हवाओं ने बढ़ाई ठंड, सूरज की किरणें भी नहीं दिला सकीं राहत

पहाड़ों पर अनवरत हो रही बर्फबारी और पश्चिमी विक्षोभ के चलते जनपद शीतलहर की चपेट में है। कोहरे के साथ ही शीतल हवाओं के चलने से मंगलवार को पूरे दिन गलन महसूस की गईं। सुबह दस बजे के बाद निकली धूप भी राहत नहीं दे सकी।

JagranPublish: Tue, 18 Jan 2022 04:41 PM (IST)Updated: Tue, 18 Jan 2022 04:41 PM (IST)
हवाओं ने बढ़ाई ठंड, सूरज की किरणें भी नहीं दिला सकीं राहत

जागरण संवाददाता, जौनपुर : पहाड़ों पर अनवरत हो रही बर्फबारी और पश्चिमी विक्षोभ के चलते जनपद शीतलहर की चपेट में है। कोहरे के साथ ही शीतल हवाओं के चलने से मंगलवार को पूरे दिन गलन महसूस की गईं। सुबह दस बजे के बाद निकली धूप भी राहत नहीं दे सकी।

मंगलवार को भी जानलेवा ठंड का प्रकोप रहा। सोमवार की रात से ही कोहरे ने आसमान को घिर लिया था। सुबह दस बजे के बाद सूरज की किरणें धरती पर उतरीं जरूर, लेकिन गलन से राहत नहीं दे सकीं। शाम होते ही लोग घरों में दुबकने के लिए मजबूर हो गए। न्यूनतम तापमान अचानक लुढ़ककर पांच डिग्री सेल्सियस तक नीचे आ गया है। मौसम विज्ञानी के अनुसार तीन-चार दिन तक ऐसी स्थिति बरकरार रहने के आसार हैं।

अधिक दिन तक कोहरे के रहने से आलू के साथ ही दलहनी व तिलहनी फसलों के नुकसान की आशंका प्रबल है। मंगलवार को न्यूनतम तापमान पांच डिग्री व अधिकतम 16 डिग्री दर्ज किया गया। ठंड के चलते लोग जगह-जगह अलाव के पास बैठे रहे। शाम होते ही कोहरे का कहर शुरू हो गया। इससे सड़कें सूनी पड़ गईं। सबसे खराब स्थिति ग्रामीण क्षेत्रों में रही जहां सड़कों के किनारे प्रकाश की व्यवस्था न होने से कोहरे में वाहन रेंगते नजर आए।

Edited By Jagran

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept