गोरखपुर में जाम को लेकर सख्‍त हुए डीएम तो तैयार हुआ जाम से न‍िपटने का मास्‍टर प्‍लान

डीएम व‍िजय क‍िरण आनंद के निरीक्षण में पाया गया कि विश्वविद्यालय चौराहा से महाराणा प्रताप इंटर कालेज के बीच बसों के खड़ा होने से जाम की स्थिति बनी रहती है। अतिक्रमण हटाने के लिए पुलिस अधीक्षक यातायात को पत्र लिखा गया है।

Pradeep SrivastavaPublish: Wed, 19 Jan 2022 07:25 AM (IST)Updated: Wed, 19 Jan 2022 06:39 PM (IST)
गोरखपुर में जाम को लेकर सख्‍त हुए डीएम तो तैयार हुआ जाम से न‍िपटने का मास्‍टर प्‍लान

गोरखपुर, जागरण संवाददाता। गोरखपुर शहर की सड़कों से अतिक्रमण हटाने के लिए जिम्मेदारी तय की गई है। गड्ढामुक्त सड़क अभियान की समीक्षा करने निरीक्षण को निकले जिलाधिकारी विजय किरन आनंद ने सड़कों से अतिक्रमण हटाने को भी कहा है। अलग-अलग विभागों को इसकी जिम्मेदारी दी गई है। विश्वविद्यालय चौराहा से पीडब्ल्यूडी होते हुए महाराणा प्रताप इंटर कालेज तक जाने वाली सड़क पर अनधिकृत रूप से खड़ी रहने वाली बसों को गंभीरता से लिया गया है। पुलिस अधीक्षक यातायात को इन बसों को हटवाने का निर्देश दिया गया है। निरीक्षण के दौरान अधिकतर सड़कें गड़ढामुक्त मिलीं।

जिलाधिकारी ने सड़कों की समीक्षा के दौरान कमियां सुधारने को तय की जिम्मेदारी

जिलाधिकारी के निरीक्षण में पाया गया कि विश्वविद्यालय चौराहा से महाराणा प्रताप इंटर कालेज के बीच बसों के खड़ा होने से जाम की स्थिति बनी रहती है। अतिक्रमण हटाने के लिए पुलिस अधीक्षक यातायात को पत्र लिखा गया है। गोलघर से गुजरने वाले करीब 3.70 किलोमीटर लंबे लखनऊ-गोरखपुर मार्ग कालीमंदिर तिराहे का विस्तारीकरण किया जा रहा है। यहां से ट्रैफिक सिग्नल एवं रोटरी (गोलंबर) हटाना जरूरी है। पुलिस अधीक्षक यातायात को ट्रैफिक सिग्नल हटाने का निर्देश दिया गया है। रोटरी को शिफ्ट करने के लिए नगर आयुक्त पीडब्ल्यूडी के अधिशासी अभियंता निर्माण खंड भवन को अनापत्ति प्रमाण पत्र देंगे। करीब 8.71 किलोमीटर लंबे एयरपोर्ट से सर्किट हाउस मार्ग पर गड्ढे नहीं पाए गए।

ट्रांसफार्मर एवं विद्युत पोल शिफ्ट करने का न‍िर्देश

मोहद्दीपुर से गुरुंग तिराहे तक निर्बाध यातायात के लिए जरूरत के अनुसार अवांछित कट को बंद करने का निर्देश दिया गया। मोहद्दीपुर चौराहे का विस्तारीकरण किया जा रहा है लेकिन अभी तक ट्रांसफार्मर एवं विद्युत पोल शिफ्ट नहीं किए गए हैं। जिलाधिकारी ने तत्काल पोल एवं ट्रांसफार्मर शिफ्ट करने को कहा। चौराहे के विस्तारीकरण में बाधक एलईडी स्क्रीन भी हटाई जाएगी। कुसम्ही-मोतीराम अड्डा मार्ग पर फुटपाथ की ऊंचाई अधिक पाई गई, उसे जल्द से जल्द ठीक कराने को कहा गया।

एयरपोर्ट से जगदीशपुर मार्ग पर आबादी वाले हिस्से में पानी लगने से सड़क टूट जाती है। वहां डामर की जगह दो दिनों में इंटरलाकिंग या सीसी रोड बनाने का निर्देश दिया गया। सोनबरसा से पिपराइच मार्ग पर दो स्थानों पर ऊंची पटरी के कारण जल जमाव की समस्या दिखी। वहां पटरी को काटकर जलनिकासी की व्यवस्था करने को कहा गया।

इन मार्गों का भी हुआ निरीक्षण

जिलाधिकारी ने सोनौली-नौतनवां-गोरखपुर-देवरिया-बलिया मार्ग, हरखापुर से सिधावल मार्ग, गोरखपुर-पिपराइच मार्ग, पिपराइच से बरगदही मार्ग, गोरखपुर-महराजगंज मार्ग, भटहट माघी बांसस्थान मार्ग एवं गुलरिहा रामनगर मार्ग का निरीक्षण किया गया।

शहर क्षेत्र की कई सड़कों का निरीक्षण किया गया। सुगम यातायात के लिए अतिक्रमण हटाने एवं चौराहों के विस्तारीकरण कार्य में आ रही बाधाओं को दूर करने का निर्देश दिया गया है। अधिकतर सड़कें गड़ढामुक्त पायी गई हैं। - विजय किरन आनंद, जिलाधिकारी।

Edited By Pradeep Srivastava

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept