करोड़ों की ठगी कर चुका कानपुर का नटवरलाल परिवार, लखनऊ और नोएडा में भी फंसाए शिकार

कानपुर में रहने वाला नटवरलाल परिवार में शामिल पति-पत्नी बेटा और बेटी संग मिलकर शिकार फंसाते और ठगी की घटनाओं को अंजाम देते थे। पनकी में रिटायर्ड एयरपोर्ट कर्मी की बेटी से 35 लाख रुपये समेत करोड़ों की ठगी कर चुके हैं।

Abhishek AgnihotriPublish: Sat, 29 Jan 2022 01:50 PM (IST)Updated: Sat, 29 Jan 2022 01:50 PM (IST)
करोड़ों की ठगी कर चुका कानपुर का नटवरलाल परिवार, लखनऊ और नोएडा में भी फंसाए शिकार

कानपुर, जागरण संवाददाता। नौकरी या व्यापार का प्रलोभन देकर लोगों से लाखों रुपये की ठगी करके फुर्र हो जाने वाले नटवरलाल परिवार को आखिर पनकी पुलिस और क्राइम ब्रांच ने पकड़ लिया। इस परिवार ने पनकी में एक रिटायर्ड एयरफोर्स कर्मी की बेटी से 35 लाख रुपये ठग लिए थे। पूछताछ में आरोपित परिवार द्वारा प्रदेश के कई जिलों में ठगी की घटनाएं सामने आई हैं। हालांकि उन्होंने केवल लखनऊ व नोएडा की घटनाएं कबूल की हैं।

एयरफोर्स के रिटायर्ड कर्मचारी मिथलेश त्रिवेदी की बेटी शिखा ने पनकी थाने में 35 लाख रुपये की धोखाधड़ी का मुकदमा दर्ज कराया था। शिखा के मुताबिक नौ माह पूर्व राहुल सिंह, पत्नी रेखा चौहान, बेटे यश उर्फ अमन व बेटी यासिका उर्फ ङ्क्षप्रसी के साथ अपार्टमेंट के एक फ्लैट में किराये पर रहने आए थे। इस परिवार ने पनकी की रतनपुर कालोनी में एक बुटीक खोला और महंगी ड्रेस व अन्य उत्पादों का डिस्प्ले दिखाया। इसके बाद राहुल सिंह व उनके परिवार ने मेलजोल बढ़ाकर बुटीक में माल सप्लाई करने के लिए वर्कशाप खोलने का प्रलोभन दिया और कई बार में 35 लाख रुपये ठग लिए।

पिछले साल 23 सितंबर को परिवार फ्लैट पर ताला डाल कर फरार हो गया। आरोपितों ने अपना बुटीक भी बंद कर दिया था। अपार्टमेंट व आसपास रहने वाले तीन और परिवारों से नौकरी के नाम पर राहुल द्वारा लाखों की ठगी किए जाने का आरोप शिखा ने लगाया गया था। डीसीपी पश्चिम बीबीजीटीएस मूर्ति ने बताया कि पीडि़ता की तहरीर पर मुकदमा दर्ज कर राहुल सिंह, उसकी पत्नी व बच्चों को गिरफ्तार कर लिया गया है। कहीं व्यापारी, कहीं उद्यमी, कहीं बैंक में उच्चाधिकारी तो कहीं उच्च प्रशासनिक अफसर बनकर ये लोग ठगी करते थे। पैसा समेटकर शहर छोड़ देते थे। पुलिस पूछताछ कर रही है।

Edited By Abhishek Agnihotri

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept