जीएसवीएम मेडिकल कालेज हास्पिटल में एसीएम और जूनियर डाक्टरों में झड़प, ईएमओ ने कराया शांत

सड़क हादसे में घायल लिपिक को लेकर एसीएम जीएसवीए मेडिकल कालेज के एलएलआर अस्पताल लेकर पहुंचे थे । आन काल नेत्र रोग विभाग के डाक्टर के आने में विलंब होने पर बार-बार पूछने पर जूनियर डाक्टर भड़क गए।

Abhishek AgnihotriPublish: Mon, 24 Jan 2022 09:42 AM (IST)Updated: Mon, 24 Jan 2022 09:42 AM (IST)
जीएसवीएम मेडिकल कालेज हास्पिटल में एसीएम और जूनियर डाक्टरों में झड़प, ईएमओ ने कराया शांत

कानपुर, जागरण संवाददाता। जीएसवीएम मेडिकल कालेज के एलएलआर अस्पताल (हैलट) की इमरजेंसी में रविवार देर रात हादसे में घायल लिपिक के इलाज को लेकर एसीएम-थ्री और सर्जरी विभाग के जूनियर डाक्टरों के बीच झड़प हो गई। हालांकि घायल लिपिक की जूनियर डाक्टरों ने अटेंड कर लिया था, लेकिन आंख और माथे के बीच चोट लगने की वजह पर नेत्र रोग विभाग के आन काल डाक्टर को बुलाया था। उसके आने तक बार-बार जाकर जूनियर डाक्टरों से पूछने लगे। इस पर जूनियर डाक्टर भड़क गए और दोनों में बहस होने लगी। ड्यूटी पर मौजूद इमरजेंसी मेडिकल अफसर (ईएमओ) ने बीच-बचाव कर शांत कराया, लेकिन एसीएम अपने लिपिक को वहां से लेकर चले गए।

एसीएम-थ्री जिया लाल सरोज का लिपिक विवेक पांडेय का गंगा बैराज के पास सड़क हादसे में रविवार देर रात घायल हो गए थे। उन्हें इलाज के लिए एलएलआर इमरजेंसी लाया गया। उनका आरोप है कि सुनवाई नहीं होने पर एसीएम को अवगत कराया। वह इमरजेंसी पहुंच गए। उनके लिपिक इमरजेंसी के माइनर आपरेशन थियेटर में थे, जहां सर्जरी के जूनियर डाक्टरों ने प्राथमिक उपचार कर दिया था। उनके घाव भी साफ कर दिए थे। आंख के पास लगी चोट के लिए नेत्र रोग विभाग के आन काल डाक्टर को फोन करके बुलाया गया था। इस बीच जूनियर डाक्टरों के पास बार-बार जाकर पूछना शुरू कर दिया, जिससे जूनियर डाक्टर भड़क गए। दोनों के बीच बहस होने लगी।

घायल के इलाज को लेकर एसीएम-थ्री और सर्जरी के जूनियर डाक्टरों के बीच बहस हुई है। बीच-बचाव कर शांत करा दिया था। नेत्र रोग विभाग के आन काल डाक्टर के आने में विलंब होने पर एसीएम नाराजगी जाहिर करते हुए बार-बार जाकर पूछ रहे थे। इस वजह से दूसरे मरीजों के इलाज में दिक्कत हो रही थी। नेत्र रोग के डाक्टर को बिना दिखाएं ही एसीएम अपना मरीज लेकर चले गए। उन्हें किसी प्रकार की अभद्रता और धक्का मुक्की नहीं हुई है। -डा. अनुराग राजोरिया, ईएमओ, एलएलआर इमरजेंसी।

Edited By Abhishek Agnihotri

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept