योगा-व्यायाम कर उच्च रक्तचाप व ह्दय रोगी कोरोना को दे सकते शिकस्त

जागरण संवाददाता कन्नौज उच्च रक्तचाप और ह्दय रोग से पीड़ित लोगों को इस कोरोना संक्रमण काल

JagranPublish: Mon, 17 May 2021 09:03 PM (IST)Updated: Mon, 17 May 2021 09:03 PM (IST)
योगा-व्यायाम कर उच्च रक्तचाप व ह्दय रोगी कोरोना को दे सकते शिकस्त

जागरण संवाददाता, कन्नौज: उच्च रक्तचाप और ह्दय रोग से पीड़ित लोगों को इस कोरोना संक्रमण काल में अधिक सतर्क रहने की जरूरत है। वजह, आम लोगों के मुकाबले ऐसे व्यक्तियों में संक्रमण का खतरा अधिक होता है। मुख्य चिकित्साधिकारी डा. के. स्वरूप ने बताया कि कोरोना संक्रमण एक तरह का वायरल ंइंफेक्शन है। यह मुख्य रूप से श्वसन तंत्र, नाक और गले को प्रभावित करता है। यह वायरस मुख्य रुप से निचले श्वसन तंत्र में, सीने में संक्रमण फैलाता है। ब्रोंकाइटिस या निमोनिया जैसे लक्षण पैदा करता है। कोरोना से स्ट्रोक सरवाइवर और हृदय रोगी मरीजों को इससे ज्यादा खतरा रहता है। कोरोना संक्रमित होने पर वह दिल की मांसपेशियों की सूजन को बढ़ा देता है। उससे धमनियां ब्लॉक हो जाती हैं। ऐसे में इस तरह के मरीजों को पल्मोनरी डिस्ट्रेस सिड्रोम के साथ ही कार्डियो अरेस्ट की समस्या बढ़ने की संभावना ज्यादा होती है। जिससें मरीज की जान भी जा सकती है।

कहा कि हृदय रोगी कोविड 19 संक्रमण से डरें नहीं। बल्कि सचेत रहें। दिमाग में कोरोना का भय न रखें। नियमित दवा लें। हल्के योग-व्यायाम को दिनचर्या में शामिल करें। कोरोना की गाइड लाइन अपनाकर खुद को सुरक्षित रख सकते हैं।

--------

ये हैं लक्षण

-बोली में लड़खड़ाहट आना

-एक तरफ का हाथ-पैर काम न करना

-सिर में भीषण दर्द

-उल्टी और चक्कर आना

-भ्रम की स्थिति होना

-सांस लेने में तकलीफ

-ब्रेन में अधिक ब्लीडिग से बेहोशी

--------

इसका रखें ध्यान

-मानसिक तनाव न लें।

-शराब व धूमपान का सेवन न करें।

-दिनचर्या में व्यायाम शामिल करें।

------

ऐसे करें बचाव

-समय-समय पर ब्लड प्रेशर चेक कराएं।

-कोलेस्ट्राल व बीपी नियंत्रित रखें

-नमक की मात्र सीमित रखें

-तला-भुना भी कम ही खाएं

Edited By Jagran

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept