गोरखपुर में उखड़ रहे कोरोना के पांव, तेजी से स्वस्थ हो रहे संक्रम‍ित - 2753 से घटकर हुई 2208 संख्‍या

Coronavirus Infection in Gorakhpur गोरखपुर में कोरोना संक्रम‍ितों की संख्‍या तेजी से कम हो रही है। एक द‍िन में संक्रमित होने वालों की अपेक्षा संक्रमण मुक्‍त होने वालों की संख्‍या अध‍िक रह रही है। संक्रम‍ितों की संख्‍या अब 2753 से घटकर अब 2208 हो गई है।

Pradeep SrivastavaPublish: Fri, 21 Jan 2022 08:05 AM (IST)Updated: Fri, 21 Jan 2022 08:05 AM (IST)
गोरखपुर में उखड़ रहे कोरोना के पांव, तेजी से स्वस्थ हो रहे संक्रम‍ित - 2753 से घटकर हुई 2208 संख्‍या

गोरखपुर, जागरण संवाददाता। कोरोना के पांव उखड़ने लगे हैं। संक्रमण में गिरावट के साथ ही स्वस्थ होने वालों की रफ्तार बढ़ गई है। पिछले तीन दिन से जितने संक्रमित मिल रहे हैं, उससे बहुत ज्यादा कोरोना को मात देने वालों की संख्या है। इस वजह से सक्रिय रोगियों की संख्या लगातार घट रही है। 17 जनवरी को 2753 हो चुकी यह संख्या घटकर अब 2208 पर आ गई है। इससे स्वास्थ्य विभाग ने राहत की सांस ली है।

जिले में 21 अक्टूबर को कोरोना की दूसरी लहर का अंतिम संक्रमित मिला था, जो छह नवंबर को स्वस्थ हो गया था। इसके बाद से 24 दिसंबर तक जिला कोरोना मुक्त रहा। तीसरी लहर का पहला संक्रमित 25 दिसंबर को मिला। पुन: 29 दिसंबर को तीन संक्रमित मिले। इसके बाद धीरे-धीरे बढ़ते हुए यह संख्या 14 जनवरी को अब तक की सबसे ज्यादा रही, इस दिन 458 संक्रमित मिले। इसके बाद इनकी संख्या घटने लगी। प्रतिदिन 250 से 350 तक संक्रमित मिल रहे हैं। पिछले तीन दिन से जितने संक्रमित मिल रहे हैं, उससे ज्यादा लोग कोरोना को मात दे रहे हैं। इस वजह से लगातार सक्रिय रोगियों की संख्या घट रही है।

तिथि संक्रमित स्वस्थ हुए

18 जनवरी 272 423

19 जनवरी 350 517

20 जनवरी 304 531

कोरोना संक्रमण बढ़ने के साथ ही जांच की संख्या बढ़ा दी गई। अधिक से अधिक लोगों की जांच की गई। कांटैक्ट ट्रेसिंग पर जोर दिया गया। जिसकी भी रिपोर्ट पाजिटिव आई, उसके संपर्क में आए सभी लोगों की जांच कराई गई। इस वजह से संक्रमण की रोकथाम संभव हो सकी। धीरे-धीरे कोरोना नियंत्रण में आ रहा है। अब संक्रमित कम मिल रहे हैं और स्वस्थ्य होने वालों की संख्या ज्यादा है। इसलिए सक्रिय रोगियों की संख्या लगातार घट रही है। बावजूद इसके लोगों को कोविड प्रोटोकाल के प्रति जागरूक किया जा रहा है। साथ ही टीकाकरण पर जोर दिया जा रहा है। - डा. एके सिंह, नोडल अधिकारी, कोरोना जांच

दो की मौत, छह डाक्टर सहित 304 में मिला संक्रमण

कोरोना संक्रमण की गति थोड़ी कम जरूर हुई है लेकिन खतरा अभी टला नहीं है। बीआरडी मेडिकल कालेज के कोविड वार्ड में भर्ती गोरखपुर के एक संक्रमित की गुरुवार को मौत हो गई, जो देर शाम तक पोर्टल पर अपलोड नहीं हो सकी थी। इसलिए स्वास्थ्य विभाग ने मौत की संख्या शून्य जारी की है। इसी वार्ड में देवरिया के एक युवक ने भी अंतिम सांस ली है। छह डाक्टरों व छह बच्चों समेत 304 लोगों में संक्रमण मिला है। जिला अस्पताल व एम्स में उपचार के लिए आए चार-चार रोगियों में भी संक्रमण की पुष्टि हुई है। राहत की बात यह है कि 531 लोगों ने कोरोना को मात दी है।

यह है वर्तमान स्‍थ‍ित‍ि

जिले के अहिरौली निवासी 70 वर्षीय बुजुर्ग की तबीयत गंभीर होने पर उन्हें चार दिन पूर्व कोविड वार्ड में भर्ती कराया गया था। उन्हें अन्य बीमारियां भी थीं। गुरुवार को उन्होंने अंतिम सांस ली। इसी वार्ड में देवरिया के 31 वर्षीय युवक का उपचार चल रहा था, उसने भी दम तोड़ दिया। मेडिकल कालेज में छह दिन बाद मौत हुई है। संक्रमितों में बीआरडी मेडिकल कालेज के चार, एम्स और निजी अस्पताल के एक-एक डाक्टर, मेडिकल कालेज के छह एमबीबीएस छात्र भी शामिल हैं। निजी अस्पतालों के दो व खाद कारखाना के तीन कर्मचारी पाजिटिव मिले हैं। एयरफोर्स में पांच, रेलवे स्टेशन पर चार यात्रियों की जांच रिपोर्ट पाजिटिव आई है।

पादरी बाजार, दीवान बाजार, पीपीगंज, मोहद्दीपुर रेलवे कालोनी, राप्तीनगर, इंदिरा नगर और तिवारीपुर में एक-एक परिवार के चार-चार सदस्य संक्रमित मिले हैं। आठ, एक, दो, 11, 10 व 12 साल के बच्चों में भी संक्रमण मिला है, जो यादवपुर, एयरफोर्स, रामजानकी नगर, रेलवे कालोनी, पाली व जटेपुर के रहने वाले हैं। एक दिन पूर्व बुधवार को भी 15 बच्चे संक्रमित मिले थे। मुख्य चिकित्साधिकारी डा. आशुतोष कुमार दूबे ने बताया कि पहली लहर से लेकर अब तक जिले में 63468 लोग संक्रमित हो चुके हैं। इनमें से 60410 लोग स्वस्थ हो चुके हैं। 850 की मौत हो चुकी है। सक्रिय रोगियों की संख्या 2208 है।

Edited By Pradeep Srivastava

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept