गुजैनी में सड़क किनारे 22 फीट गड्ढे में गिरा बाइक सवार

गुजैनी में जलकल अधिकारियों की लापरवाही से शुक्रवार रात बाइक सवार गड्ढे में गिर गया।

JagranPublish: Sun, 23 Jan 2022 02:19 AM (IST)Updated: Sun, 23 Jan 2022 02:19 AM (IST)
गुजैनी में सड़क किनारे 22 फीट गड्ढे में गिरा बाइक सवार

जागरण संवाददाता, कानपुर : गुजैनी में जलकल अधिकारियों की लापरवाही से शुक्रवार रात बाइक सवार युवक बीच सड़क पर खुले 22 फीट गहरे पानी भरे गड्ढे में गिर गया। गनीमत रही कि वह तैरना जानता था तो ऊपर आ गया। इसके बाद लोगों ने बाहर निकाला। शनिवार सुबह जलकल टीम ने युवक की बाइक निकलवाई और गड्ढे के तीनों तरफ बैरीकेडिग लगाई।

गुजैनी ई-ब्लाक स्थित वाटर व‌र्क्स के बगल की सड़क से करीब 22 फीट नीचे सीवर लाइन गुजरी है, जबकि 12 फीट पर पेयजल की फीडर लाइन पड़ी है। बुधवार देर रात फीडर लाइन का ज्वाइंट खुलने से पानी तेज प्रेशर में बहने लगा। पानी के प्रेशर से नीचे से गुजरी सीवर लाइन तक क्षतिग्रस्त हो गई थी। जलकल टीम ने उसे बनाने के लिए बीच सड़क पर करीब 22 फीट गहरा व 12 फीट चौड़ा गड्ढा खोदा था, लेकिन सुरक्षा के लिए किसी तरह की बैरीकेडिग और टिन शेड नहीं लगाई गई। टीम ने दो दिन में उसकी मरम्मत होने के इंतजार में गड्ढे को खुला रहा था। शुक्रवार देर रात सड़क पर अंधेरा होने से बर्रा शिवनगर बस्ती निवासी डिलीवरी ब्वाय विवेक मौर्या बाइक समेत गड्ढे में गिर गया। गहरे गड्ढे से वह किसी तरह से तैरकर ऊपर आया और शोर मचा मदद मांगी। सामने मकान में रहने वाले लोग पहुंचे और उसे बाहर निकाला और दूसरे कपड़े पहनने को दिए। विवेक ने परिचित राहुल तिवारी को बुलाया और उसकी बाइक से घर गया।

--------

जिम्मेदार बोले

लापरवाही बरतने वाले अफसरों व कर्मचारियों को बख्शा नहीं जाएगा। जो भी इस मामले में दोषी होगा उस पर कार्रवाई की जाएगी।

शिव शरणप्पा जीएन, नगर आयुक्त

फीडर लाइन का ज्वाइंट और क्षतिग्रस्त सीवर लाइन का काम होना था। इसलिए गड्ढा खोदा गया है। गड्ढे के किनारे मिट्टी के ढेर लगाए थे। सुबह युवक की बाइक निकलवाकर तीन तरफ से सुरक्षा के लिए पट्टी (बैरीकेडिग) लगा दी गई है। जल्द मरम्मत कार्य कराकर गड्ढा भरा जाएगा।

अनिल यादव, अवर अभियंता जलकल

Edited By Jagran

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept