टीईटी में लापरवाही पर नपेंगे केंद्र व्यवस्थापक

यूपी शिक्षक पात्रता परीक्षा को लेकर डीएम के निर्देश पर एडीएम ने बुलाई बैठक परीक्षा कराने के लिए सेक्टर मजिस्ट्रेटों की लगाईं प्रशासन ने ड्यूटी हर स्तर पर गड़बड़ी रोकने की हिदायत।

JagranPublish: Thu, 20 Jan 2022 01:45 AM (IST)Updated: Thu, 20 Jan 2022 01:45 AM (IST)
टीईटी में लापरवाही पर नपेंगे केंद्र व्यवस्थापक

जासं, हाथरस : यूपी शिक्षक पात्रता परीक्षा (टीईटी) सकुशल, पारदर्शी ढंग से कोविड गाइडलाइन का पालन कराते हुए कराने के उद्देश्य से अपर जिलाधिकारी ने बुधवार को कलक्ट्रेट सभागार में सभी सेक्टर मजिस्ट्रेट, पर्यवेक्षकों तथा केंद्र व्यवस्थापकों के साथ बैठक की।

अपर जिलाधिकारी डा.बसंत अग्रवाल ने परीक्षा शांतिपूर्ण तथा गोपनीय तरीके से कराने के लिए कडे़ निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि परीक्षा जनपद में दो पालियों में होगी। प्रथम पाली में 14 परीक्षा केंद्रों पर कुल 7071 अभ्यर्थी तथा द्वितीय पाली में आठ परीक्षा केंद्रों पर कुल 4206 अभ्यर्थी परीक्षा देंगे। परीक्षा के महत्व को ²ष्टिगत रखते हुए सभी केंद्र व्यवस्थापक परीक्षा से पूर्व कक्ष निरीक्षक की काउंसलिग कर दें। उन्होंने सभी केंद्र व्यवस्थापकों से प्रवेश पत्र में दिए गए निर्देशों के अनुसार प्रवेश देना सुनिश्चित करने को कहा। कक्ष निरीक्षकों की नियुक्ति करते समय कर्तव्य परायण एवं सत्यनिष्ठ कक्ष निरीक्षक ही तैनात किए जाएं। किसी भी प्रकार की लापरवाही मिलने पर पूरी जिम्मेदारी संबंधित केंद्र व्यवस्थापक की होगी। उन्होंने निर्देश दिया कि परीक्षा भवन में परीक्षार्थियों के लिए प्रवेश एक गेट से ही किया जाए। परीक्षार्थियों की प्रवेश के समय की वीडियोग्राफी अवश्य करा लें। इसके अलावा प्रश्नपत्रों के बंडल को खोलते तथा बंद करने की वीडियो रिकार्डिंग कराकर सीडी दो प्रतियों में सुरक्षित रख लें।

उन्होनें सख्त निर्देश दिया कि परीक्षा केन्द्र पर कोई भी परीक्षार्थी, कक्ष निरीक्षक तथा कर्मचारीगण मोबाइल लेकर प्रवेश नहीं करेंगे। सभी पर्यवेक्षक अपने-अपने परीक्षा केंद्र पर पहुंचकर बैठक व्यवस्था, स्वच्छता तथा सुरक्षा आदि की व्यवस्था की पूरी जानकारी कर लें तथा किसी भी प्रकार की अव्यवस्था होने पर जिला विद्यालय निरीक्षक से संपर्क करके व्यवस्था सु²ढ़ कर लें। सभी पर्यवेक्षक परीक्षा प्रारंभ होने के दो घंटे पूर्व केंद्र पर अपनी उपस्थिति अनिवार्य करेंगे। उन्होंने कहा कि कोई भी परीक्षार्थी परीक्षा केंद्र में प्रवेश करते हुए मोबाइल व कैलकुलेटर आदि या अन्य कोई इलेक्ट्रानिक डिवाइस, किताबें, नोट बुक अपने साथ नहीं रखेगा। उन्होंने कहा कि यदि कोई परीक्षार्थी ने दूसरे परीक्षार्थी के स्थान पर बैठकर परीक्षा देता है तो उसके विरुद्ध एफआइआर केंद्र व्यवस्थापक कराएंगे। परीक्षा केंद्र पर परीक्षार्थी के बैग, मोबाइल तथा अन्य वस्तुओं को रखने की आवश्यक व्यवस्था केंद्र व्यवस्थापक समय से कर लें। जिससे परिक्षार्थियों को बाद में किसी भी प्रकार की समस्या न हो। परीक्षा कक्ष में बुकलेट भेजने से पूर्व उनका क्रम संख्या अवश्य नोट कर लें कि किस कक्ष में किस सिरीज की बुकलेट भेजी गई है। परीक्षा प्रारम्भ होने के पश्चात किसी भी छात्र को प्रवेश नहीं दिया जाएगा, इसे सुनिश्चित किया जाए।

जिला विद्यालय निरीक्षक रितु गोयल ने केंद्र प्रभारियों को परीक्षा केंद्र पर मूलभूत आवश्यकता यथा फर्नीचर, पेयजल, विद्युत, जनरेटर, प्रकाश आदि की व्यवस्था परीक्षा से पूर्व सुनिश्चित करने को कहा। कक्षा-कक्षों की साफ-सफाई, फर्नीचर की सफाई एवं शौचालय की व्यवस्था करा लें। बाहर से आने वाले परीक्षार्थियों के लिए क्लाक रूम की व्यवस्था सुनिश्चित की जाए जिससे कि परीक्षा समाप्ति के पश्चात परीक्षार्थियों को किसी भी प्रकार की समस्या का सामना न करना पड़े।

Edited By Jagran

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept