This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.
OK

अपराधियों के लिए लूटपाट का केंद्र बना एनएच 730

आनंदनगर फरेंदा-सिद्धार्थनगर (एनएच 730) हाइवे पर लूट की वारदातें नहीं थम रही है। हाईवे

JagranFri, 30 Jul 2021 06:15 AM (IST)
अपराधियों के लिए लूटपाट का केंद्र बना एनएच 730

आनंदनगर: फरेंदा-सिद्धार्थनगर (एनएच 730) हाइवे पर लूट की वारदातें नहीं थम रही है। हाईवे पर सुरक्षा के माकूल इंतजाम नहीं है। यह हाईवे अपराधियों के मुफीद बनता जा रहा है। पुलिस की मानिटरिग हवा में नजर आती है। बुधवार की रात शोहरतगढ़ के स्वर्ण व्यवसायी से बदमाशों ने असलहे के बल पर लूट घटना को अंजाम दिया। हाईवे के आसपास हत्या, लूट, छिनैती की तमाम वारदातें आए दिन हो रही हैं। फिर भी हाईवे पर पेट्रोलिग नहीं होती है। ये घटनाएं

ही हाईवे पर सुरक्षा के दावों की पोल खोल चुकी है। यहां पर सुरक्षा के मानक दरकिनार है।

----------

तीन जनपदों को जोड़ता हाईवे

फरेंदा- सिद्धार्थनगर हाईवे महराजगंज, गोरखपुर व सिद्धार्थ नगर जनपदों को जोड़ता है। वहीं कुछ दूरी पर संतकबीर नगर जनपद का भी परिक्षेत्र शुरू हो जाता है। अपराधी घटना को अंजाम देने के बाद तुरंत दूसरे जनपद में चले जाते हैं। जिससे पुलिस अपराधियों को समय से घेर नहीं पाती है। वैसे यह हाइवे सुनसान रहता है, इसीलिए इस पर अक्सर घटनाएं होती रहती हैं।

------

यह घटनाएं हुई हैं घटित

केस नंबर एक

फरवरी 2019 में हाइवे से सटे इंडेन गैस इंडेन गैस एजेंसी के मालिक से बदमाशों ने तीन लाख की लूट कर फरार हो गए थे। दो युवक बाइक से पिस्टल लहारते हुए आए और रुपयों से भरा बैग लेकर फरार हो गए थे।

केस नंबर दो

29 अप्रैल 2019 में फरेंदा सिद्धार्थ नगर हाइवे पर स्थित विश्रामपुर चौराहे पर ग्राहक सेवा केंद्र संचालक चतुर्भुजी भारती की बाइक सवार तीन बदमाशों ने गोली मारकर हत्या कर दी थी। बदमाश लूट के इरादे से वहां पहुंचे थे, असफल होने पर वारदात को अंजाम दिया था। गोरखपुर के कैंपियरगंज के बनकटा निवासी चतुर्भुजी उर्फ विद्यार्थी विश्रामपुर चौराहे पर ग्राहक सेवा केंद्र पर काम कर रहे थे।

केस नंबर तीन

छह सितंबर 2019 को धानी बाजार स्थित किसान सेवा केंद्र पेट्रोल पंप से शुक्रवार को दोपहर मैनेजर मनोज यादव बिक्री का दो लाख 40 हजार रुपये लेकर स्कूटी से भारतीय स्टेट बैंक में जमा करने जा रहे थे। वह पेट्रोल पंप से कुछ ही दूरी पर देसी शराब की दुकान के आगे पहुंचे थे कि पीछे से एक बाइक पर सवार दो बदमाशों ने ओवरटेक कर उनकी स्कूटी के आगे अपनी बाइक रोक दी। जब तक मनोज कुछ समझ पाते बाइक पर पीछे बैठे बदमाश ने उनकी आंखों में लाल मिर्च पाउडर फेंक दिया।

केस नंबर चार

26 मई 2020 को हाईवे पर जनपद सिद्धार्थनगर निवासी गणेश गुप्ता की पत्नी से बाइक सवार बदमाश पर्स छीनकर फरार हो गए थे। पीड़ित ने थाने में तहरीर देकर न्याय की गुहार लगाई थी।

Edited By Jagran

गोरखपुर में कोरोना वायरस से जुडी सभी खबरे

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
Jagran Play

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

  • game banner
  • game banner
  • game banner
  • game banner