This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.
OK

सेवानिवृत्त पीएफ कर्मचारी की हत्या, पुत्र हिरासत में

गोरखपुर शास्त्रीनगर कालोनी में रह रहे सेवानिवृत्त पीएफ (भविष्य निधि) कर्मचारी भोला नाथ ति

JagranThu, 19 Oct 2017 01:16 AM (IST)
सेवानिवृत्त पीएफ कर्मचारी  की हत्या, पुत्र हिरासत में

गोरखपुर

शास्त्रीनगर कालोनी में रह रहे सेवानिवृत्त पीएफ (भविष्य निधि) कर्मचारी भोला नाथ तिवारी की मंगलवार की रात घर के अंदर ही पीटकर हत्या कर दी गई। बुधवार को सुबह छोटा बेटा शव को दाह संस्कार के लिए ले जा रहा था लेकिन इसी बीच चिलुआताल पुलिस मौके पर पहुंच गई और बेटे को हिरासत में लेकर शव को अपने कब्जे में ले लिया। बुजुर्ग के शरीर पर चोट के निशान मिले हैं और मुंह से खून भी निकला हुआ था।

चिलुआताल संवाददाता के अनुसार मूल रूप से मेहदावल, संतकबीनगर निवासी भोला नाथ तिवारी (64) ने सेवाकाल में ही शास्त्रीनगर कालोनी में घर बनवा लिया था। सेवानिवृत्त होने के बाद पत्‍‌नी व बच्चों के साथ वहीं रह रहे थे। उनकी पत्‍‌नी व बेटी दीपावली का त्योहार मनाने पैतृक गांव गई थीं। घर में वह तथा उनका छोटा बेटा रजनीकांत उर्फ नन्हें ही थे। बुधवार को सुबह नन्हें ने पड़ोसियों को बताया कि रात में अचानक बीमार पड़ने के बाद पिता की मौत हो गई। आनन-फानन तैयारी कर वह शव को पिकप से दाह संस्कार के लिए ले जाने लगा। इसी दौरान 100 नंबर पर सूचना मिलने पर चिलुआताल पुलिस मौके पर पहुंच गई और पिकप रुकवा कर शव को अपने कब्जे में ले लिया।

शुरुआती छानबीन के आधार पर पुलिस ने बताया कि नन्हें नशे का आदी है। मंगलवार को शाम से ही वह पार्षद चुनाव की तैयारी कर रहे एक व्यक्ति के घर मौजूद था। पड़ोसियों के मुताबिक वहां से देर रात शराब के नशे में धुत होकर घर लौटा। उसके घर पहुंचते ही पिता-पुत्र के बीच विवाद होने लगा। काफी देर तक दोनों के तेज-तेज बोलने की आवाज आती रही। बुधवार को सुबह पड़ोसियों को उसने पिता के मौत की जानकारी दी। पुलिस को शक है कि विवाद में उसी ने पिता को पीटकर मौत के घाट उतारा है। बताते हैं कि इससे पहले भी एक बार उसने पिता को बुरी तरह से पीटा था। इसमें उनका हाथ भी टूट गया था। इस घटना के बाद से ही वह अक्सर छोटे बेटे को अपनी जायदाद से बेदखल करने की बात करते रहते थे। घटना की सूचना मिलने पर पुलिस अधीक्षक नगर विनय कुमार सिंह और क्षेत्राधिकारी गोरखनाथ समीक्षा यादव मौके पर पहुंची थीं।

Edited By Jagran

गोरखपुर में कोरोना वायरस से जुडी सभी खबरे

blinkLIVE

Saridon #NoMoreHidingHeadaches विषय पर चर्चा

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!