अप्रवासी भारतीय महिला की हत्या करने वाले शूटरों से पुलिस ने की पूछताछ

बड़हलगंज में दिनदहाड़े महिला की गोली मारकर हत्या करने वाले शूटर मिथिलेश व लालू यादव आजमगढ़ जेल में बंद हैं। 17 जनवरी को बड़हलगंज पुलिस ने कोर्ट से अनुमति लेकर बदमाशों से पूछताछ की जिसमें उन्होंने सुपारी लेकर वारदात को अंजाम देने की बात स्वीकारी।

Navneet Prakash TripathiPublish: Tue, 18 Jan 2022 04:28 PM (IST)Updated: Tue, 18 Jan 2022 04:28 PM (IST)
अप्रवासी भारतीय महिला की हत्या करने वाले शूटरों से पुलिस ने की पूछताछ

गोरखपुर, जागरण संवाददाता। बड़हलगंज में दिनदहाड़े महिला की गोली मारकर हत्या करने वाले शूटर मिथिलेश व लालू यादव आजमगढ़ जेल में बंद हैं। 17 जनवरी को बड़हलगंज पुलिस ने कोर्ट से अनुमति लेकर बदमाशों से पूछताछ की, जिसमें उन्होंने सुपारी लेकर वारदात को अंजाम देने की बात स्वीकारी। पूछताछ के बाद शाम को सीजेएम कोर्ट में पेश किया गया, जहां से उन्हें 14 दिन की न्यायिक अभिरक्षा मेें आजमगढ़ जेल भेज दिया गया। वारदात को अंजाम देने वाले दोनों शूटर मऊ जिले के रहने वाले हैं। घटना के बाद उन्होंने बलिया में तमंचे के साथ खुद को गिरफ्तार करा लिया था। हत्या की साजिश रचने वाला महिला का भतीजा समेत दो आरोपित अभी फरार हैं।

22 नवंबर 2021 को हुई थी हत्‍या

22 नवंबर को बदमाशों ने बड़हलगंज के सिधुवापर निवासी पुष्पा यादव की गोली मारकर हत्या कर दी थी। दिनदहाड़े हुई वारदात के बाद कस्बे में सनसनी फैल गई थी। पुलिस ने छानबीन की तो पता चला कि महिला के चरित्र पर शक कर कोरिया में रहने वाले उसके भतीजे गोपाल ने साजिश रचकर हत्या कराई थी। हत्या में शामिल बड़हलगंज के मरवटिया गांव निवासी उमेश यादव उर्फ अजीत यादव, देवरिया जिले के मदनपुर थाना क्षेत्र स्थित हरदेउरा गांव निवासी श्रीकांत यादव और विश्वनाथ यादव को पुलिस ने गिरफ्तार कर घटना का पर्दाफाश किया।

कर्ज की रकम के बदले दी थी हत्‍या की सुपारी

श्रीकांत और विश्वनाथ सगे भाई हैं, जबकि उमेश यादव उनकी बुआ का लड़का है। श्रीकांत अपने गांव का पूर्व प्रधान रह चुका है और विश्वनाथ, गोपाल यादव का खेत बंटाई पर बोता है। पूछताछ में पता चला था कि विश्वनाथ यादव ने अपनी भाभी को प्रधानी का चुनाव लड़ाने के लिए गोपाल से सात लाख रुपये उधार लिए थे, जिसके बदले में गोपाल यादव ने चाची की हत्या करने की सुपारी दी थी। श्रीकांत और विश्वनाथ ने अपने सहयोगी तेजू उर्फ तेज नारायन निवासी हरदेउरा थाना मदनपुर जनपद देवरिया और अपने रिश्तेदार उमेश उर्फ अजीत यादव के जरिये मऊ जिले के मधुबन निवासी शूटर मिथिलेश उर्फ लालू व गोविंद यादव से संपर्क किया।

शूटरों ने योजना के तहत करा ली थी अपनी गिरफ्तारी

उनके कहने पर मिथिलेश व गोविंद ने पुष्पा की हत्या कर दी। नाम प्रकाश में आने पर मिथिलेश यादव उर्फ लालू व गोविंद यादव ने एक दिसंबर की सुबह खुद को बलिया के उभांव थाने में गिरफ्तार करा लिया और जेल चले गए। एक सप्ताह बाद उन्हें बलिया से आजमगढ़ जेल भेज दिया गया। एसपी साउथ अरुण कुमार सिंह बताया कि कोर्ट से वारंट-बी लेकर थानेदार ने सोमवार को दोनों शूटरों से पूछताछ की, जिसमें कई महत्वपूर्ण जानकारी मिली। फरार चल रहे अन्य आरोपितों को जल्द ही गिरफ्तार कर लिया जाएगा।

Edited By Navneet Prakash Tripathi

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept