जन्मदिन पर छिना मां का सहारा

प्रापर्टी डीलर की पत्नी की हत्या के मामले में चार पर मुकदमा।

JagranPublish: Sat, 29 Jan 2022 04:09 AM (IST)Updated: Sat, 29 Jan 2022 04:09 AM (IST)
जन्मदिन पर छिना मां का सहारा

जासं, हाथरस : कोतवाली हाथरस सदर क्षेत्र के नहरोई बंबे के पास गुरुवार रात फायरिग में प्रापर्टी डीलर दिनेश पौरुष को घायल करने और पत्नी भावना पौरुष की हत्या के मामले में पुलिस ने दो नामजद समेत चार लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया है। भावना की मौत से तीनों बच्चों का बुरा हाल है। घटना वाले दिन भावना के दूसरे नंबर के बेटे कान्हा का जन्मदिन था। पूजा के बाद सभी को मिलकर केक काटना था। इससे पहले ही भावना की हत्या हो गई।

दिनेश और भावना के तीन बच्चों में सबसे बड़ी बेटी करिश्मा दसवीं में पढ़ती है। कान्हा कक्षा आठ बौर पीयूष कक्षा छह का छात्र है। तीनों आरपीएम पब्लिक स्कूल में पढ़ते हैं। गुरुवार को कान्हा का जन्मदिन था। भावना ने परिवार के सभी सदस्यों के लिए खाना बनाया था। इसके बाद केक काटने का कार्यक्रम था। बच्चे तैयारियों में लगे थे। इसी बीच दिनेश और भावना पूर्वजों के थान की पूजा करने चले गए। बेटी करिश्मा ने बताया के मां ने पूजा के बाद केक कटवाने की बात कही थी, उससे पहले ही आरोपितों ने मां को उनसे हमेशा के लिए छीन लिया। शाम को पोस्टमार्टम के बाद शव खोंडा हजारी स्थित आवास पर लाया गया तो कोहराम मच गया। बाद में अंतिम संस्कार किया गया। दिनेश को 20 दिन पहले

ही पड़ा था दिल का दौरा

दिनेश पौरुष, उनके पिता पप्पू पौरुष, ताऊ वीरेंद्र सिंह, सुरेंद्र सिंह और ताऊ का बेटा रवि मिलकर प्रापर्टी डीलिग का काम करते हैं। उन्होंने कोटा रोड पर गंगाधाम, संतोषधाम दो कालोनी बनाई है। इसके साथ ही कई जगह जमीन खरीदते और बेचते हैं। दिनेश ने डेढ़ महीने पहले सादाबाद की एक जमीन खरीदने के लिए विष्णु उर्फ शिवम उर्फ फौजी निवासी नगरिया नंदराम को सात लाख रुपये दिए थे। जब उसने जमीन नहीं दिलाई तो दिनेश परेशान रहने लगे। उन्हें 20 दिन पहले हार्ट अटैक हुआ था। उसका उपचार चला था। रुपये को लेकर आए दिन कहासुनी होती थी। इसी रंजिश में फौजी ने अपने साथी नन्हे गौतम उर्फ नैहना गौतम निवासी सादाबाद और दो अज्ञात लोगों के साथ गोलियां बरसाकर भावना की हत्या कर दी जबकि कूल्हे में गोली लगने से दिनेश घायल हो गए। दिनेश के चाचा सुरेंद्र सिंह ने मुकदमा दर्ज कराया है। हमलावरों ने पी थी शराब

आरोपित हत्या की योजना बनाकर आए थे। उन्होंने नहरोई बंबे के पास बैठकर शराब पी थी। बोलतें वहां पड़ी मिली हैं। थान पर पूजन कर लौट रहे दिनेश और भावना को सुनसान जगह पर उन्होंने रोक लिया। हमलावरों ने एक बोतल दिनेश के सिर में मारी तो भावना घबरा गईं। उनके हाथ में मोबाइल था, अंदाज से उन्होंने नंबर लगा दिया। कॉल दिनेश के ताऊ सुरेंद्र सिंह के मोबाइल पर पहुंची। वह केवल इतना ही बोल पाई कि हमें घेर लिया है, तुम लोग आ जाओ। घटनास्थल की दूरी उनके घर से करीब पौन किलोमीटर है। इसके बाद ही परिवार के लोग दौड़ पड़े। वहां खून से लथपथ दिनेश और भावना पड़े हुए थे। भावना के सिर में गोली लगी थी, वह बेहोश थीं जबकि कूल्हे में गोली लगने के कारण दिनेश कराह रहे थे। बेटी बोली, 'हत्यारों को

फांसी की सजा दी जाए'

बेटी करिश्मा ने बताया कि वह स्कूल जाने के लिए सोकर लेट उठती थी तो पापा डांट देते थे, इस पर मां कहती थी कि लाडो से कुछ मत कहो। अब उससे लाडो कौन कहेगा। मां स्कूल का टिफिन तैयार करती थी, अब वह हमेशा के लिए हमें छोड़कर चली गईं। करिश्मा ने आरोपितों को फांसी की सजा की मांग की है। पुलिस से की थी शिकायत

इस मामले में पुलिस की भी लापरवाही सामने आई है। प्रापर्टी डीलर के स्वजन ने बताया कि रुपये मांगने पर फौजी धमकी देता था। इसकी सूचना पुलिस को दी थी, लेकिन पुलिस ने कोई कार्रवाई नहीं की। जेल में है प्रापर्टी डीलर का छोटा भाई

करीब पांच वर्ष पहले दिनेश के छोटे भाई हेमंत की पत्नी ने घर में आत्महत्या कर ली थी। इस मामले में ससुरालीजनों ने दहेज हत्या का मुकदमा दर्ज कराया गया। वह कई वर्ष से जेल में बंद है। भावना के सिर में लगी एक गोली

प्रापर्टी डीलर की पत्नी भावना का शव पोस्टमार्टम के बाद स्वजन को सौंप दिया गया। पोस्टमार्टम रिपोर्ट के मुताबिक उसके सिर में एक गोली लगी है। वहीं घायल दिनेश की हालत में सुधार है। वह आगरा के निजी अस्पताल में भर्ती है।

Edited By Jagran

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept