जागरण विमर्श 2021: फतेहपुर का गौरवशाली अतीत सहेजने और भविष्य संवारने को शुरू हुआ मंथन

शहर के वीआइपी रोड स्थित होटल रामाडियन में आयोजित कार्यक्रम में जनपद को विकास की बुलंदियों पर पहुंचाने के लिए होने वाले प्रयासों पर चर्चा होगी। दो महानगरों के बीच पिछड़ेपन की कसक कैसे दूर हो इसके लिए समग्र विकास का संकल्प जिले को नई दिशा देगा।

Shaswat GuptaPublish: Fri, 03 Dec 2021 07:30 AM (IST)Updated: Fri, 03 Dec 2021 02:14 PM (IST)
जागरण विमर्श 2021: फतेहपुर का गौरवशाली अतीत सहेजने और भविष्य संवारने को शुरू हुआ मंथन

फतेहपुर, गोविंद दुबे। कहते हैं कि इरादे मजबूत हों तो सफलता कदम चूमती है। पिछड़े जनपद को विकास की राह पर लाने की चाहत जागी तो तस्वीर बदलने लगी। ऐतिहासिक व पौराणिक महत्व रखने वाले गंगा-यमुना के दोआबा की इस पावन धरा पर अतीत को सहेजने के साथ भविष्य को संवारने के प्रयासों ने रफ्तार पकड़ी है। सुहाने सफर के लिए नदियों पर पुल व मेडिकल कालेज जैसी उपलब्धियां हासिल हुईं तो गंगा-यमुना की कटरी के विकास, रोजगार व युवाओं के बेहतर करियर के लिए कदम बढ़े हैं। उम्मीदों व संकल्पों के साथ विकास को गति मिले, इसी परिकल्पना को साकार करने के लिए दैनिक जागरण की ओर से शुक्रवार को जागरण विमर्श का आयोजन किया जा रहा है। सुबह 10 से शाम चार बजे तक होने वाले इस कार्यक्रम में जिले के नव सृजन की राह मजबूत होगी।

शहर के वीआइपी रोड स्थित होटल रामाडियन में आयोजित कार्यक्रम में जनपद को विकास की बुलंदियों पर पहुंचाने के लिए होने वाले प्रयासों पर चर्चा होगी। दो महानगरों के बीच पिछड़ेपन की कसक कैसे दूर हो, इसके लिए समग्र विकास का संकल्प जिले को नई दिशा देगा। कार्यक्रम का शुभारंभ कारागार राज्यमंत्री जयकुमार जैकी करेंगे। उनके साथ सदर विधायक विक्रम ङ्क्षसह व जिला पंचायत अध्यक्ष अभय प्रताप सिंह भविष्य की उम्मीदों पर चर्चा करेंगे। पहले सत्र में गंगा-यमुना के विकास व धरोहरों के संरक्षण पर स्वामी विज्ञानानंद, इतिहासकार डा.ओपी अवस्थी, महात्मा गांधी महाविद्यालय के प्राचार्य डा. ओंकारनाथ द्विवेदी, चंददास शोध संस्थान के निदेशक डा.चंद्र कुमार पांडेय, शिक्षाविद शिवशरण सिंह चौहान अंशुमाली विचार रखेंगे। दूसरे सत्र में शैक्षिक गतिविधियों को निखार कर युवाओं का करियर कैसे बेहतर किया जाए, इस पर चर्चा होगी। प्रयागराज-झांसी खंड क्षेत्र के शिक्षक विधायक सुरेश त्रिपाठी, आइईएस अभिषेक नमन, अमर शहीद जोधा ङ्क्षसह अटैया ठा. दरियाव ङ्क्षसह मेडिकल कालेज के प्राचार्य डा. आरपी ङ्क्षसह इस दिशा मेंं होने वाले प्रयासों पर चर्चा कर संभावनाएं तलाशेंगे। 

कृषि ग्रामीण स्वास्थ्य एवं बेसहारा गोवंश को लेकर आने वाली समस्याओं और उनके निदान के लिए होने वाले प्रयासों की जानकारी देने के लिए तीसरे सत्र में खाद्य एवं रसद राज्यमंत्री रणवेंद्र प्रताप सिंह उर्फ धुन्नी, ङ्क्षबदकी विधायक करण सिंह पटेल, अयाह-शाह विधायक विकास गुप्त, भाजपा जिलाध्यक्ष आशीष मिश्र उपस्थित रहेंगे। विमर्श के माध्यम से आमजन अपनी बात प्रशासनिक अधिकारियों तक पहुंचा सकें, इसके लिए समापन सत्र में जिलाधिकारी अपूर्वा दुबे, पुलिस अधीक्षक राजेश कुमार सिंह, मुख्य विकास अधिकारी सत्यप्रकाश दोपहर तीन बजे से शाम चार बजे तक साथ रहेंगे। 

गंगा व यमुना पवित्र नदियों के बीच बसे जनपद की 30 लाख की आबादी की आबादी मेें विकास को लेकर कसमसाहट बनी हुई है। बुंदेलखंड जैसे हालातों से जूझ रहे यमुना कटरी में विकास बड़ी चुनौती बना है। इस क्षेत्र में रोजगार के अवसर सृजित कर कैसे पलायन रोका जाए, इसके लिए सार्थक प्रयासों की जरूरत है। जागरण के इस विमर्श कार्यक्रम में इन समस्याओं पर चिंतन व मंथन होगा और नई दिशा की ओर बढऩे के प्रति सजगता बढ़ेगी। जिले का अतीत गौरवशाली है। 

अश्वनीकुमारों की नगरी असनी की बात करें या फिर महर्षि भृगु की तपोस्थली भिटौरा की, छोटी काशी कहे जाने वाले शिवराजपुर के मीरा के गिरधर गोपाल के मंदिर जैसे स्थल पौराणिक महत्व को बढ़ा रहे हैं। प्रथम स्वतंत्रता संग्राम आंदोलन के अमर शहीद जोधा सिंह अटैया, ठा. दरियाव सिंह, डिप्टी कलेक्टर हिकमत उल्ला, बाबा गयादीन दुबे जैसे क्रांतिवीरों ने पराक्रम की जो पटकथा लिखी उसे सहेजने व संवारने की महती जरूरत है। मंथन के जरिए इन्हें पर्यटन के नक्शे पर लाकर रोजगार सहित विकास के द्वार खोलेगा।

Edited By Shaswat Gupta

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept