अब फोन पर डाक्टरों से ले सकेंगे परामर्श, विभाग ने जारी किया मोबाइल नंबर

संक्रमण से बचाव के लिए लोगों से अपील की जा रही है कि वे घर से बाहर न निकलें। बहुत जरूरी हो तो मास्क लगाकर निकलें और शारीरिक दूरी का अनुपालन करें लेकिन जिला अस्पताल बीआरडी मेडिकल कालेज व एम्स के ओपीडी में भीड़ इतनी ज्यादा हो रही है।

Navneet Prakash TripathiPublish: Tue, 18 Jan 2022 01:00 PM (IST)Updated: Tue, 18 Jan 2022 01:00 PM (IST)
अब फोन पर डाक्टरों से ले सकेंगे परामर्श, विभाग ने जारी किया मोबाइल नंबर

गोरखपुर, जागरण संवाददाता। कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामलों को देखते हुए स्वास्थ्य विभाग ने घर पर ही विशेषज्ञ डाक्टरों से परामर्श लेने की सुविधा दे दी है। संक्रमण से बचाव के लिए लोगों से अपील की जा रही है कि वे घर से बाहर न निकलें। बहुत जरूरी हो तो मास्क लगाकर निकलें और शारीरिक दूरी का अनुपालन करें, लेकिन जिला अस्पताल, बीआरडी मेडिकल कालेज व एम्स के बाह्य रोगी विभाग (ओपीडी) में भीड़ इतनी ज्यादा हो रही है कि शारीरिक दूरी का पालन कठिन हो रहा है। ऐसे में विभाग ने कुछ विशेषज्ञ डाक्टरों का मोबाइल नंबर जारी कर दिया है। कोई भी व्यक्ति उन पर फोन कर परामर्श ले सकता है। सामान्य रूप से बीमार होने पर उसे अस्पताल जाने की जरूरत नहीं है।

डाक्टरों के मोबाइल नंबर

विभाग - डाक्टर का नाम - मोबाइल नंबर

जनरल सर्जरी - डा. ओपी सिंह - 9415066877

डा. बीपी मल्ल- 9415828270

मेडिसिन- डा. प्रशांत सिंह - 7798884118

डा. महेश चौधरी- 9452758954

डा. सोनू केशरवानी- 9415282225

बाल रोग- डा. राघव अग्रवाल- 9761197699

डा. सुशील- 8004707024

डा. अजय- 9415285316

नाक, कान, गला रोग - डा. डीके मौर्य- 8896871889

डा. आलोक अग्रहरि- 8392800551

मानसिक रोग - डा. अमित शाही- 7905175717

चर्म रोग डा. नवीन कुमार वर्मा- 9415076840

हृदय रोग डा. केके शाही- 8318723383

डा. रोहित गुप्ता- 8650509292

हड्डी रोग डा. आरके सिंह - 9369273107

डा. पीके त्रिपाठी- 9559190116

घर से फोन कर डाक्‍टरों से ले सकते हैं परामर्श

सीएमओ डा. आशुतोष कुमार दूबे ने बताया कि कोरोना संक्रमण तेजी से फैल रहा है। इसकी रोकथाम के लिए प्रयास किए जा रहे हैं। इसी क्रम में विशेषज्ञ डाक्टरों के मोबाइल नंबर जारी किए गए हैं, ताकि सामान्य रूप से बीमार होने पर लोग घर से ही परामर्श ले सकें। उन्हें अस्पताल में न आना पड़े।

खिचड़ी मेले में हो रही टीबी रोगियों की पहचान

गोरखनाथ मंदिर परिसर में लगे खिचड़ी मेले में भी टीबी रोगियों की पहचान की जा रही है। 13 से 17 जनवरी के बीच टीबी के लक्षण वाले 120 संदिग्धों के नमूने लिए गए। इनमें से 82 की जांच हो चुकी है, रिपोर्ट निगेटिव आई है। 38 नमूनों की जांच अभी हो रही है। मेले में यह सुविधा सुबह 10 से शाम चार बजे तक उपलब्ध है।

राष्ट्रीय क्षय उन्मूलन कार्यक्रम के तहत लगाया गया शिविर 

जिला क्षय रोग नियंत्रण अधिकारी डा.रामेश्वर मिश्र ने बताया कि राष्ट्रीय क्षय उन्मूलन कार्यक्रम के अंतर्गत मंदिर परिसर स्थित हनुमान मंदिर के पास शिविर लगाया गया है। वहां दो स्वास्थ्यकर्मी तैनात हैं। आगंतुकों को टीबी से जुड़ी ज्ञानवर्धक सामग्री दी जाती है। लोगों को बताया जा रहा है कि गैर सरकारी व्यक्ति द्वारा टीबी का नया रोगी खोजने में मदद करने पर पांच सौ रुपये की प्रोत्साहन राशि दी जाती है। रोगी को उपचार के दौरान निक्षय पोषण योजना के अंतर्गत प्रतिमाह 500 रुपये उसके बैंक खाते में भेजे जाते हैं।

टीबी के लक्षण

दो सप्ताह या अधिक समय तक खांसी आना, खांसी के साथ बलगम आना, बलगम में कभी-कभी खून आना, सीने में दर्द होना, शाम को हल्का बुखार आना, वजन कम होना और भूख न लगना टीबी के सामान्य लक्षण हैं।

वर्ष चिह्नित रोगी

2018 6330

2019 10269

2020 8177

2021 11203

Edited By Navneet Prakash Tripathi

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept