This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.
OK

बैंक लूट में हफ्ते भर की फुटेज खंगाली, सर्विलास में कई नंबर संदिग्ध

पुलिस की टीमें नौबस्ता, बिधनू, घाटमपुर क्षेत्र में दे रहीं दबिश, सुतली बम बनाने वालों को भी पुलिस ने उठाया, पूछताछ जारी

JagranSat, 04 Aug 2018 01:27 PM (IST)
बैंक लूट में हफ्ते भर की फुटेज खंगाली, सर्विलास में कई नंबर संदिग्ध

जागरण संवाददाता, कानपुर : नौबस्ता के हंसपुरम स्थित बड़ौदा ग्र्रामीण बैंक में बमबाजी कर साढ़े चार लाख रुपये लूटने वाले शातिरों की तलाश में पुलिस टीमें नौबस्ता, बिधनू व घाटमपुर में दबिश दे रही हैं। अफसरों ने बैंक के सात दिन पुराने सीसीटीवी फुटेज भी जुटा लिए हैं। वहीं सर्विलास की मदद से पुलिस को अहम सुराग मिले हैं। जल्द ही वारदात के खुलासे की उम्मीद जताई जा रही है। सुतली बम बनाने वाले कई व्यक्तियों को भी पुलिस ने उठाकर पूछताछ शुरू की है।

बड़ौदा ग्र्रामीण बैंक में शुक्त्रवार दोपहर बदमाशों ने एक के बाद एक छह सुतली बम फोड़कर कैश काउंटर से नकदी लूट ली थी। राहगीरों ने जब उनका पीछा किया तो उन्होंने फिर बम फेकें और लोगों पर फायड्क्षरग करते हुए फरार हो गए थे। एसएसपी ने घटना के खुलासे के लिए आठ टीमें लगाई थीं। शनिवार सुबह इन टीमों ने नौबस्ता के मछरिया व गढ़ी में सुतली बम बनाने वाले आधा दर्जन कारीगरों को उठा लिया। वहीं हाल में जेल से छूटे पाच शातिरों को भी पूछताछ के लिए थाने बुलाया गया। बिधनू व नौबस्ता के दो गिरोहों की भी तलाश में दबिश दी जा रही है।

सीसीटीवी कैमरे में जो लुटेरा कैद हुआ था, उससे मिलते जुलते हुलिये के दो बदमाशों की भी तलाश हो रही है। सीओ गोविंदनगर ने बताया कि सर्विलास से अहम सुराग मिले हैं। बैंककर्मी भी जाच के दायरे में

पुलिस बैंक के कर्मचारियों को भी जाच के दायरे में रख रही है। कई लोगों के मोबाइल की कॉल डिटेल निकलवाई जा रही है। घटना के वक्त हर शख्स की भूमिका भी देखी जा रही है। माना जा रहा है कि बैंक में कैश आने की जानकारी बदमाशों को पहले से थी। इसलिए उन्होंने घटना का वक्त पौने दो बजे चुना। पोटैशियम नाइट्रेट से बना था बम

बैंक के अंदर और भागते वक्त बदमाशों ने जो बम फोड़े थे। वह देसी सुतली बम थे। जाच में सामने आया कि यह बम पोटैशियम नाइट्रेट, कलमी शोरा और चारकोल को मिलाकर बनाए गए थे। अमूमन ये बम घरों में तैयार किए जाते हैं। नौबस्ता के मछरिया में ये बम बनाने वाले कई कारीगर हैं।

Edited By Jagran

कानपुर में कोरोना वायरस से जुडी सभी खबरे

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!