर, ज्योती गांव स्थित मां बगलामुखी मंदिर, लमहरा रूरा के ऐतिहासिक परहुल देवी मंदिर, रसूलाबाद के लाला भगत स्थित मां कौमारी देवी मंदिर, मूसानगर के मां मुक्तेश्वरी देवी मंदिर सहित जिले के प्रमुख पौराणिक देवी मंदिरों में सजावट का कार्य सोमवार देर शाम तक जारी रहा। एसपी केशव कुमार चौधरी ने बताया कि सुरक्षा व्यवस्था का इंतजाम मंदिरों में रहेगा और मातहतों को इसके लिए कड़े निर्देश दिए गए हैं।

कलश स्थापना को बिके घट

कलश स्थापना के लिए दुकानों में 20 रुपये से लेकर 50 रुपये तक घट बिका। इसे खरीदने के बाद चावल व रंग गुलाल से कई घरों में कलश की सजावट की गई।

कानपुर देहात में कोरोना वायरस से जुडी सभी खबरे

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!