Health Tips: तीन दिन में बुखार न उतरे तो जरूर कराएं डेंगू की जांच, पढ़िए- सवालों पर डॉक्टर के जवाब

दैनिक जागरण के हैलो डाक्टर कार्यक्रम में जीएसवीएम मेडिकल कालेज के मेडिसन विभाग के एसोसिएट प्रोफेसर डा. सौरभ अग्रवाल ने कालर के सवालों का जवाब देकर डेंगू पर बचाव की जानकारी दी। बुखार में लापरवाही से खतरा बढ़ सकता है।

Abhishek AgnihotriPublish: Thu, 07 Oct 2021 10:51 AM (IST)Updated: Thu, 07 Oct 2021 10:51 AM (IST)
Health Tips: तीन दिन में बुखार न उतरे तो जरूर कराएं डेंगू की जांच, पढ़िए- सवालों पर डॉक्टर के जवाब

कानपुर, जेएनएन। डेंगू भी सामान्य बुखार की तरह की है, लेकिन इसमें लापरवाही भारी पड़ती है। कोई भी तेज बुखार जो तीन दिन से लगातार है, साथ ही कमजोरी महसूस हो रही है। ऐसे में डेंगू की जांच जरूर कराएं। यह बात दैनिक जागरण के हैलो डाक्टर में पाठकों के सवालों के जवाब देते हुए जीएसवीएम मेडिकल कालेज के मेडिसिन विभाग के एसोसिएट प्रोफेसर डा. सौरभ अग्रवाल ने कही।

दो वर्ष के बच्चे को बुखार है, क्या करें? अन्नपूर्णा पांडेय, ख्योरा नवाबगंज।

- अगर बच्चे को तीन दिन से बुखार है तो बाल रोग विशेषज्ञ को दिखाएं। उनकी देखरेख में ही इलाज कराएं। एलएलआर के बाल रोग में 24 घंटे डाक्टर उपलब्ध रहते हैं।

डेंगू से निपटने की जिला प्रशासन व स्वास्थ्य विभाग की क्या रणनीति है? अमित त्रिपाठी, रावतपुर।

- मेडिकल कालेज ने डेंगू और मलेरिया से बचाव के सुझाव से स्वास्थ्य विभाग के माध्यम से जिला प्रशासन को अवगत करा दिया है। स्वास्थ्य विभाग डेंगू की जांच करा रहा है और एंटी लावा स्प्रे करा रहा है। नगर निगम शहर की सफाई, फाङ्क्षगग और छिड़काव करा रहा है।

बुखार के साथ ही पैरों में दर्द की समस्या है? उमा त्रिवेदी, पनकी।

- घबराएं नहीं, यह सामान्य बुखार है। आर्थोपेडिक विशेषज्ञ को दिखाएं। उनकी सलाह पर इलाज कराएं।

डेंगू व मलेरिया के लक्षण क्या हैं, बचाव कैसे करें? मिथिलेश यादव, ग्वालटोली

- दोनों में तेज बुखार आता है। मलेरिया में ठंड के साथ कंपकपी भी होती है। मलेरिया का बुखार उतरने में पसीना अधिक आना, जबकि डेंगू के बुखार में शरीर में चकत्ते पडऩे लगते हैं। प्लेटलेट््स काउंट तेजी से गिरने पर डेंगू की गंभीर स्थिति होने लगती है, मसूड़े व नाक से खून आने लगता है। मच्छरों से बच कर रहें। इसके लिए घर के आसपास की साफ सफाई रखें। जलभराव न होने दें। पूरी बांह के कपड़े पहनें। मच्छरदानी का उपयोग करें।

सामान्य खांसी-बुखार के साथ सिर में दर्द है, क्या करें? राकेश कुमार, पनकी।

- आपकी सांस नली में संक्रमण लग रहा है। बिना विलंब किए एलएलआर अस्पताल की फ्लू ओपीडी में दिखाएं। कोविड की जांच भी जरूर कराएं।

सप्ताह भर पहले बुखार आया था, अब बलगम आ रहा है? रजनीश मिश्रा, लाल बंगला।

- धूल, धुएं एवं प्रदूषण से बच कर रहें। गर्म पानी का सेवन करें। दिन में तीन बार गुनगुने पानी में नमक डालकर गरारा भी करें।

घर के अंदर पानी में मनीप्लांट लगा है, क्या इसमें मच्छर पनप सकते हैं? छाया गुप्ता, स्वरूप नगर।

- हां, मच्छर पनप सकते हैं। बेहतर होगा कि दूसरे-तीसरे दिन पानी बदलती रहें।

डेंगू के लक्षण : तेज बुखार, आंखों, सिर व बदन में दर्द, शरीर में चकत्ते पडऩा।

डेंगू के गंभीर लक्षण : बुखार उतरने के बाद अगर पेट में दर्द, तीन से चार बार उल्टी आना, नाक और मसूड़ों से खून, उल्टी व शौच में खून व थकावट।

मलेरिया के लक्षण : ठंड देकर बुखार आना, सिर में दर्द, बदन दर्द, बुखार उतरने पर अधिक पसीना, कई बार मलेरिया में पेशाब में खून भी आने लगता, कमजोरी व चक्कर भी आते हैं।

ये बरतें सतर्कता : डेंगू, मलेरिया व बुखार होने पर आराम करें। पैरासिटामाल का प्रयोग करें। एस्प्रिन व दर्द निवारक दवाओं का सेवन न करें।

Edited By Abhishek Agnihotri

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept