परमार्थ के रास्ते पर चलना सिखाता है यज्ञ : पाण्डेय

लोगो : धर्म क्षेत्रे ::: फोटो : 5 बीकेएस 6 झाँसी : गायत्री शक्तिपीठ पर यज्ञ करते श्रद्धालु।

JagranPublish: Sun, 05 Dec 2021 08:05 PM (IST)Updated: Sun, 05 Dec 2021 08:05 PM (IST)
परमार्थ के रास्ते पर चलना सिखाता है यज्ञ : पाण्डेय

लोगो : धर्म क्षेत्रे

:::

फोटो : 5 बीकेएस 6

झाँसी : गायत्री शक्तिपीठ पर यज्ञ करते श्रद्धालु।

:::

फोटो : 5 बीकेएस 5

झाँसी : यज्ञ का संचालन करते शान्तिकुंज के टोली नायक नमो नारायण पाण्डेय।

:::

- गायत्री महायज्ञ में सैकड़ों लोगों ने आहुतियाँ दीं

झाँसी : गायत्री शक्तिपीठ आँतिया तालाब पर चल रहे 24 कुण्डीय गायत्री महायज्ञ एवं देव सद्-साहित्य स्थापना में सैकड़ों श्रद्धालुओं ने यज्ञ देवता को आहुतियाँ समर्पित कर अपने को धन्य माना।

शान्तिकुंज के टोली नायक नमो नारायण पाण्डेय ने यज्ञ का संचालन करते हुए कहा कि यज्ञ के माध्यम से पुण्य-परमार्थ के रास्ते पर चला जा सकता है। यज्ञ एक विज्ञान है जो वातावरण का परिशोधन कर शुद्ध प्राणवायु देता है। रक्तदान एवं पेड़-पौधे लगाना भी एक यज्ञ है। उन्होंने कहा कि पं. श्रीराम शर्मा आचार्य के साहित्य के द्वारा व्यक्ति का आध्यात्मिक परिष्कार कर विचार क्रान्ति की जा सकती है। प्रात: शातिकुंज की टोली ने देव आह्वान के साथ गायत्री महामन्त्र एवं महामृत्युंजय मन्त्र की आहुतियाँ यज्ञ कुण्ड में डलवाना प्रारम्भ किया। श्रद्धालुओं की अधिक भीड़ की वजह से यज्ञ की कई पालियाँ करानी पड़ीं। यज्ञ करने के लिए लोगों को प्रतीक्षा करनी पड़ी। मीडिया प्रभारी डॉ. अचल सिंह चिरार ने बताया कि यज्ञ करने के लिए पुरुषों को भारतीय वेशभूषा धोती-कुर्ता एवं महिलाओं को सलवार-कुर्ता अथवा साड़ी में आना आवश्यक है। प्रमुख ट्रस्टी हरीकृष्ण पुरोहित ने बताया कि 6 दिसम्बर को प्रात: 8 बजे से हवन होगा। इसके बाद विद्यारम्भ, पुंसवन एवं गुरु दीक्षा आदि संस्कार नि:शुल्क कराए जाएँगे। इस अवसर पर हरिमोहन शर्मा, करुणेश श्रीवास्तव, कविता श्रीवास्तव, आत्माराम यादव, हल्कू राम, आरबी सिंह, दीनदयाल मिश्रा, बाबूलाल विश्वकर्मा, सूरज प्रसाद साहू, शशिबाला सिंह, सपना सिंह, आकाक्षा नापित, पूजा सूतकार, अर्चना नापित, दयाराम कुशवाहा आदि उपस्थित रहे। ट्रस्टी राजेन्द्र द्विवेदी ने संचालन किया।

फोटो 5 जेएचएस 5

झाँसी : आँतिया तालाब में दरिया पूजन करतीं सिन्धी समाज की महिलाएं।

:::

सिन्धी समाज ने किया दरिया पूजन

झाँसी : सिन्धु सेवा महिला मण्डल पूज्य सिन्धी पंचायत सीपरी बा़जार के तत्वावधान में मासिक चन्द्र दर्शन के अवसर पर सुबह आँतिया तालाब पर दरिया पूजन कार्यक्रम का आयोजन किया गया। महिला मण्डल अध्यक्ष तारा केशवानी ने जल, ज्योति एवं पल्लव का महत्व बताया।

महिलाओं ने पल्लव के माध्यम से झोली फैलाकर भगवान झूलेलाल से अपने, परिवार, सम्बन्धियों, देश की खुशहाली एवं कोरोना महामारी के तीसरे स्ट्रेन से बचाव की प्रार्थना की। भगवान झूलेलाल की ज्योति जलाकर दरिया पूजन, आरती, पंजड़े तथा पल्लव प्रार्थना की गयी। इस अवसर पर कंचन ठारवानी, तरुणा केसवानी, लीना मंशारमानी, शालिनी गुरुबख्शानी, महिमा, कमल हिरवानी, अंकुश केसवानी, हरीश केसवानी, विजय मंशारमानी आदि उपस्थित रहे।

5 जेएचएस 10

झाँसी : गौड़ बाबा मन्दिर में प्रवचन करते महावीरदास ब्रह्माचारी।

:::

सच्ची भक्ति वाले को ही मिलती है ईश्वर कृपा

झाँसी : खातीबाबा स्थित श्री गौड़ बाबा सिद्धाश्रम में चल रहे श्रीरामचरित मानस सम्मेलन के दूसरे दिन राम नाम की महिमा का बखान किया गया। सम्मेलन के अध्यक्ष महावीरदास ब्रह्माचारी ने कहा कि भगवान के प्रेम में जो सच्ची भक्ति से डूब जाता है, उसे ही ईश्वर की कृपा मिलती है। साध्वी गौरांगी भारद्वाज ने कहा कि कलयुग में मुक्ति के लिये श्रीराम नाम संकीर्तन एवं श्रीराम कथा आधार है। नितिन महाराज ने राम नाम के महत्व पर प्रकाश डाला। रामचरित मानस का पूजन व आरती मैथिली मुद्गिल, कैलाश यादव, प्रदीप जिझौतिया, रामकुमार ज्ञानी, वेद शास्त्री, प्रवीण शास्त्री, आलोक शास्त्री व प्रदीप सक्सेना ने की। सियारामशरण चतुर्वेदी ने संचालन व मुख्य संयोजक आचार्य विनोद चतुर्वेदी ने आभार व्यक्त किया।

Edited By Jagran

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept