This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.
OK

माह-ए-रमजान : नहीं हुआ चांद का दीदार, पहला रोजा बुधवार को Gorakhpur News

Date Of Ramadan 2021 बुधवार से रमजान का पहला रोजा शुरू होगा जबकि तरवीह की नमाज मंगलवार की रात से पढ़ी जाएगी। पहला रोजा 14 घंटा 8 मिनट का होगा। दूसरी तरफ रमजान की आहट से बाजार में सहरी एवं इफ्तार के सामान की दुकानें सजने लगी हैं।

Pradeep SrivastavaTue, 13 Apr 2021 09:04 AM (IST)
माह-ए-रमजान : नहीं हुआ चांद का दीदार, पहला रोजा बुधवार को Gorakhpur News

गोरखपुर, जेएनएन। सोमवार की शाम लोग आसमान पर नजरें गड़ाए रहे, लेकिन माह-ए-रमजान के चांद का दीदार नहीं हुआ। बुधवार से रमजान का पहला रोजा शुरू होगा, जबकि तरवीह की नमाज मंगलवार की रात से पढ़ी जाएगी। पहला रोजा 14 घंटा 8 मिनट का होगा। दूसरी तरफ रमजान की आहट से बाजार में सहरी एवं इफ्तार के सामान की दुकानें सजने लगी हैं। नखास, रेती, घंटाघर, जाफरा बाजार, शाहमारूफ सहित मुस्लिम बाहुल इलाकों में बढ़ी चहल-पहल इस बात की तस्दीक कर रही है रमजान में बाजार गुलजार रहेगा।

आज से पढ़ी जाएगी तरावीह की नमाज

शाम को लोगों ने अपने घरों, ऊंची इमारतों और मस्जिदों से चांद देखने की कोशिश की लेकिन कहीं कहीं से भी चांद देखे जाने की सूचना नहीं मिली। तय किया कि 13 अप्रैल को शाबान माह की तीसवीं तारीख होगी और रमजान 14 अप्रैल से शुरू होगा। एशा की नमाज के बाद शहर की मस्जिदों से बुधवार से रोजा रखे जाने का एलान किया गया। मंगलवार से मस्जिदों में शुरू होने वाली तरावीह (कुरान का पाठ) को लेकर तैयारियां पूरी कर ली गई है। अलग-अलग मस्जिदों में सात से लेकर 27 दिनों तक की तरावीह होगी। कोरोना संक्रमण की वजह से रोजेदारों को पिछले साल की तरह इस बार भी कई पाबंदियों का सामना करना पड़ेगा।

चांद की तस्दीक को लेकर हुई बैठक

तंजीम उलेमा-ए-अहले सुन्नत की बैठक सोमवार को दरगाह हजरत मुबारक खां शहीद में हुई। बैठक में रमजान के चांद की पुष्टि के लिए मदरसों व खानकाहों से राब्ता किया गया लेकिन कहीं से भी पुष्टि नहीं हो सकी। इसलिए तंजीम ने एलान किया कि माह-ए-रमजान व पहला रोजा बुधवार को रखा जाएगा। इस मौके पर मुफ्ती खुर्शीद अहमद मिस्बाही (काजी-ए-शहर), मुफ्ती अख्तर हुसैन (मुफ्ती-ए-शहर), मुफ्ती मो. अजहर शम्सी (नायब काजी), कारी अफजल बरकाती, कारी मोहसिन, इकरार अहमद, हाफिज अकरम, कारी निजामुद्दीन, नूर मोहम्मद आदि मौजूद रहे।

 

गोरखपुर में कोरोना वायरस से जुडी सभी खबरे

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!