PM Modi visit to Siddharthnagar: नेपाल सीमा पर हाई अलर्ट, चार हजार पुलिस कर्मियों की निगरानी में होगी मोदी की सभा

PM Modi visit to Siddharthnagar खुफिया एजेंसियों के मुताबिक प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को फिदाइन ग्रुप लश्कर-ए-तैयबा जैश-ए-मोहम्मद हरकत-उल-मुजाहिद्दीन हिजबुल मुजाहिद्दीन जैसे आतंकी संगठनों से खतरा है। इसे देखते हुए भारत नेपाल बार्डर पर सुरक्षा एजेंस‍ियों को अलर्ट कर द‍िया गया है।

Pradeep SrivastavaPublish: Sun, 24 Oct 2021 08:02 AM (IST)Updated: Sun, 24 Oct 2021 08:02 AM (IST)
PM Modi visit to Siddharthnagar: नेपाल सीमा पर हाई अलर्ट, चार हजार पुलिस कर्मियों की निगरानी में होगी मोदी की सभा

गोरखपुर, जागरण संवाददाता। स‍िद्धार्थनगर में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के कार्यक्रम को देखते हुए भारत-नेपाल सीमा पर हाईअलर्ट कर दिया गया है। सरहद पार से आने वाले प्रत्येक व्यक्तियों की गहन तलाशी ली जा रही है। आतंकी संगठनों से खतरे की आशंका को देखते हुए सुरक्षा के चुस्त-दुरुस्त इंतजाम किए गए हैं। 10 आइपीएसों की निगरानी में चार हजार से अधिक पुलिस कर्मी कार्यक्रम स्थल पर मौजूद रहेंगे, जो एक-एक गतिविधि पर अपनी पैनी निगाह रखेंगे।

इन संगठनों से पीएम को है खतरा

खुफिया एजेंसियों के मुताबिक प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को फिदाइन ग्रुप, लश्कर-ए-तैयबा, जैश-ए-मोहम्मद, हरकत-उल-मुजाहिद्दीन, हिजबुल मुजाहिद्दीन जैसे आतंकी संगठनों से खतरा है। इसके बावजूद प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की सभा नेपाल सीमा से मात्र 14 किलोमीटर की दूरी पर आयोजित है। ऐसे में सुरक्षा एजेंसियों के लिए प्रधानमंत्री की सुरक्षा बेहद चुनौती भरी है। सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए तमाम सुरक्षा एजेंसियां सादी वर्दी में एक-एक गतिविधि पर नजर रख रही हैं और इसकी रिपोर्ट लखनऊ से लेकर गृह मंत्रालय तक को भेज रही हैं। विभिन्न जिलों के दो हजार से अधिक पुलिस कर्मी सादी वार्दी में कमान संभाले हुए हैं। अपर पुलिस महानिदेशक अखिल कुमार स्वयं सिद्धार्थनगर आकर एक-एक पल की जानकारी ले रहे हैं।

सुरक्षा व्‍यवस्‍था में 10 आईपीएस की टीमें लगाई गईं

कार्यक्रम को ध्यान में रखते हुए उनके नेतृत्व में 10 आईपीएस की टीम लगाई गई है। जो कार्यक्रम स्थल पर मौजूद रह कर सुरक्षा व्यवस्था का सुपरविजन करेंगे। इसके अलावा उनके साथ में 16 एएसपी, 46 सीओ, 55 निरीक्षक, प्रभारी निरीक्षक व थानाध्यक्ष लगाए गए हैं। इनके अलावा चार हजार से अधिक पुलिस, पीएसी, एलआइयू के कर्मचारी लगा गए हैं। जगह-जगह पुलिस कर्मी हैंड हेल्ड मेटल डिटेक्टर, डोर फ्रेम मेटल डिटेक्टर से लैस रहेंगे। सघन चेकिंग के बाद भी लोगों को कार्यक्रम स्थल पर प्रवेश मिल सकेगा। इतना नहीं सिद्धार्थनगर में आकर बाहर से ठहरे हुए लोगों से पुलिस पूछताछ कर रही है। उनके यहां आने का कारण जान रही है। ताकि यदि कोई अवांछनीय तत्व दिखे तो उस पर पहले ही वैधानिक कार्रवाई की जा सके।

सुरक्षा को लेकर चुस्त इंतजाम किए गए हैं। बाहर से बड़े पैमाने पर पुलिस बल सिद्धार्थनगर में पहुंच चुका है। सादी वार्दी में भी अधिकांश पुलिस कर्मियों को तैनात किया गया है। सुरक्षा से जुड़ें बिंदु का ध्यान रखा जा रहा है। पुलिस सुरक्षा को लेकर कोई भी रिस्क नहीं बरतेगी। - अखिल कुमार, अपर पुलिस महानिदेशक गोरखपुर जोन।

Edited By Pradeep Srivastava

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept