पुलिस अधिकारी बनकर दवा व्यवसायी से लूट लिए एक लाख रुपये, सीसीटीवी में कैद हुई घटना

गोरखपुर के व्यस्ततम बाजार भालोटिया मार्केट में दो बाइक पर सवार चार बदमाशों ने दिनदहाड़े खुद को पुलिस वाला बताकर शोहरतगढ़ के दवा व्यवसायी शुभम वर्मा का एक लाख रुपया लूट लिया।

Pradeep SrivastavaPublish: Sun, 02 Jun 2019 03:52 PM (IST)Updated: Mon, 03 Jun 2019 09:42 AM (IST)
पुलिस अधिकारी बनकर दवा व्यवसायी से लूट लिए एक लाख रुपये, सीसीटीवी में कैद हुई घटना

गोरखपुर, जेएनएन। गोरखपुर के व्यस्ततम बाजार भालोटिया  मार्केट में दो बाइक पर सवार चार बदमाशों ने दिनदहाड़े खुद को पुलिस वाला बताकर शोहरतगढ़ के दवा व्यवसायी शुभम वर्मा का एक लाख रुपया लूट लिया। घटना को अंजाम देने वाले बदमाशों में से दो ने हेलमेट पहन रखा था। घटनास्थल के पास की एक दुकान और होटल के बाहर लगे सीसीटीवी कैमरे में पूरी घटना रिकार्ड हो गई है। सीसीटीवी फुटेज की मदद से पुलिस बदमाशों की तलाश में जुट गई है।

सिद्धार्थनगर जनपद के शोहरतगढ़ निवासी शुभम वर्मा की उपनगर में प्रेम मेडिकल स्टोर के नाम से दुकान है। शनिवार को शुभम दवाओं की खरीदारी करने गोरखपुर पहुंचे। वे मुख्य सड़क सेभालोटिया मार्केट की तरफ मुड़े ही थे कि एक युवक ने उनको रोका और खुद को पुलिस वाला बताकर थोड़ी दूरी पर खड़े तीन युवकों की तरफ इशारा करते हुए कहा कि साथ चलो, साहब बुला रहे हैं तो शुभम तीनों युवकों के पास चले गए। 

जेल भेजने की धमकी देकर लूटे रुपये

भालोटिया मार्केट में खड़े बदमाशों ने व्यवसायी शुभम से बैग चेक कराने को कहा तो शुभम ने युवकों से पहचान पत्र दिखाने को कहा। इस पर तीनों युवक भड़क गए और जेल भेजने की धमकी देते हुए बैग छीन

लिया और बैग में रखे एक लाख रुपये निकाल लिए। शुभम ने रुपये निकालने की वजह पूछी तो बदमाशों ने उन पर पुलिसिया रौब झाड़ते हुए रुपयों का हिसाब-किताब दिखाने को कहा। सकते में आए शुभम कुछ सोच पाते या किसी को मदद के लिए बुलाते इससे पहले ही चारों बदमाश फरार हो गए।

सीसीटीवी में दिखाई दे रहा दो बदमाशों का चेहरा

भालोटिया मार्केट स्थित एक दवा की दुकान व होटल में लगे सीसीटीवी कैमरे में एक बदमाश व्यापारी को रोकते हुए और चंद मिनट बाद एक बदमाश व्यवसायी से बात करते दिखाई दे रहा है। यह जानकारी  पुलिस अधीक्षक नगर विनय कुमार सिंह, क्षेत्राधिकारी क्राइम प्रवीण सिंह ने दी। अधिकारी द्वय ने बताया कि फुटेज में दो बदमाशों का चेहरा स्पष्ट दिखाई दे रहा है, लेकिन दो बदमाशों के हेलमेट पहने होने की वजह से उनका चेहरा स्पष्ट नहीं हो रहा है। इससे लगता है कि हेलमेट लगाने वाले बदमाश स्थानीय हैं जबकि दो अन्य बदमाश बाहरी।

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Edited By Pradeep Srivastava

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept