This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.
OK

जानिए कौन है ये टोलियां, जिसने मसीहा बन 500 लोगों की सेवा की Gorakhpur News

कोरोना संक्रमित बड़े काजीपुर निवासी विजयशंकर एक निजी अस्पताल में भर्ती थे। अस्पताल का आक्सीजन खत्म होने वाला था तो उनके बेटे अमृतांशु ने मदद ग्रुप से मदद मांगी। ग्रुप के सदस्यों ने तत्काल प्रशासन से संपर्क साध अस्पताल को आक्सीजन दिलाया।

Rahul SrivastavaMon, 26 Apr 2021 10:30 AM (IST)
जानिए कौन है ये टोलियां, जिसने मसीहा बन 500 लोगों की सेवा की Gorakhpur News

डा. राकेश राय, गोरखपुर : कोरोना संक्रमित बड़े काजीपुर निवासी विजयशंकर एक निजी अस्पताल में भर्ती थे। अस्पताल का आक्सीजन खत्म होने वाला था तो उनके बेटे अमृतांशु ने 'मदद' ग्रुप से मदद मांगी। ग्रुप के सदस्यों ने तत्काल प्रशासन से संपर्क साध अस्पताल को आक्सीजन दिलाया। परतावल महराजगंज निवासी विपिन सिंह ने सुबह नौ बजे 'जिम्मेदार युवा' ग्रुप को फोन पर बताया कि परिवार के सभी लोग संक्रमित हैं। माता-पिता के लिए रेमडेसिविर इंजेक्शन चाहिए। शाम तीन बजते-बजते ग्रुप से जुड़े युवाओं ने उन्हें इंजेक्शन उपलब्ध करा दिया। इसी तरह 'मदद ग्रुप' ने गोरखपुर की सुनीता मिश्रा की तबीयत बिगडऩे की सूचना मिलने पर रात के दो बजे उन्हें एक निजी अस्पताल में बेड दिलाया।

संक्रमण के दौर में जीवनदायिनी साबित हो रहीं हैं ये टोलियां

यह तो महज बानगी है, दरअसल 'मदद' और 'जिम्मेदार युवा' युवाओं की ऐसी टोलियां हैं, जो कोरोना संक्रमण के इस दौर में लोगों के लिए जीवनदायिनी साबित हो रही हैं। इस दौर में जहां अपने करीबी भी किनारा कर रहे हैैं, दोनों टोलियां अब तक 500 से अधिक जरूरतमंदों के लिए मसीहा बन चुकी हैं। युवाओं ने इंटरनेट मीडिया और फोन को मदद के लिए जरिया बनाया है। दोनों ग्रुप ने फेसबुक पर हेल्पलाइन नंबर जारी किया है, साथ ही वाट्सएप ग्रुप भी बनाया है। मदद के लिए फोन आते ही उस कार्य के लिए सक्षम युवा की जिम्मेदारी टीम लीडर द्वारा तय की जाती है। टोली के सदस्य मदद करने के बाद मरीज की हालत पर नजर रखते हैैं। युवाओं की यह टोलियां 24 घंटे सक्रिय हैं।

अस्पताल और प्रशासन से लगातार कर रहे संपर्क

युवाओं ने अस्पतालों की सूची बना रखी है और उसके प्रबंधन के संपर्क में निरंतर रहते हैं। प्रशासन से भी संपर्क में बनाए रखते हैैं। जैसे ही किसी मरीज की मदद की जरूरत पड़ती है, फौरन सक्रिय हो जाते हैैं। 

'जागरूक युवा' ग्रुप का हेल्पलाइन नंबर

ऋषभ सिंह- 8574282224

प्रशांत पांडेय- 8303879077

शशांक मिश्रा- 7524029714

रिशु दुबे- 9565605411

'मदद' ग्रुप का हेल्पलाइन नंबर

राहुल वर्मा- 9695964170

सत्य चरण 'लक्की'- 7525930119

पुनीत पांडेय- 9452246780

प्लाज्मा दान के लिए करेंगे प्रोत्साहित

दोनों ग्रुप के टीम लीडर ने बताया कि वे जिसकी भी मदद कर रहे हैं, उसका पूरा ब्योरा तैयार कर रहे हैैं। उनका मकसद ठीक हो चुके मरीजों को प्लाज्मा दान करने के लिए प्रोत्साहित करना है।

मरीजों की बढ़ती परेशानी देख मदद की बनाई योजना

'मदद' ग्रुप के टीम लीडर राहुल वर्मा ने कहा कि कोरोना संक्रमित मरीजों की बढ़ती परेशानी देखी तो हमने मदद की योजना बनाई। परेशान लोगों तक पहुंचने के लिए इंटरनेट मीडिया का सहारा लिया। अब तक सैकड़ों लोगों की मदद की जा चुकी है। टीम में पुनीत पांडेय, जसप्रीत सिंह, सत्यचरण, अनूप, प्रणव द्विवेदी, आकृति विज्ञा, शैलेष त्रिपाठी, देवयानी, पवन शाही आदि शामिल हैं।

हमारी टीम हर संभव मदद करने को तत्‍पर

'जिम्मेदार युवा' ग्रुप के टीम लीडर आदित्य शुक्ल ने कहा कि  जरूरतमंदों की मदद का हमने बीड़ा उठाया है। हमारी टीम हरसंभव मदद करने को तत्पर है। टीम में ऋषभ सिंह, अनुराग गुप्ता, आशुतोष मिश्रा, शशांक मिश्रा, अंकित त्रिपाठी, प्रशांत पांडेय, रिशु दुबे, आयुष गुप्ता, सौरभ उपाध्याय, आयुष पाण्डेय आदि हैं।

गोरखपुर में कोरोना वायरस से जुडी सभी खबरे

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!