सीबीआई से बोल रहा हूं, आपकी निर्वस्त्र तस्वीर मेरे पास है..

साइबर ठगों ने ठगी का तरीका बदल दिया है। ठग अब सीबीआइ के नाम पर ठगी कर रहे हैं। लोगों को फोन कर कह रहे हैं मैं सीबीआइ से बोल रहा हूं आपकी नंगी फोटो मेरे पास है। इसके बाद शुरू होता है ब्लैकमेलिंग का खेल।

Pradeep SrivastavaPublish: Thu, 23 Jun 2022 06:30 AM (IST)Updated: Thu, 23 Jun 2022 03:19 PM (IST)
सीबीआई से बोल रहा हूं, आपकी निर्वस्त्र तस्वीर मेरे पास है..

गोरखपुर, जागरण संवाददाता। हैलो मैं सीबीआइ से बोल रहा हूं- तुम्हारी निर्वस्त्र तस्वीर मेरे पास हैं। तुम कहां अनैतिक कार्याें में संलिप्त थी। लड़की ने उत्तर दिया कि वह फोटो उसकी नहीं हो सकती। काल करने वाले ने लड़की को धमकी देते हुए कहा कि वह अपनी एक निर्वस्त्र फोटो उसे भेजे। फोटो मैच कराने के बाद पता चलेगा कि वह किसकी फोटो है। लड़की ने अपनी फोटो भेजी तो कालर असली फोटो लेकर उसे ब्लैकमेल करने लगा।

ठगी का रोजाना नया-नया फंडा निकाल रहे जालसाज

मामला पखवारे भर पूर्व का है। यह शहर के तारामंडल क्षेत्र में 10वीं में पढ़ने वाला छात्रा से सीबीआइ के नाम पर उसकी निर्वस्त्र तस्वीर प्राप्त करके जालसाज उसे निरंतर ब्लैकमेल कर रहा था। पखवारे भर पूर्व यह मामला साइबर थाने पर पहुंचा। छानबीन के दौरान पता चला कि आरोपित प्रयागराज क्षेत्र का है। साइबर थाने की टीम के मुताबिक आरोपित थोड़ा साइको है। वह पूर्व में भी जालसाजी के आरोप में जेल जा चुका है। आरोपित को चेतावनी देकर साइबर थाने की टीम ने छोड़ा है। अभी यह गोरखपुर जिले में सीबीआइ अधिकारी बनकर यह पहली आनलाइन जालसाजी हुई है।

ईपीएफ का अधिकारी बनकर की 1.09 लाख रुपये

शहर की एक और महिला को जालसाजों ने ईपीएफ अधिकारी बनकर 1.09 लाख रुपये ठग लिया है। खुद को ईपीएफ अधिकारी बताकर जालसाज ने महिला के खाते से 1.09 लाख रुपये नकाल लिया। जालसाज ने युवती से मोबाइल पर भेजी गई ओटीपी प्राप्त कर ली और उसके खाते से 1.09 लाख रुपये की ठगी कर ली। महिला की शिकायत पर साइबर थाने की टीम मामले की छानबीन में जुटी हुई है।

सेना का अधिकारी बनकर ठगे 64 हजार रुपये

मंगलवार को शाहपुर थाना क्षेत्र के झरना टोले के मिठाई विक्रेता से सेना का अधिकारी बनकर जालसाज ने मिठाई विक्रेता अंकित मौर्या से 64 हजार रुपये ठग लिया। अंकित ने मौर्या ने एसपी सिटी को प्रार्थना पत्र देकर बताया कि उसके पास एक नंबर से फोन आया और फोन करने वाले ने खुद को सेना का सूबेदार बताकर उसे मिठाई व समोसे का आर्डर दिया। उसके पास भुगतान के लिए ओटीपी भेजने की बात कही। जैसे उसने ओटीपी उसने बतायी। आरोपित ने उससे 64 हजार रुपये ठग लिया। एसपी सिटी कृष्ण कुमार विश्नोई ने मामले की जांच शाहपुर थाने को सौंप दी है।|

क्या न करें

ऐसी काल को अटेंड न करें।

ट्रू कालर के नंबर पर भरोसा न करें। यदि ट्रू कालर पर यदि किसी का नंबर सीबीआइ अधिकारी अथवा कुछ और लिखकर आता है तो भरोसा करने की जरूरत नहीं है।

यदि कोई कहा रहा है कि उसके पास आपकी निर्वस्त्र फोटो है तो बिलकुल भरोसा नहीं करें।

कालर से डरने की जरूरत नहीं है।

क्या करें

यदि कोई यह कहता है कि उसके पास आपके पास आपकी निर्वस्त्र फोटो है तो तत्काल इसकी सूचना अपने घरवालों व पुलिस को दें।

कालर के नंबर को साइबर सेफ पोर्टल से चेक करें। इस पर चेक करने पता चलेगा कि नंबर किसी फ्राड का है अथवा वास्तविक व्यक्ति का है।

ऐसी घटनाओं पर तत्काल 1930 पर सूचना दें।

साइबर अपराध के प्रति किया जागरूक : साइबर थाने द्वारा गोलघर के एक कोचिंग सेंटर के छात्र-छात्राओं को साइबर अपराध के प्रति जागरूक किया गया। साइटर टीम के विशेषज्ञों द्वारा बताया गया कि वह किसी को अपने बैंक खाते नंबर, एटीएम कार्ड पासवर्ड व ओटीपी या वित्तीय लेनदेन की जानकारी न दें। अपने इंटरनेट मीडिया अकाउंट जैसे जीमेल, ईमेल, फेसबुक व्हाट्सएप, इंस्टाग्राम, टि्वटर पर टू स्टेप वेरीफिकेशन आन रखें। छात्र-छात्राओं को जागरूक करने वाली टीम में उप निरीक्षक दिव्येंदु तिवारी, महिला हेड कांस्टेबल जयारंजन यादव, कांस्टेबल राजीव यादव, प्रमोद यादव आदि मौजूद रहे।

Edited By Pradeep Srivastava

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept