अवकाश तालिका का बीएसए ने किया विमोचन

अटेवा पेंशन बचाओ मंच की अवकाश तालिका का जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी देवेंद्र कुमार पांडेय ने गुरुवार को विमोचन किया। बीएसए ने पुरानी पेंशन बहाली हेतु संघर्ष की सराहना की।

JagranPublish: Thu, 27 Jan 2022 10:47 PM (IST)Updated: Thu, 27 Jan 2022 10:47 PM (IST)
अवकाश तालिका का बीएसए ने किया विमोचन

सिद्धार्थनगर: अटेवा पेंशन बचाओ मंच की अवकाश तालिका का जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी देवेंद्र कुमार पांडेय ने गुरुवार को विमोचन किया। बीएसए ने पुरानी पेंशन बहाली हेतु संघर्ष की सराहना की। कैलेंडर के विमोचन के उपरांत अटेवा जिला अध्यक्ष बृजेश कुमार द्विवेदी व जिला महामंत्री सुरेन्द्र कुमार गुप्ता के नेतृत्व में कैलेंडर का वितरण बीएसए, डीआईओएस कार्यालय व विकास भवन के विभिन्न कार्यालयों में वितरण किया।

अटेवा के प्रदेश संयुक्त मंत्री जनार्दन शुक्ला ने कहा कि बुढ़ापे का लाठी पुरानी पेंशन के लिए हम सभी अनवरत संघर्ष कर रहे हैं। पुरानी पेंशन बहाली के लिए राजनैतिक पार्टी ने घोषणा पत्र में जगह दिया हैं। यह हमारे संघर्ष की देन है। मंडल अध्यक्ष बलवन्त चौधरी ने कहा हमारे संगठित होने पर ही हमारी मांगे मानी जाएगी। अन्यथा बुढ़ापे की लाठी को छीन ली जाएगा। जिला कोषाध्यक्ष श्रीकृष्ण चौधरी, प्रमोद त्रिपाठी, प्रभारी गौरव शुक्ला, संघशील, विनोद कुमार चौधरी, वीरेन्द्र कुमार, पशुपति नाथ दूबे व विक्रांत त्रिपाठी आदि उपस्थित रहे। रोडवेज बस सेवा बंद होने से यात्री परेशान सिद्धार्थनगर : ग्रामीण क्षेत्र की लाइफलाइन समझी जाने वाली रोडवेज बस का संचालन लाकडाउन के दौरान से ही बंद है। अनलाक होने के बाद जहां अन्य रूट पर परिवहन निगम की बसे फर्राटा भर रही हैं वहीं सिगारजोत- धोबहा होते हुए सिद्धार्थनगर मार्ग पर चलने वाली इकलौती बस सेवा का संचालन अभी तक नहीं शुरू हो सका है।

जिले के आखिरी छोर पर बसे सिगारजोत से जिला मुख्यालय तक जाने के लिए लंबे वक्त से रोडवेज बस सेवा का संचालन होता था। इस बस सेवा से सुबह के समय लोग न सिर्फ जिला मुख्यालय तक पहुंच जाते थे, बल्कि शाम तक वापस भी लौट आते थे। ग्रामीण सेवा होने के चलते किराया भी कम लगता था। लाकडाउन के समय इस महत्वपूर्ण सेवा पर लगा ब्रेक अभी तक बरकरार है। सिद्धार्थनगर जाने में स्थानीय लोगों को काफी परेशानियां झेलनी पड़ती हैं। किराया तो अधिक लगता ही है जगह- जगह वाहन बदलने के कारण समय भी अधिक लगता है। रामफेर चौधरी, जिब्रील, दयाराम, रफीक, कन्हैया, विजय मौर्या, राममूरत यादव, घनश्याम साहनी आदि ने सेवा शुरू कराने के लिए आवाज भी उठाई, लेकिन उनकी बात अबतक अनसुनी है। एआरएम रोडवेज जगदीश ने कहा अभी उक्त मार्ग पर यात्री कम निकल रहे हैं। शीघ्र बस सेवा संचालित कर दी जाएगी।

Edited By Jagran

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept