मगहर में लगे मेले को जिला प्रशासन ने कराया बंद

एसडीएम खलीलाबाद नवीन चंद्र श्रीवास्तव ने 19 जनवरी 2022 की शाम को कोतवाली खलीलाबाद के प्रभारी निरीक्षक को आदेश जारी किया है। इसमें उन्होंने यह उल्लेख किया है कि मगहर में लगे मेले में झूला ब्रेक डांससहित अन्य दुकानों को लगाने की अनुमति दी गई थी।

JagranPublish: Thu, 20 Jan 2022 11:00 PM (IST)Updated: Thu, 20 Jan 2022 11:00 PM (IST)
मगहर में लगे मेले को जिला प्रशासन ने कराया बंद

संतकबीर नगर : कोरोना के बढ़ते मामलों को देखकर जिला प्रशासन ने मगहर में लगे मेले को बंद करवा दिया है। दुकानों को हटाने का निर्देश दिया है। इससे यहां पर दुकान लगाने वाले कारोबारियों को झटका लगा है।

एसडीएम खलीलाबाद नवीन चंद्र श्रीवास्तव ने 19 जनवरी 2022 की शाम को कोतवाली खलीलाबाद के प्रभारी निरीक्षक को आदेश जारी किया है। इसमें उन्होंने यह उल्लेख किया है कि मगहर में लगे मेले में झूला, ब्रेक डांस,सहित अन्य दुकानों को लगाने की अनुमति दी गई थी। सीएमओ ने 17 जनवरी को एक जांच रिपोर्ट में लिखा है कि खलीलाबाद तहसील के 52 गांव में कोरोना के अधिक मरीज मिले हैं। कोरोना को फैलने से रोकने के लिए मेले की सभी दुकानों को तत्काल प्रभाव से हटाया जाना आवश्यक है। इससे मेले में आने वाली भीड़ को रोका जा सके। इस पर लाउड स्पीकर से प्रचारित कर दुकानदारों से उनकी दुकानें गुरुवार की शाम पांच बजे तक हटाने के लिए कहा गया। इससे दुकानदारों में हडकंप मच गया। धीरे-धीरे दुकानें हटनी शुरू हो गई हैं। झूला लगाने वाले अख्तर, इकबाल अहमद उर्फ बाले, बिसाता दुकानदार अशोक, राजेन्द्र, खजला की दुकान लगाने वाले महिपाल सिंह,भूपेश,कृपा शंकर आदि का कहना है कि वे मगहर मेले में कुछ कमा लेने की उम्मीद में आए थे लेकिन इस पर पानी फिर उठा है। झूला खोलने में दो दिन लग जाते हैं। ऐसे में तत्काल परिसर को कैसे खाली किया जाय, यह उनके लिए समस्या है।

टीकाकरण के लिए आगे आएं युवा वर्ग

जिले में कोविडरोधी टीकाकरण का ग्राफ बढ़ाने के लिए निरंतर प्रयास जारी है। स्कूलों में शिविर लगाए जा रहे हैं। वहीं युवाओं के बीच कोविड टीके के प्रति जागरूकता पैदा करने के लिए एनसीसी, नेहरू युवा केंद्र, युवक मंगल, बाल सुधार गृह और चाइल्ड लाइन जैसे संस्थानों से मदद ली जा रही हैं। सीएमओ डा. इंद्रविजय विश्वकर्मा ने गुरुवार को अपील की है कि युवा वर्ग टीकाकरण के लिए आगे आएं। साथ ही अपने आसपास के लोगों को टीकाकरण के लिए प्रेरित करें।

उन्होंने बताया कि स्वास्थ्य विभाग के आंकड़ों के मुताबिक जनपद में 32 फीसद युवाओं को कोविडरोधी टीका से प्रतिरक्षित किया जा चुका है। जिला प्रतिरक्षण अधिकारी डा. एस रहमान ने कहा कि जिन ब्लाकों में कोविड टीकाकरण की संख्या अच्छी है, वहां यही तेजी बनाए रखना होगा। जहां कम है, वहां और काम करने की आवश्यकता है। उन्होंने स्पष्ट किया है कि 15 से 18 साल के किशोर दूसरी डोज नियत तारीख पर लगवा लें। तभी पूरी सुरक्षा मिल पाएगी। कहा कि ग्राम प्रधान व अन्य विभागों की मदद और सत्र विभाजन जैसे फार्मूले भी इस टीकाकरण को बढ़ाने में सार्थक भूमिका निभा रहे हैं। सभी के प्रयास से जागरूकता की लहर पैदा की जा रही है। स्वास्थ्य विभाग के ताजा आंकड़ों के मुताबिक जिले में 18 वर्ष से अधिक उम्र के शत प्रतिशत लोगों ने टीके की पहली डोज लगवा ली है, जबकि 60 प्रतिशत से अधिक आबादी दोनों डोज ले चुकी है।

Edited By Jagran

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept
ट्रेंडिंग न्यूज़

मौसम