कोरोना की कम सैंपलिंग पर चला चाबुक, कानपुर की सात सीएचसी के अधीक्षकों को नोटिस

कानपुर में बढ़ते कोरोना संक्रमण के बीच सैंपलिंग को बढ़ाने के निर्देश दिए गए थे। लेकिन इसमे शहर की कई सीएचसी पीछे रह गई हैं। लक्ष्य को पूरा न करने वाले सात सीएचसी अधीक्षकों को सीएमओ ने नोटिस जारी कर जवाब तलब किया है।

Abhishek VermaPublish: Tue, 18 Jan 2022 04:09 PM (IST)Updated: Tue, 18 Jan 2022 04:09 PM (IST)
कोरोना की कम सैंपलिंग पर चला चाबुक, कानपुर की सात सीएचसी के अधीक्षकों को नोटिस

कानपुर, जागरण संवाददाता। कोरोना की लक्ष्य से कम सैंपलिंग पर सात सीएचसी अधीक्षकों को नोटिस जारी किया गया है। दरअसल, कोरोना के नए वैरिएंट ओमिक्रोन का संक्रमण तेजी से फैल रहा है। ऐसे में शासन ने अधिक से अधिक संक्रमितों को चिह्नित कर उन्हें आइसोलेट करने का निर्देश दिया है। इसके लिए सैंपलिंग बढ़ाने पर जोर है। सभी सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र (सीएचसी) को आरटीपीसीआर और रैपिड एंटिजन टेस्ट का लक्ष्य निर्धारित किया गया है। इसके बावजूद सात सीएचसी लक्ष्य हासिल करने में असफल रहीं।

जिले में अधिक से अधिक सैंपलिंग के निर्देश के बाद सीएमओ ने जिले के 10 सीएचसी में आरटीपीसीआर जांच और रैपिड एंटिजन टेस्ट की संख्या निर्धारित कर दी है। प्रत्येक सीएचसी के अधीक्षक को अपने क्षेत्र में प्रतिदिन 100 लोगों की आरटीपीसीआर और इतने ही लोगों की रैपिड एंटीजन जांच करानी है। 15 और 16 जनवरी यानी लगातार दो दिन तक सीएचसी सरसौल, घाटमपुर, चौबेपुर, बिधनू, शिवराजपुर, बिल्हौर एवं कल्याणपुर में आरटीपीसीआर और एंटीजन जांच लक्ष्य से कम हुई। इस पर सीएमओ डा. नैपाल सिंह ने इन सीएचसी के अधीक्षकों को नोटिस जारी किया है। भविष्य में लापरवाही बरतने पर स्पष्टीकरण भी मांगा जा सकता है।

Edited By Abhishek Verma

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept