सिद्धार्थनगर में एसओजी ने दो चोरों को वाहन के साथ दबोचा, असलहा भी बरामद

एसओजी एवं पुलिस की टीम ने सदर थाना क्षेत्र के जमुआर नाले के पास से चोरी की कार एवं बुलेट के साथ दो युवकों को गिरफ्तार कर लिया। उनके पास से 303 बोर का कट्टा-कारतूस व चाकू भी बरामद किया है।

Rahul SrivastavaPublish: Sat, 09 Oct 2021 06:10 PM (IST)Updated: Sat, 09 Oct 2021 06:10 PM (IST)
सिद्धार्थनगर में एसओजी ने दो चोरों को वाहन के साथ दबोचा, असलहा भी बरामद

गोरखपुर, जागरण संवाददाता : वाहन चोरी पर अंकुश लगाने के लिए पुलिस लगातार अभियान चला रही है। सुबह एसओजी एवं पुलिस की टीम ने सदर थाना क्षेत्र के जमुआर नाले के पास से चोरी की कार एवं बुलेट के साथ दो युवकों को गिरफ्तार कर लिया। उनके पास से 303 बोर का कट्टा-कारतूस व चाकू भी बरामद किया है। पूछताछ में युवकों ने चोरी का वाहन होना स्वीकार्य कर लिया। यह जानकारी सीओ सदर प्रदीप कुमार यादव ने दी। वह सदर थाने पर पत्रकारों से वार्ता कर रहे थे।

सूचना पर पुलिस ने शुरू कर दी चेकिंग

सीओ सदर ने बताया कि एसओजी प्रभारी जीवन त्रिपाठी को भोर में सूचना मिली कि दो युवक मुंबई से चोरी कार एवं बुलेट लेकर जनपद मुख्यालय की ओर से नेपाल जाने वाले हैं। उन्होंने एसओ सदर को जानकारी देते हुए पुल के पास वाहनों की चेकिंग शुरू कर दी। कुछ देर पश्चात जनपद मुख्यालय की ओर से एक कार एवं बुलेट आते हुए दिखाई दिया। रोककर कागजात की मांगा तो दोनों नहीं दिखा सके। सख्ती से हुई पूछताछ में मुंबई से चोरी की गई कार का होना बताया। वहीं बुलेट के चोरी की होने की बात स्वीकार्य कर ली।

दोनों आरोपित बलरामपुर के रहने वाले

आरोपितों की पहचान शाहबाज अली उर्फ सलमान निवासी नेउरी थाना मिश्रौलिया व सलमान खान निवासी धुसवा थाना उतरौला जनपद बलरामपुर के तौर पर हुई। गिरफ्तारी टीम में एसओ केडी सिंह, उपनिरीक्षक अजय सिंह, उपनिरीक्षक चंदन कुमार, राजीव शुक्ला, रमेश यादव, पंचम यादव, मंजीत सिंह, अवनीश सिंह, मृत्युंजय कुशवाहा, पवन तिवारी शामिल रहे।

दुकान में लगी आग, नुकसान

थाना क्षेत्र के बेलौहा बाजार स्थित प्लास्टिक सामान की दुकान में अज्ञात कारणों से आग लगने से दुकान का सारा सामान जल गया है। घटना सुबह तीन बजे की है। भुसौला गांव निवासी जियाउल्लाह पुत्र वाजिद अली कस्बे में साप्ताहिक बाजार के पास किराए के मकान में अपनी पत्नी शाकिरा और तीन बच्चों के साथ रहते थे। मकान की दीवार पक्की तो ऊपर टीन शेड रखा था। उसी मकान में आगे की तरफ वह प्लास्टिक के सामान बेचते थे। जिस समय आग लगी पूरा परिवार उसी मकान में सो रहा था। आग ने पहले प्लास्टिक के सामान पकड़ा। परिजन जब तक कुछ समझ पाते आग रसोई में रखे सिलेंडर  की तरफ फैल गई। जैसे ही परिजन घर से बाहर निकले सिलेंडर ब्लास्ट हो गया। ब्लास्ट होने से घर की दीवार और टिन शेड सब गिर गया।

 

Edited By Rahul Srivastava

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept